कोरोना के बीच बिजली बिल में दौड़ेगा करंट! आठ माह बाद बिजली बिलों में फिर जुड़ेगा फ्यूज सरचार्ज

कोरोना के बीच बिजली बिल में दौड़ेगा करंट! आठ माह बाद बिजली बिलों में फिर जुड़ेगा फ्यूज सरचार्ज

कोरोना के बीच बिजली बिल में दौड़ेगा करंट! आठ माह बाद बिजली बिलों में फिर जुड़ेगा फ्यूज सरचार्ज

जयपुर: प्रदेश में कोरोना के बीच आर्थिक तंगी की मार झेल रहे उपभोक्ताओं को आठ माह बाद एक बार फिर बिजली कम्पनियों ने फ्यूज सरचार्ज का झटका दिया है. बिजली कम्पनियों ने वित्तीय वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही यानी अक्टूबर से दिसम्बर-19 में कोयला व परिवहन के पेटे अतिरिक्त खर्च का आंकलन किया है, जिसके चलते उपभोक्ताओं पर प्रति यूनिट 30 पैसे की रिकवरी निकाली गई है.

बसपा विधायकों से जुड़ी जनहित याचिका पर अब राजस्थान हाईकोर्ट में एक सप्ताह बाद होगी सुनवाई 

दरअसल, हर साल तीनों डिस्कॉम्स की पॉवर परर्चेज समेत अन्य खर्च की गणना के बाद राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग उपभोक्ताओं की बिजली दर तय करता है. इसमें आयोग फिक्स कॉस्ट के साथ ही वेरिएबल कॉस्ट के रूप में बिजली दर निर्धारित करता है. वेरिएबल कॉस्ट कोयला, डीजल व परिवहन के खर्चें के अनुसार ऊपर-नीचे होती रहती है, जिसकी वसूली उपभोक्ताओं से करने का प्रावधान नियमों में है.

जयपुर में क्रिकेट मैच पर सट्टा लगाते 3 सटोरिये गिरफ्तार, 1 दर्जन मोबाइल, लैपटॉप और अन्य उपकरण बरामद 

तीसरी तिमाही में 30 पैसे प्रति यूनिट की वसूली निकाली गई: 
बिजली कम्पनियों की की ओर से जारी आदेश में वित्तीय वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही में 30 पैसे प्रति यूनिट की वसूली निकाली गई है. उपभोक्ताओं से अगले तीन माह यानी सितम्बर से नवम्बर तक के बिलों में यह वसूली तीन किश्तों में करने के आदेश जारी किए गए है. डिस्कॉम अधिकारियों की माने तो इस वसूली से करीब 500 करोड़ का राजस्व आएगा.  

और पढ़ें