Live News »

तेज गति से भाग रहे गौ तस्करों की गाड़ी पलटी, 10 गोवंश में से 2 गायों की हुई मौत

तेज गति से भाग रहे गौ तस्करों की गाड़ी पलटी, 10 गोवंश में से 2 गायों की हुई मौत

कामां(भरतपुर): कामां में गौ तस्करी का कारोबार विगत लम्बे समय से चल रहा है जिसको रोकने व गौ तस्करों पर कार्यवाही करने के लिए पुलिस दिन रात मुस्तैद है. फिर भी गौ तस्करी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है. आज भी मेवात के कामां थाना क्षेत्र में देर रात करीब 3 बजे एक टाटा 407 में डीग की तरफ से हरियाणा की तरफ 10 गोवंश को गौ तस्करी कर ले जा रहे थे लेकिन रात को पुलिस ने नाकाबंदी करा रखी थी. तभी पुलिस को देख गौ तस्करों ने गाड़ी को तेज गति से भगाया और गाड़ी अनियंत्रित होकर दीवार को छोड़ते हुए खेतों में कई पलटा खाते हुए जा गिरी. जिसमे 2 गौवंश की मौत हो गयी और गौ तस्कर गाड़ी को छोड़ फरार हो गए. 

बाद में सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मृत गोवंश को जेसीवी मशीन से गड्ढा खुदवाकर विधि विधान से वहीं दफनाया गया व जिन्दा गोवंश को पास की गौ शाला में दाखिल करा दिया गया. इसके अलावा पुलिस ने फरार गौ तस्करों की गिरफ्तार के लिए सभी जगह नाकाबंदी कर तलाशी की जा रही है. वहीं पुलिस का अनुमान है कि जिस तरीके से गाड़ी पलटी है उसे हिसाब से कुछ गौ तस्कर गंभीर रूप से घायल हो गए होंगे जिन्हें निजी व सरकारी अस्पतालों में भी तलाश किया जा रहा है.  

मेवात क्षेत्र में बढ़ती जा रही गौ तस्करी की घटनाएं
गौरतलब है की जिले के मेवात क्षेत्र में गौ तस्करी की घटनाएं बढ़ती जा रही है और राजस्थान सरकार की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 2015 में गौ तस्करी की रोकथाम के लिए यहां 6 गौरक्षक पुलिस चौकियों की स्थापना की थी लेकिन फिर भी पुलिस गौ तस्करी पर अंकुश लगाने में विफल साबित हो रही हैं. कामां मेवात क्षेत्र से हरियाणा जिले के मेवात क्षेत्र की सीमा लगती है जहां गौ तस्कर कच्चे रास्तों से होकर हरियाणा में गौ तस्करी कर ले जाते हैं. 

....देवेंद्र भट्टाचार्य फर्स्ट इंडिया न्यूज कामां भरतपुर

और पढ़ें

Most Related Stories

लूडो गेम खेलने को लेकर दो पक्षों में विवाद, एक पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष के युवक की कर दी जमकर धुनाई

लूडो गेम खेलने को लेकर दो पक्षों में विवाद, एक पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष के युवक की कर दी जमकर धुनाई

कामां(भरतपुर): एक तरफ जहां इस समय विश्वभर में कोरोना वायरस को लेकर लोगों में दहशत फैली हुई हो तो वहीं दूसरी ओर कामां थाना क्षेत्र के गांव लाड़लाका में लूडो गेम खेलने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया. खेल खेल में विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों के लोग एकजुट होकर आमने-सामने आ गए. 

विधानसभा में हुई उत्पादी बंदरों को लेकर रोचक चर्चा, जताई चिंता 

अजहरुद्दीन नामक युवक गंभीर रूप से घायल:
उसके बाद एक पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष के युवक की जमकर धुनाई कर दी. विवाद के दौरान अजहरुद्दीन नामक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. घायल व्यक्ति को राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं इस तरह की घटनाएं सामने आना बेहद हास्यास्पद है जहां एक तरफ लोग कोरोना वायरस, दुर्घटनाओं और हिंसा का शिकार हो रहे हैं तो वहीं खेल खेल में एक दूसरे की जान लेने को उतारू हो रहे हैं. 

कोरोना वायरस की वजह से पीएम मोदी का फैसला, होली मिलन कार्यक्रम में नहीं होंगे शामिल 

अवैध रूप से संचालित झोलाछाप चिकित्सकों कार्रवाई, कई दुकानों को किया सील

अवैध रूप से संचालित झोलाछाप चिकित्सकों कार्रवाई, कई दुकानों को किया सील

कामां(भरतपुर): कामां कस्बे में अवैध रूप से संचालित झोलाछाप चिकित्सकों के क्लीनिक पर ब्लॉक स्तरीय टीम द्वारा कार्रवाई करते हुए कई दुकानों को सील किया गया. कार्रवाई की जानकारी मिलने पर झोलाछाप चिकित्सकों में हड़कंप मच गया और अपनी-अपनी दुकानों को बंद कर भूमिगत हो गए. 

दस्तावेज उपलब्ध कराने के बाद नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी: 
ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केड़ी शर्मा ने बताया कि भरतपुर जिला कलक्टर नथमल डिडेल एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कप्तान सिंह के निर्देश पर कामां कस्बा में संचालित झोलाछाप चिकित्सक जो नियम विरुद्ध तरीके से क्लीनिक खोलकर कार्य कर रहे हैं उनके विरुद्ध बुधवार को विशेष अभियान चलाया गया जिसमें कामां कस्बा की ब्लॉक स्तरीय टीम गठित कर कस्बा के कोसी चौराहे सहित कस्बा में प्रमुख स्थानों पर कई झोलाछाप चिकित्सकों के क्लीनिक को सीज करने की कार्रवाई की गई है. वहीं संचालित क्लीनिक से दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है. दस्तावेज उपलब्ध कराने के बाद नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी. वही कामां कस्बे में चिकित्सा विभाग द्वारा की गई कार्रवाई के बाद झोलाछाप चिकित्सकों में हड़कंप मच गया और अपनी-अपनी दुकानों को बंद कर झोलाछाप चिकित्सक भूमिगत हो गए. 


 

थाने में चला फैमिली ड्रामा, पति ने पैर पकड़कर मांगी पत्नी से माफी

थाने में चला फैमिली ड्रामा, पति ने पैर पकड़कर मांगी पत्नी से माफी

कामां(भरतपुर): कामां थाने पर आज एक फैमिली ड्रामा देखने को मिला. जहां पत्नी ने पहले तो पति पर मारपीट का आरोप लगाते हुए शिकायत की जिस पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए गांव पहुंचकर पति को हिरासत में लेकर थाने ले आई. थाने पर मौजूद पत्नी के आगे पति ने हाथ जोड़कर और पैर पकड़ कर माफी मांगी तो पत्नी पुलिस से कार्रवाई नहीं करने की मांग करने लग गई. थाने में पति-पत्नी के ड्रामे को देखकर पुलिसकर्मी भी आश्चर्यचकित रह गए कि आखिर इतनी पिटाई लगने के बाद भी पत्नी ने तुरंत ही पति को माफ कर दिया और पुलिस ने भी पति-पत्नी के बीच हुए समझौते को देखकर तुरंत पति को शांति भंग के आरोप में पाबंद करते हुए एसडीएम के समक्ष पेश कर दिया. जहां एसडीएम ने भविष्य में मारपीट नहीं करने की चेतावनी देते हुए पति को रिहा कर दिया. 

धर्मवीर की रेशमा से करीब 2 वर्ष पहले ही हुई थी शादी: 
यह है मामला.. कामां थाना क्षेत्र के अकाता गांव का. अकाता गांव निवासी धर्मवीर की शादी करीब 2 वर्ष पहले कामां के गांव सहेडा निवासी रेशमा के साथ हुई थी जिसके बाद दोनों बड़े ही प्रेम पूर्वक अपना जीवन यापन कर रहे थे जिनके एक बच्चा भी था लेकिन कुछ दिनों से पति धर्मवीर शराब पीकर पत्नी के साथ मारपीट करता था जिससे परेशान होकर पीड़ित पत्नी ने अपने परिवारजनों के साथ कामां थाने पहुंचकर पति की शिकायत कर डाली जिस पर थाने पर तैनात सब इंस्पेक्टर रवि कटारा ने मामले की गंभीरता समझते हुए तुरंत प्रभाव से गांव पहुंचकर पति को हिरासत में लेकर थाने ले आए लेकिन थाने पर मौजूद पत्नी को देखकर पति ने पैर पकड़कर और हाथ जोड़कर माफी मांग ली और दोबारा से मारपीट नहीं करने का आश्वासन दे दिया. जिसके बाद पत्नी ने पुलिस से कोई कार्रवाई नहीं करने का आग्रह किया.

पति-पत्नी के हुए थाने में ड्रामे को देखकर सभी आश्चर्यचकित रह गए: 
पति-पत्नी के हुए थाने में ड्रामा को देखकर सभी पुलिसकर्मी आश्चर्यचकित रह गए और पुलिस ने भी दोनों पति-पत्नी के बीच मधुर संबंधों को देखते हुए तुरंत प्रभाव से पति को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर एसडीएम के समक्ष पेश कर दिया. जहां एसडीएम ने पति को भविष्य में मारपीट नहीं करने की चेतावनी देकर पाबंद करते हुए रिहा कर दिया. जिसके बाद दोनों पति-पत्नी अपने घर चले गए. परंतु पति-पत्नी के बीच हुए थाने में ड्रामे को देखकर सभी आश्चर्यचकित रह गए और पत्नी रेशमा की सभी लोग प्रशंसा करते हुए नजर आए. 

कामां के एक खेत में पैदा हो रही 2 फुट लंबी गाजर, खरीददारों की लग रही भीड़

कामां के एक खेत में पैदा हो रही 2 फुट लंबी गाजर, खरीददारों की लग रही भीड़

कामां(भरतपुर): कामां के इंदौली गांव में एक किसान ने पहली बार अपने खेत में गाजर की खेती की और उस किसान की मेहनत ऐसी रंग लाई की उसकी खेत में पैदा होने वाली गाजर को खरीदने आसपास के इलाकों से लोग आ रहे हैं. किसान के खेत में पैदा हुई गाजर मंडी में बिकने के लिए जाती हैं, वैसे ही खरीददारों की भीड़ लग जाती है क्योंकि इस गाजर की लंबाई करीब 2 फीट तक है.

गाजर की डिमांड मंडियों में काफी बढ़ने लगी: 
बता दें कि कामां इलाके में एक किसान कई सालों से आर्थिक तंगी से जूझ रहा था और काफी मेहनत के बाद भी उसकी मेहनत रंग नहीं ला रही थी. किसान को प्रत्येक सीजन में ज्यादा पैदावार नहीं होने के कारण उसे नुकसान झेलना पड़ता था. लेकिन, इस बार किसान की मेहनत ऐसी रंग लाई की उसके खेत में पैदा होने वाली गाजर की डिमांड मंडियों में काफी बढ़ने लगी. इंदौली गांव में उगी 2 फीट लंबी गाजर दरअसल, कामां इलाके के इन्दौली गांव के एक किसान उदय राम सैनी ने अपने एक बीघा खेत में गाजर की फसल बोई थी. लेकिन उसे हर बार की तरह उम्मीद थी कि पहले की तरह उसकी फसल उसे ज्यादा मुनाफा नहीं देकर जाएगी. फसल को काटने का समय जब आया तो हर कोई दंग रह गया, क्योंकि उदयराम सैनी के खेत में बोई हुई गाजर एक फुट से दो फुट तक लंबाई की थी जिसका खाने में स्वाद भी अच्छा है. कांमा के आसपास के इलाके में इतनी लंबी गाजर कभी नहीं हुई. वहीं, किसान उदय राम सैनी की गाजर जब मंडी में बिकने के लिए जाती है को खरीददारों की लाईन लग जाती है. इस फसल से उदय सिंह को अब तक 1 लाख रुपए का मुनाफा हो चुका है. 

गाजर की फसल से अब तक 1 लाख रुपए का मुनाफा:
किसान उदय राम सैनी का कहना है कि वह जब भी फसल बोता था तो कभी फसल होती थी, कभी नहीं होती थी. उन्होंने बताया कि वह पहली बार गाजर की खेती किया है और फसल इतनी अच्छी हुई है. उदय ने बताया कि जब भी यह गाजर कामां की मंडी में बिकने के लिए जाती है तो रिक्शे में से उतरने से पहले ही खरीददार कांटे लगाकर खड़े हो जाते हैं. उन्होंने बताया कि गाजर की फसल से अब तक उन्हें 1 लाख रुपए का मुनाफा हो चुका है और अभी भी फसल की कटाई जारी है. वही लंबाई में निकल रही गाजर को देखने के लिए क्षेत्र के लोग भी उसके खेत पर और मंडी में पहुंच रहे हैं. लोगों का कहना है कि जिस तरीके से गाजर की लंबाई है लंबाई के हिसाब से गाजरों में भी स्वाद अच्छा है ज्यादातर लोग तो खेत से ही गाजर खरीद कर ला रहे हैं. 

...देवेंद्र भट्टाचार्य संवाददाता कामां भरतपुर

चुनावी रंजिश के चलते पथराव-फायरिंग के बाद गांव में भारी पुलिस बल तैनात, 36 लोगों को किया गिरफ्तार

चुनावी रंजिश के चलते पथराव-फायरिंग के बाद गांव में भारी पुलिस बल तैनात, 36 लोगों को किया गिरफ्तार

कामां(भरतपुर): कामां क्षेत्र के गांव सोलपुर में चुनावी रंजिश को लेकर फायरिंग और पथराव की घटना के बाद करीब 1 दर्जन के करीब महिला पुरुष घायल हो गए जिन्हें भरतपुर अलवर सीकरी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं सुरक्षा की दृष्टि की बात की जाए तो गांव में भारी तादाद में पुलिस बल तैनात किया गया है. साथ ही पुलिस ने 36 लोगों को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. दोनों पक्षों की ओर से थाने में मामला दर्ज कराया गया है.

चुनावी रंजिश के चलते हुआ विवाद:
बता दें कि कैथवाडा में सरपंच चुनाव को लेकर इसाक और नौमान पक्ष के बीच तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई जिसे लेकर कई दिनों से पथराव और फायरिंग की घटनाएं हो रही हैं लेकिन रविवार को लोगों के द्वारा गांव सोलपुर में चुनावी रंजिश के चलते ट्रैक्टर, गाड़ियों सहित मकानों में आग लगा दी गई. 

करीब 1 दर्जन महिला-पुरुष घायल:  
साथ ही छतों पर चढ़कर जमकर पथराव किया गया जिसमें करीब 1 दर्जन महिला-पुरुष घायल हो गए जहां घंटों तक चले पथराव के बाद कैथवाडा थाना पुलिस सहित कामां पहाड़ी जुरहरा गोपालगढ़ सीकरी नगर डीग खोह थानों की पुलिस के साथ साथ नगर और डीग के डीएसपी सहित अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बुगलाल मीणा ने मौके पर पहुंचकर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की. साथ ही पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 36 लोगों को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. वहीं दोनों पक्षों की ओर से मामला दर्ज कर लिया गया है गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात हैं.

...देवेंद्र भट्टाचार्य संवाददाता कामां, भरतपुर

महिलाओं से हंसी मजाक करने पर दो पक्षों में जमकर हुई लाठी भाटा जंग

महिलाओं से हंसी मजाक करने पर दो पक्षों में जमकर हुई लाठी भाटा जंग

कामां(भरतपुर): कामां कस्बे के एक गांव में महिलाओं से हंसी मजाक करना उस समय भारी गड़ गया जब महिला पक्ष के लोगों ने इसके विरोध में लाठी भाटा जंग शुरू कर दी. दोनों तरफ से चली जंग में तीन महिला सहित 6 लोग घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. सूचना मिलने पर मौक पर पहुंची पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 

जानकारी के अनुसार मामला कामां थाना क्षेत्र के विलंग गांव का है. जहां कुछ युवकों ने गांव की कुछ महिलाओं से हंसी मजाक कर ली जिस पर महिला पक्ष के लोगों ने विरोध कर दिया. इसके बाद दोनों पक्षों में लाठी भाटा जंग शुरू हो गई. हमले में महिला पक्ष के छह लोग घायल हो गए जिनमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं. 

पुलिस ने घायलों के बयान दर्ज कर जांच शुरू कर दी 
सभी घायलों को कामां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने घायलों के बयान दर्ज कर जांच शुरू कर दी हैं. साथ ही पुलिस ने मौके पर जाकर गांव के हालात भी जाने जिससे तनाव की स्थिति पैदा नहीं हो. पीड़ित पक्ष के लोगों ने गांव के युवकों पर महिलाओं के साथ गंदी हरकत करने का आरोप लगाया हैं. 

....देवेंद्र भट्टाचार्य फर्स्ट इंडिया न्यूज़ कामां भरतपुर


 

सौ रुपए के लेनदेन को लेकर दो पक्षों में फायरिंग, आधा दर्जन से अधिक लोग घायल

सौ रुपए के लेनदेन को लेकर दो पक्षों में फायरिंग, आधा दर्जन से अधिक लोग घायल

कामां(भरतपुर): मेवात क्षेत्र के कैथवाड़ा थाने के गांव घोघोर में सौ रुपए के लेनदेन को लेकर मगरुद्दीन और हाजी हरेता में जमकर फायरिंग हो गई. फायरिंग के दौरान दोनों पक्ष के आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची कैथवाड़ा थाना पुलिस ने घायलों को राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां घायलों की हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद एक पक्ष के सभी घायलों को जिल अस्पताल में रेफर कर दिया. 

शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए गांव में पुलिस बल तैनात 
घटना के बाद गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है, लेकिन इस घटना के बाद सबसे बड़ा सवाल तो यह खड़ा होता है कि आचार संहिता लगी होने के बाद भी इनके पास हथियार कहां से आए, अगर इन लोगों के पास हथियार उपलब्ध थे तो इससे पहले पुलिस ने इस मामले में पड़ताल क्यूं नहीं की? हालांकि इन सभी सवालों का जवाब देने से जिम्मेदार किनारा कर रहे हैं. 

....देवेंद्र भट्टाचार्य फर्स्ट इंडिया न्यूज़ कामां भरतपुर

देवरानी व जेठानी से सामूहिक दुष्कर्म के बाद 24 वें दिन मेडिकल परीक्षण, परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

देवरानी व जेठानी से सामूहिक दुष्कर्म के बाद 24 वें दिन मेडिकल परीक्षण, परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

कामां(भरतपुर)। कामां मेवात क्षेत्र के कैथवाड़ा थाने के गांव बुहापुरगढ़ी के चर्चित देवरानी जेठानी सामूहिक दुष्कर्म प्रकरण में पुलिस ने घटना के 24 वें दिन शुक्रवार को सीकरी अस्पताल में पीड़िता का मेडिकल परीक्षण करवाया। 

मेडिकल करवाते हुए पीड़िता तथा उसके परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने रसूखदार कंपनी मालिक के दबाव के चलते जानबूझकर समय पर मेडिकल नहीं करवाया था। पीड़िता के पति ने कहा कि पहले तो पुलिस ने कई दिनों तक चक्कर काटने के बाद भी मुकदमा दर्ज नहीं किया था। पीड़िता द्वारा थाने के बाहर अनशन पर बैठने तथा मीडिया में खबरें प्रकाशित होने पर कई दिन बाद पुलिस द्वारा मजबूर होकर मुकदमा दर्ज किया गया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने मामले में निष्क्रियता दिखाई। 

पुलिस पर जानबूझकर केस को कमजोर करने का आरोप
पीड़िता के पति ने आरोप लगाया कि हमारे द्वारा बार-बार कहने के बावजूद पुलिस ने पीड़िता का समय पर मेडिकल नहीं करवाया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस जानबूझकर केस को कमजोर करने तथा सबूतों को मिटाने एवं मुलजिम पक्ष का बचाव करने की कोशिश कर रही है। पुलिस ने घटना के 19 दिन बाद न्यायालय में पीड़िताओं के बयान दर्ज करवाए थे तथा आज तक मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है। पीड़िताओं द्वारा मजबूर होकर राज्य महिला आयोग जयपुर में भी न्याय की गुहार लगाई जा चुकी है। शुक्रवार को सीकरी अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराने के बाद पीड़िताओं ने पुलिस महानिदेशक जयपुर सहित अन्य अधिकारियों के नाम एक प्रार्थना पत्र लिखा तथा उसमें कहा गया कि पुलिस द्वारा मुलजिम को बचाने एवं केस को कमजोर करने के लिए घटना के 24 दिन बाद आज हमारा मेडिकल करवाया जा रहा है। जबकि नियमानुसार हमारा मेडिकल घटना के तुरंत बाद होना चाहिए था। पीड़िताओं ने प्रार्थना पत्र में महानिदेशक शहीद उच्चाधिकारियों से गुहार लगाई है कि दोषियों की शीध्र गिरफ्तारी कर उन्हें न्याय मिलना चाहिए। 

क्या था मामला 
कैथवाडा क्षेत्र के गांव भुआपुर गढी में गत 16 अप्रैल को देवरानी जेठानी दो महिलाएं जंगल में बुहारी काटने गई थी। जहां पर वे दोनों महिलाएं बुहारी काट रही थी वहां से थोड़ी दूर पर एक खनन कंपनी द्वारा खनन कार्य किया जाता है। खनन कंपनी में कार्य करने वाले लगभग आधा दर्जन कर्मचारियों ने उनमें से एक महिला को पकड़ लिया तथा उसके साथ दुष्कर्म किया। उस महिला द्वारा शोर मचाने पर उसकी जेठानी भी वहां पर आ गई। जिस पर उन लोगों ने उसके साथ भी दुष्कर्म करने का प्रयास किया। उन दोनों के शोर की आवाज सुनकर थोड़ी ही दूर पर दुकान चलाने वाला एक लड़का वहां पर आ गया जिसे देख कर वे लोग वहां से भाग गए। दोनों पीड़ित महिलाएं अपने परिजनों के साथ कैथवाड़ा थाने में मुकदमा दर्ज कराने आई लेकिन पुलिस द्वारा कई दिनों तक मामला दर्ज नहीं करने पर महिलाएं कैथवाड़ा थाने के सामने अनशन पर बैठ गई। जिस पर संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक हैदर अली जैदी ने मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए तथा कैथवाडा पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज किया गया। मुकदमा दर्ज होने के बाद अभी तक पुलिस द्वारा किसी की भी गिरफ्तारी नहीं की गई है जिससे परेशान होकर पीड़ित महिलाओं द्वारा राज्य महिला आयोग जयपुर में भी न्याय की गुहार लगाई जा चुकी है। जिसके बाद पीड़ित महिलाओं का आज मेडिकल कराया गया।

.....देवेंद्र भट्टाचार्य फर्स्ट इंडिया न्यूज़ कामां भरतपुर

Open Covid-19