लखनऊ सरकारी अस्पतालों में सुविधाओं की जानकारी देने के लिए बनाएं मोबाइल एप्लीकेशन - CM योगी

सरकारी अस्पतालों में सुविधाओं की जानकारी देने के लिए बनाएं मोबाइल एप्लीकेशन - CM योगी

सरकारी अस्पतालों में सुविधाओं की जानकारी देने के लिए बनाएं मोबाइल एप्लीकेशन -  CM योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने प्रदेश के जिला अस्पतालों समेत सभी सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में उपलब्ध चिकित्सकों, औषधियों तथा उपकरणों की जानकारी आम जनता को देने के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन (Mobile Application) विकसित करने के निर्देश दिए हैं. 

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने बुधवार को टीम-9 की बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्वास्थ्य विभाग के अधीन संचालित सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा जिला अस्पतालों में उपलब्ध सुविधाओं का एक डेटाबेस तैयार किया जाए. इनकी जियो मैपिंग करते हुए, चिकित्सकों की संख्या, पैरामेडिकल स्टाफ की स्थिति, दवाओं की उपलब्धता, भवन, उपकरणों की स्थिति आदि के संबंध में जानकारी देने वाला मोबाइल एप्लिकेशन विकसित किया जाना चाहिए. यह आम जनता के लिए उपयोगी होगा. 

कोरोना के खिलाफ हमारी रणनीति कारगर सिद्ध हो रही:
उन्होंने दावा किया "टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट के मंत्र के अनुरूप कोरोना के खिलाफ हमारी रणनीति कारगर सिद्ध हो रही है. एक ओर जहां प्रदेश में कोविड टेस्टिंग में हर दिन एक नया रिकॉर्ड बन रहा है, वहीं रोजाना आने वाले नए मामलों में निरंतर कमी आती जा रही है. साथ ही स्वस्थ होने की दर बेहतर होती जा रही है. उपचाराधीन मामलों में आई कमी अच्छे संकेत देती है. मुख्यमंत्री ने कहा कि 18 से 44 साल आयु वर्ग का टीकाकरण तेजी से चल रहा है. उन्होंने कहा कि एक जून से सभी 75 जिलों में 18 से 44 साल आयु वर्ग के लोगों के कोविड टीकाकरण का कार्यक्रम शुरू हो रहा है.  न्यायिक सेवा के लोगों, मीडिया प्रतिनिधियों के अलावा शिक्षकों व कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए सभी जिलों में दो-दो केंद्र बनाये जाएं. 

हर जिले में 'अभिभावक स्पेशल' बूथ बनाये जाएंगे:
योगी ने जोर दिया कि जिन अभिभावकों के बच्चे 12 वर्ष से कम आयु के हैं, उनका टीकाकरण प्राथमिकता के साथ किया जाना जरूरी है. उन्होंने कहा कि इस संबंध में विधिवत कार्ययोजना बनाई जानी चाहिए. हर जिले में 'अभिभावक स्पेशल' बूथ बनाये जाएंगे. अभिभावकों से संपर्क कर उन्हें टीकाकरण के लिए आमंत्रित किया जाए. यह अभिभावक के साथ-साथ बच्चों की सुरक्षा के लिए उपयोगी होगा. इसे अभियान के रूप में संचालित किया जाना चाहिए. मुख्यमंत्री ने दावा किया कि कोविड जांच में उत्तर प्रदेश हर दिन एक नया रिकॉर्ड बना रहा है. उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में तीन लाख 58 हजार 273 नमूनों की जांच की गई है. इसमें एक लाख 48 हजार नमूने आरटीपीसीआर के लिए जिलों से भेजे गए हैं. योगी ने कहा कि एक दिन में इतनी जांच करने वाला एकमात्र राज्य उत्तर प्रदेश है. वर्तमान में जांच संक्रमण दर मात्र एक फीसदी रह गई है. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें