जेनेवा Covid 19:  भारत में हालात दिल दहलाने वाले; संक्रमण की भयानक लहर के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है हिन्दुस्तान- WHO 

Covid 19:  भारत में हालात दिल दहलाने वाले; संक्रमण की भयानक लहर के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है हिन्दुस्तान- WHO 

Covid 19:  भारत में हालात दिल दहलाने वाले; संक्रमण की भयानक लहर के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है हिन्दुस्तान- WHO 

जेनेवा: विश्वव्यापी कोरोना महामारी से वैसे तो सभी देश त्रस्त है. किन्तु भारत में भी संक्रमण बहुत ज्यादा ही फ़ैल रहा है और इस संक्रमण की वजह से मौत भी हो रही है. ऐसे में WHO यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत के हालातों पर चिंता जताई है.  

इस समय हालत दिल दहला देने वाले: 
संगठन के प्रमुख डॉ. टेड्रोस गेब्रेयेसस (Dr.Tedros Gebreyes, the Head of the Organization) ने कहा कि भारत में इस समय हालात दिल दहलाने (Tremble) वाले हैं. बीते कुछ दिनों में वहां कोरोना के मरीज तेजी से बढ़े हैं. मरीजों के परिजन अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की व्यवस्था के लिए सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं. हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राजधानी दिल्ली में एक हफ्ते का लॉकडाउन लगाना पड़ा. टेड्रोस ने कहा कि भारत कोविड-19 की भयानक लहर (Terrible Wave) के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है. अस्पताल मरीजों से भर गए हैं. श्मशान घाट पर लाशों की कतार लगी है. ये स्थिति हृदयविदारक (Cardiovascular) है.

WHO हर तरह से मदद करने की कोशिश कर रहा है:
उन्होंने कहा कि भारत में पोलियो और TB (Tuberculosis) के खिलाफ काम कर रहे 2600 एक्सपर्ट्स को कोरोना के खिलाफ काम पर लगा दिया गया है. WHO हर तरह से मदद करने की कोशिश कर रहा है. UN (United Nation) की हेल्थ एजेंसी भारत को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और अस्पतालों के लिए जरूरी समान की सप्लाई कर रही है.

दुनियाभर में 14 करोड़ 84 लाख कोरोना मरीज:
दुनिया में अब तक करीब 14 करोड़ 84 लाख कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं. इनमें से 31 लाख 33 हजार लोगों की मौत हो चुकी है. विश्व के अमीर देश अपने यहां वैक्सीनेशन प्रोग्राम (Vaccination Program) को तेज करके महामारी से बचने की कोशिश कर रहे हैं.

कोविड-19 की वजह से मुश्किल दौर में भारत ने की थी अमेरिका की मदद: 
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) के बीच सोमवार को फोन पर बातचीत हुई. बाइडेन ने मोदी से कहा- जब अमेरिका कोविड-19 की वजह से मुश्किल दौर से गुजर रहा था, तब भारत ने उसकी भरपूर मदद की थी. अब अमेरिका की बारी है. बातचीत के बाद PM मोदी ने बताया कि उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति को मदद के लिए धन्यवाद दिय. इससे कुछ देर पहले जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदो सुगा (Prime Minister Yoshihido Suga) ने भी मोदी से फोन पर चर्चा की.

 

 

US सप्लाई करेगा रॉ मटेरियल:
बाइडेन से चर्चा के बाद मोदी ने सोशल मीडिया पर कहा- हमने वैक्सीन के रॉ मटेरियल और दवाओं (RAW MATERIALS AND DRUGS) की सप्लाई चेन को कारगर बनाने पर चर्चा की. भारत और अमेरिका की हेल्थकेयर पार्टनरशिप (Healthcare Partnership) दुनिया में कोविड-19 से पैदा हुई चुनौतियों का मुकाबला कर सकती हैं. हमने दोनों देशों में महामारी से बने हालात पर विस्तार से बात की.

सऊदी से 80 टन ऑक्सीजन भारत के लिए रवाना:
रविवार को सऊदी अरब के दमाम बंदरगाह (Damam Port) से 4 क्रायोजेनिक टैंक (Cryogenic Tank) में 80 टन ऑक्सीजन भारत के लिए रवाना हुआ है. यह जल्द मुंद्रा बंदरगाह (Mundra Port) पंहुचेगा. यह अडाणी (Adani) समूह की अगुवाई में लाया जा रहा है.

और पढ़ें