Cricketer Bhuvneshwar Kumar का खुलासा: बताया शुरुआती दिनों में Bowling को लेकर उन्हें किस बात का नहीं था एहसास

Cricketer Bhuvneshwar Kumar का खुलासा: बताया शुरुआती दिनों में Bowling को लेकर उन्हें किस बात का नहीं था एहसास

Cricketer Bhuvneshwar Kumar का खुलासा: बताया शुरुआती दिनों में Bowling को लेकर उन्हें किस बात का नहीं था एहसास

नई दिल्ली: भारत (India) के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर (Fast Bowler Bhubaneswar) कुमार पिछले पांच सालों में टीम इंडिया (Team India) के सफल गेंदबाजों में से एक रहे हैं. उन्होंने जसप्रीत बुमराह (Jaspreet Bumrah) के साथ मिलकर टीम इंडिया के लिए घातक गेंदबाजी की है. वनडे और टी 20 में भुवनेश्वर कुमार पर टीम इंडिया ने पूरा भरोसा दिखाया. लेकिन चोटों की वजह से कई मैचों से दूर रहना पड़ा. भुवनेश्वर कुमार ने मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ लिमिटेड ओवर की सीरीज में प्रभावशाली वापसी की. इससे पहले वो चोट की वजह से टीम से बाहर थे.

स्विंग गेंदबाजी और सटीक लेंथे के लिए जाने जाते हैं भुवनेश्वर : 
भुवनेश्वर अपनी स्विंग गेंदबाजी (Swing Bowling) और सटीक लेंथे के लिए जाने जाते हैं. भुवनेश्वर कुमार ने खुलासा किया कि उन्हें अपनी शुरुआती वर्षों में अपनी गेंदबाजी में गति जोड़ने की आवश्यकता का एहसास नहीं था. सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल (Official Twitter Handle) पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में उन्होंने कहा," "ईमानदारी से कहूं तो, पहले कुछ वर्षों में मुझे नहीं पता था कि गति कुछ ऐसी है जिसे गेंदबाजी में जोड़ने की जरूरत है. 

 

स्विंग के साथ अपनी गति में सुधार करने की जरूरत महसूस हुई:
जैसे-जैसे मैं खेलता रहा, मुझे एहसास हुआ कि स्विंग के साथ मुझे अपनी गति में सुधार करने की जरूरत है. मेरी गति 120 किमी प्रति घंटा या सिर्फ 130 किमी प्रति घंटा थी. उसी गति से बल्लेबाज (Batsman) स्विंग को समायोजित कर रहे थे. इसलिए, मैं गति बढ़ाना चाहता था, लेकिन मुझे नहीं पता था कि यह कैसे करना है. कड़ी मेहनत करने और जिम में समय बिताने के बाद यह सामान्य बात हो गई.

बाद के चरणों में मिली मदद:
उन्होंने आगे कहा कि सौभाग्य से मैं गति में सुधार करने में सक्षम था और इससे मुझे बाद के चरणों में वास्तव में मदद मिली. तो हां, जब आपके पास गति होती है, 140 से अधिक की गति नहीं, लेकिन 130 किलोमीटर प्रति घंटे के मध्य में गेंदबाजी करने से उस स्विंग को बनाए रखने और बल्लेबाज को अनुमान लगाने में मदद मिलती है.

श्रीलंका के खिलाफ लिमिटेड ओवरों की सीरीज के चुने जाने की उम्मीद:
गौरतलब है कि भुवनेश्वर को साउथेम्प्टन (Southampton) में न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (World Test Championship Final) और इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए नहीं चुना गया है. इस बारे में उन्होंने हाल में स्पष्ट कर दिया कि वह लाल गेंद वाली टीम में वापसी करने के इच्छुक हैं. भुवनेश्वर कुमार को श्रीलंका के खिलाफ लिमिटेड ओवरों की सीरीज के लिए टीम इंडिया में चुने जाने की पूरी संभावना है.

और पढ़ें