जयपुर VIDEO: जयपुर में बनेगा देश का सबसे ऊंचा मेडिकल टॉवर, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया शिलान्यास 

VIDEO: जयपुर में बनेगा देश का सबसे ऊंचा मेडिकल टॉवर, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया शिलान्यास 

जयपुर (अभिषेक श्रीवास्तव): देश के चिकित्सा जगत में आज एक नया अध्याय जुड़ गया. राजधानी के सवाई मानसिंह अस्पताल परिसर में देश के सबसे ऊंचे मेडिकल टावर का मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शिलान्यास किया. देश भर में अपनी तरह के इस पहले आईपीडी टावर के साथ ही ह्रदय रोग संस्थान का भी शिलान्यास किया गया. इस मौके पर आयोजित भव्य समारोह की गवाह चिकित्सा क्षेत्र की दिग्गज हस्तियां रहीं. प्रदेश की सबसे ऊंची इमारत और देश के सबसे ऊंचे मेडिकल टावर का मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पहले निर्माण स्थल पर वैदिक मंत्रोच्चार के साथ शिलान्यास किया. 

इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल,चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीना,जलदाय मंत्री महेश जोशी,विधायक अमीन कागजी और रफीक खान मौजूद थे. यहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत  सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के खेल मैदान में आयोजित शिलान्यास समारोह में पहुंचे. इस समारोह में देश के चिकित्सा क्षेत्र की जानी-मानी हस्तियों में से शामिल एम्स दिल्ली के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया,नारायण हैल्थ के चैयरमेन डॉक्टर देवी प्रसाद शेट्टी, मेंदाता मेडिसिटी के सीएमडी डॉक्टर नरेश त्रेहान, इंस्टीट्यूट ऑफ लीवर बिलयरी साइंसेज के कुलपति डॉक्टर एसके सरीन और नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल मौजूद रहे.

इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संबोधन में अपनी सरकार की उपलब्धियां बताई. उन्होंने कहा कि निरोगी राजस्थान की संकल्पना काे साकार करने के लिए सरकार ने चिरंजीवी योजना में सबको फ्री इलाज की सुविधा दी. सरकारी अस्पतालों में जांचें फ्री कर दी. नि:शुल्क दवा योजना तो पहले से ही चल रही है. उन्होंने कहा आईपीडी टावर प्रोजेक्ट की शुरूआत का मैसेज पूरे देश में जाएगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोनाकाल में हमने कोशिश की कि कोई भूखा नहीं सोए. उस दौरान चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए सरकार ने अपना खजाना खोल दिया. उस दौरान हमने 500 वीसी की. प्रधानमंत्री ने भी राजस्थान के कोरोना प्रबंधन की तारीफ की. प्रदेश में चिकित्सा सुविधाएं अच्छी हैं इसलिए राजस्थान के बाहर के लोग भी यहां इलाज कराने आते हैं.

चिरंजीवी योजना पर बोलते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि इस योजना को प्रधानमंत्री को पूरे देश में लागू करनी चाहिए. दुनिया में कई जगह सामाजिक सुरक्षा की व्यवस्था लागू है. देश में इसे लागू करना चाहिए. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राइट टू हैल्थ का बिल विधानसभा में लाएंगे. प्रदेश में पुरानी पेंशन योजना लागू करने के बारे में बोलते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कर्मचारी पैंतीस से चालीस साल तक सेवा करता है. ऐसे में जरूरी है पुरानी पेंशन योजना के तहत उसे हर महीने पर्याप्त पेंशन मिले. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि चिकित्सा जगत ही हस्तियों ने जो भी सुझाव दिए हैं. उन्हें प्रदेश में लागू किया जाएगा. हमने हर जिले में नर्सिंग कॉलेज खोलने की घोषणा की है. सवाई मानसिंह अस्पताल चिकित्सा सुविधा के स्तर के मामले में एम्स के बराबर आ गया है.

इस मौके पर नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने कहा केन्द्र सरकार की आलोचना करते हुए केन्द्र की आयुष्मान योजना वर्ग विशेष के लिए हैं जबकि राजस्थान सरकार की चिरंजीवी योजना सभी वर्गों के लिए है. आईपीडी टावर के बारे में बोलते हुए कहा  सरकारी क्षेत्र में इस स्तर की सुविधाएं देने वाला यह पहला अस्पताल होगा. यह प्रोजेक्ट नगरीय विकास के लिहाज से भी नए युग की शुरूआत करेगा. इस टावर ने शहर की नई स्काई लाइन तय कर दी है. इससे भविष्य में ऐसी बहुमंजिला इमारतें बन सकेंगी.

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि करीब छह सौ करोड़ रुपए के लागत के इस प्रोजेक्ट के लिए आवासन मंडल ने भी बड़ा आर्थिक योगदान दिया है. इस दौरान मंत्री शांति धारीवाल ने आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा की तारीफ करते हुए कहा कि मंडल ने अपने कुशल वित्तीय प्रबंधन से छह हजार करोड़ रुपए का राजस्व जुटाया है. सरकार सोच रही है कि आवासन मंडल का और किन कामों में सहयोग लिया जा सकता है.समारोह में चिकित्सा मंत्री परसादीलाल मीना ने कहा कि आईपीडी टावर देश में अपने तरह का अलग प्रोजेक्ट है. इससे निरोगी राजस्थान की सोच साकार हो रही है.

मुख्य सचिव उषा शर्मा ने राज्य सरकार के कोविड मैनेजमेंट को बताया पूरे देश के लिए नजीर उन्होंने कहा कि कोविड के समय दिल्ली में बैड नहीं मिल पाए तो उन्होंने अपने पिता को इलाज के लिए जयपुर भिजवाया. मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि राजस्थान में मेडिकल जगत में कई नवाचार हुए हैं. कई जिलों में मेडिकल कॉलेज की शुरूआत की गई है. दिल्ली एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा किसी भी देश के सुपर पावर बनने के लिए जरूरी है कि वह चिकित्सा और शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी है. इस लिहाज से राजस्थान सरकार बधाई की पात्र है, जो आधुनिक सुविधाओं वाला आईपीडी टावर बनाने जा रही है. लेकिन इसे और आगे ले जाने की जरूरत है. सभी लोगों को नि:शुल्क चिकित्सा उपलब्ध कराना अच्छी योजना है

नारायण हैल्थ के चैयरमेन डॉक्टर देवी प्रसाद शेट्टी ने सुझाव दिया कि सभी सौ बेड के अस्पतालों में नर्सिंग कॉलेज शुरू किए जाने चाहिए. कौनसे मरीज की देखभाल कैसे होनी है, यह ध्यान नर्सिंग स्टाफ रखता है. इंस्टीट्यूट ऑफ लीवर बिलयरी साइंसेज के कुलपति डॉक्टर शिव कुमार सरीन ने कहा कि इस आईपीडी टावर प्रोजेक्ट की शुरूआत के साथ ही सवाई मानसिंह अस्पताल की सैकंड इनिंग शुरू हो गई है. सरकार के पैसा हो और पैसा सही जगह काम आए इससे अच्छी क्या बात हो सकती है. मेंदाता मेडिसिटी के सीएमडी डॉक्टर नरेश त्रेहान ने अपने संबोधन की शुरूआत राजस्थानी अंदाज में की. उन्होंने खम्मा घणी कहकर वहां मौजूद लोगों का अभिवादन किया. उन्होंने आईपीडी टावर के प्रोजेक्ट की शुरूआत को एक नए युग की शुरूआत बताया. नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने समारोह में कहा कि इस यह आईपीडी टावर केवल अस्पताल ही नहीं बने बल्कि यह यह शिक्षा और अनुसंधान के बड़े इंस्टीट्यूट के तौर पर विकसित किया जाना चाहिए.

और पढ़ें