Live News »

सेहत के लिए खजाना है करी पत्ता, सेवन करने से मिलेंगे कई फायदे

 सेहत के लिए खजाना है करी पत्ता, सेवन करने से मिलेंगे कई फायदे

जयपुर: करी पत्ता हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है. अगर हम इसका हर रोज सेवन करेंगे तो हमारी सेहत को कई लाभ मिलेंगे. करी पत्ते में कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैगनीशियम, आयरन और कॉपर जैसे पोषक तत्वों से भरपूर मात्रा में होते हैं. करी पत्ता भोजन को लजीज बनाने के साथ-साथ आपके ब्लड शुगर लेवल, आंखों की रोशनी, बालों की लंबाई और पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में भी आपकी सहायता करता है. चलिए जानते है करी पत्ते से हमारी सेहत को क्या-क्या लाभ मिलता है. 

VIDEO: विधानसभा अध्यक्ष ने फिर अपनाया कड़ा रुख, अधिकारी को सस्पेंड करने का दिया निर्देश

बढ़ेगी बालों की लंबाई:
हीना मेहंदी में करी पत्ते के रस को मिलाकर लगाने से बाल हेल्दी और शाइनी बनेंगे. या फिर आप शैंपू करने के बाद इसके पानी के साथ बाल धो लीजिए। बाल लंबे और शाइनी तो बनेंगे ही साथ ही पसीन की वजह से बालों में से आने वाली बदबू भी जल्द दूर होगी।

बढ़ेगी आंखों की रोशनी:
आंखों की रोशनी तेज करने के लिए एक कप पानी में 10 करी पत्तों को उबाल लीजिए। उबालने के बाद पानी जब ठंडा हो जाए तो इसे छानकर पी लीजिए। आप चाहे तो इसमें एक चम्मच शहद भी डाल सकते हैं। इसका निरंतर सेवन करने से आपकी आंखों की रोशनी कभी कमजोर नहीं होगी।

करी पत्ता फाइबर से भरपूर: 
फाइबर युक्त होने के कारण से ये आपके पेट की सफाई के लिए बेस्ट ऑप्शन है. अगर आपको कब्ज की समस्या है तो रात सोने से पहले गुनगुने पानी के साथ इन पत्तों का सेवन कीजिए, या फिर शाम के वक्त भी आप इन पत्तों को खा सकते हैं. 

VIDEO: परिवहन विभाग के अफसरों पर ACB कार्रवाई में अपडेट, सचिवालय के अफसरों तक पहुंचती थी बंधी की राशि !

होगा ब्लड शुगर कंट्रोल:
करी पत्ता आपके शरीर में नेचुरल तरीके से इंसुलिन का निर्माण करता है. साथ ही यह दिल की मरीजों के लिए भी बेहद लाभकारी है. डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए आप सब्जी में तेज पत्ता डालकर इसका सेवन कीजिए, साथ ही आप चाहें तो सुबह उठकर 3 से 4 कढ़ी पत्ते पानी के साथ खा सकते हैं.

और पढ़ें

Most Related Stories

बेहद गुणकारी है बादाम, अगर करेंगे सेवन तो होगा वजन कंट्रोल 

 बेहद गुणकारी है बादाम, अगर करेंगे सेवन तो होगा वजन कंट्रोल 

जयपुर: हमारी सेहत के बादाम बेहद गुणकारी होते है, अगर हम बादाम का हर रोज सेवन करेंगे तो इससे शरीर को कई सारे फायदे मिलते है. आप हर रोज सुबह खाली पेट बादाम खाएंगे. तो इससे आपका दिमाग, सेहत और त्वचा ठीक रहेगी. इनमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व शरीर के लिए बहुत तरीके से फायदेमंद हैं. चलिए जानते है बादाम खाने के सेहत लाभ के बारे में...

ये घरेलू नुस्खे अपनाएं, दूर भगाएं एसिडिटी

होगा वजन कंट्रोल: 
अगर आप भी वजन कंट्रोल करने की सोच रहे है तो आप बादाम का सेवन कीजिए. लेकिन ध्यान रखे आप दिन में नहीं, बल्कि रात्रि विश्राम से पहले एक गिलास दूध और 5 से 6 बादाम का सेवन कीजिए. आप बादाम के साथ-साथ 3-4 अखरोट भी खा सकते हैं. अगर आपको खाना खाने के बाद भी भूख सताए तो आप ओर कुछ खाने की बजाए बादाम का सेवन कीजिए. इससे आपका वजन कंट्रोल होगा. 

आएंगी अच्छी नींद:
अगर आपको भी रात को नींद नहीं आती है, तो आप बादाम का सेवन कीजिए, इससे अच्छी नींद आएंगी. आप रात को सोने से पहले 4-5 बादाम जरुर खाएं, ऐसा करने से आपको नींद बहुत अच्छी आएगी.

नियमित करेंगे लहसुन का सेवन, तो होगा कोलेस्ट्रॉल लेवल कम

शुगर होगा कंट्रोल:
इसके अलावा शुगर कंट्रोल करने के लिए भी सोने से पहले बादाम खाना फायदेमंद माना जाता है. जिन लोगों को बादाम नहीं पचते, वो उसका छिलका उतारकर खाएं, फिर परेशानी नहीं होगी. मगर यदि ऐसी कोई परेशानी नहीं है तो छिलके के साथ ही बादाम खाएं, बादाम के छिलके में फाइबर काफी मात्रा में पाया जाता है.वैसे तो बादाम के बहुत सारे सेहत फायदे है, अगर आप इस्तेमाल करेंगे तो सेहत को कई फायदे मिलेंगे.

Holi festival 2020: हर्बल गुलाल और बिंदास होकर खेलिए होली, यहां पर महिलाओं ने बनाया प्राकृतिक गुलाल

Holi festival 2020: हर्बल गुलाल और बिंदास होकर खेलिए होली, यहां पर महिलाओं ने बनाया प्राकृतिक गुलाल

कोटड़ा(उदयपुर): उदयपुर जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र कोटड़ा में राजीविका से जुड़ी महिलाएं अभी हर्बल गुलाल बनाने में लगी हुई है. होली के त्योहार को देखते हुए इन महिलाओं ने रोजाना एक क्विंटल से अधिक हर्बल गुलाल बनाया. इस गुलाल को बाजार में दो सौ रुपये किलो की दर से बेचा जा रहा है. कोटड़ा तहसील के गोगरुद में राजीविका महिला सर्वांगीण सहकारी समिति लिमिटेड की महिलाएं आगामी होली के त्योहार को लेकर फूलों से हर्बल गुलाल बना रही है.

holi Festival 2020: यहां जलाई जाती है उदयपुर संभाग की सबसे ऊंची होली, बेटी की तरह दी जाती है विदाई

स्वंय सहायता समूह की साठ महिलाये पिछले माह 27 फरवरी से यह हर्बल गुलाल बना रही है और प्रतिदिन एक क्विंटल से अधिक मात्रा में गुलाल का निर्माण कर रही है. वर्तमान में यह महिलाएं एक हजार किलो से अधिक गुलाल का निर्माण कर चुकी है. इस गुलाल को समिति द्वारा बाजार में दो सौ रुपये प्रति किलो की दर से बेचा जा रहा है. महिलाओं द्वारा बनाये गए इस गुलाल की डिमांड हिमाचल प्रदेश,दिल्ली,कोलकाता,बिहार,महाराष्ट्र सहित राजस्थान के विभिन्न जिलों से आ चुकी है. 

ऐसे बनता है हर्बल गुलाल..
हर्बल गुलाल बनाने के लिए महिलाएं आस पास के जंगल से पलाश के फूल,रजके के पत्ते व अन्य फूलों की पत्तियां इकट्ठा करके लाती है. इसके बाद इनको साफ पानी से धोया जाता है और पानी में उबाला जाता है. इस मिश्रण को छानकर ठंडा करते है फिर इनमें अरारोट मिलाकर सुखाया जाता है और गुलाल का स्वरूप दिया जाता है. तीन दिन की इस प्रक्रिया में एक दिन फूल व पत्तियां बीनने में लगता है दूसरे दिन इन्हें पानी मे उबालकर तैयार करने में और तीसरा दिन इसे सुखाने में. यह गुलाल पूर्णतः प्राकृतिक होता है जो कि शरीर पर किसी प्रकार का नुकसान नही पहुंचाता है, जबकि बाजार में मिलने वाला गुलाल केमिकल युक्त होता है जो कि शरीर के लिए हानिकारक होता है.

बीकानेर में होली मनाने का अंदाज सबसे अलग, चंग की थाप पर रसिये गा रहे हैं फाल्गुनी गीत 

गुलाल की लागत सौ रुपये प्रति किलो:
स्वय सहायता समूह द्वारा बनाए गए इस गुलाल की लागत सौ रुपये प्रति किलो  आती है. वहीं इस गुलाल को समिति द्वारा बाजार में दो सौ रुपये किलो की दर से बेचा जा रहा है. इस प्रकार प्रति किलो सौ रुपये की आय होती है. यह आय प्रगति महिला सर्वांगीण सहकारी समिति लिमिटेड गोगरुद में जमा होगी, जिसे सभी सदस्यों में समान भाग में विभाजित कर दिया जाएगा. वहीं फूल बीनने वाली महिलाओं को ढाई सौ से तीन सौ रुपए तक मजदूरी दी जाती है.

स्वर्ण प्राशन आयुर्वेद टीकाकरण कार्यक्रम, 16 वर्ष तक के बच्चों को लगाया टीका

स्वर्ण प्राशन आयुर्वेद टीकाकरण कार्यक्रम, 16 वर्ष तक के बच्चों को लगाया टीका

माउंटआबू: पुष्य नक्षत्र के मौके पर राजस्थान आयुर्वेद विभाग द्वारा नन्हे बच्चों के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इन दिनों कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें स्वर्ण प्राशन एक आयुर्वेदिक रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का उपाय है. जिसमें शुद्ध स्वर्ण भस्म वह दूध शहद ब्राह्मी शंखपुष्पी आदि औषधि का मिश्रण होता है. बच्चों को पिलाने पर यह विशेष उपयोगी होता है वही प्रतिमाह पुष्प नक्षत्र के दिन इसे पिलाने से विशेष लाभ होता है. 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जुड़े सवाल पर विधानसभा में हुआ जोरदार हंगामा

टीकाकरण अभियान का आगाज:
इसी कड़ी में आज माउंट आबू के अंबेडकर कॉलोनी स्थित राजकीय विद्यालय में टीकाकरण अभियान का आगाज किया गया, जिसमें प्रधान चिकित्सा प्रभारी अंजू वाधवा के अनुसार चिकित्सा बैंक में पद स्थापित चिकित्सा अधिकारी कांतिलाल माली एवं अन्य कर्मचारियों ने मिलकर माउंट आबू के इस विद्यालय में शिविर का आयोजन किया गया. 

जैसलमेर के जवाहर अस्पताल में एक संदिग्ध मौत, सर्दी जुकाम से पीड़ित था मरीज

बच्चों को पिलाई औषधि:
कार्यक्रम में बच्चों को औषधि पिलाई गई, वहीं राजकीय चिकित्सालय में भामाशाह मणि भाई एवं भामाशाह के सहयोग से आज सुवर्णप्राशन टीकाकरण औषधि पिलाई जिससे बच्चों का बौद्धिक विकास हो सके इसी उद्देश्य के साथ इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया. 

भरतपुर में ऑर्गेनिक अबीर और गुलाल तैयार, महिलाओं को दी जा रही है ट्रेनिंग

 भरतपुर में ऑर्गेनिक अबीर और गुलाल तैयार, महिलाओं को दी जा रही है ट्रेनिंग

भरतपुर: रंगों के बिना होली का मजा अधूरा ही रहता है, लेकिन कई बार यह रंग आपके शरीर और जीवन को बदरंग भी कर देते हैं और अधिकांश लोग तो होली खेलने से इसलिए बचते हैं कि कहीं केमिकल से बने गुलाल व रंग से उनकी त्वचा खराब न हो जाए. इसी बात को देखते हुए अब भरतपुर में फल और सब्जियों से बने ऑर्गेनिक गुलाल और रंगों की बहार दिखाई दे रही है.

ऑर्गेनिक गुलाल रंग बनाने की ट्रेनिंग:
स्वयं सहायता समूह वर्ग द्वारा महिलाओं को ऑर्गेनिक अबीर व गुलाल बनाना सिखाया है, जो फलों और सब्जियों से तैयार किए जाते हैं. स्वयम सहायता समूहों की महिलाओं को विशेष कर होली के त्यौहार को देखते हुए ऑर्गेनिक गुलाल रंग बनाने की ट्रेनिंग दी गई है.

जोधपुर में सीज किया गया कोरोना वायरस पीड़ित इटालियन दंपत्ति का कमरा, चिकित्सा विभाग में मचा हड़कंप

केमिकल रहित गुलाल और रंग:
स्वर्ग संस्था के प्रबंधक बलवीर सिंह ने फर्स्ट इंडिया न्यूज़ को बताया इस बार उनकी संस्था ने होली के लिए रिसर्च किया है और केमिकल रहित गुलाल और रंग तैयार कराया है. उन्होंने कहा कि उन महिलाओं को रंग गुलाल बनाने की ट्रेनिंग दी है जो बेरोजगार हैं. उन्होंने बताया कि पालक से हरा चुकंदर से लाल हल्दी और चंदन से पीला गुलाल व रंग बनाया जा रहा है जिसमें केमिकल की मात्रा लेश मात्र भी नहीं है.

त्वचा पर नहीं होगा कोई नुकसान:
सिर्फ अरारोट का उपयोग इसमें किया गया है. प्रबंधक बलवीर सिंह ने बताया कि लोगों को अब होली खेलने से डरने की आवश्यकता नहीं है अगर वे ऑर्गेनिक गुलाल रंग से होली खेलेगे तो इससे उनकी त्वचा पर कोई नुकसान नहीं होगा.

कोरोना वायरस को लेकर भारत में अलर्ट, स्वास्थ्य मंत्री बोले- विदेश से आने वाले हर व्यक्ति की जांच की जाएगी

...फर्स्ट इंडिया न्यूज संवाददाता दीपक लवानिया की रिपोर्ट

ये घरेलू नुस्खे अपनाएं, दूर भगाएं एसिडिटी

ये घरेलू नुस्खे अपनाएं, दूर भगाएं एसिडिटी

जयपुर: एसिडिटी की समस्या ओवर इटिंग या फिर ज्यादा ऑयली खाने की वजह से होती है. इसी वजह से सीने में जलन होने लगती है.लेकिन इससे डरने की कोई जरूरत नहीं यह आम बात है. इसके अलावा अधिक दवाइयों का सेवन भी एसिडिटी का कारण है। वैसे बदलती जीवन शैली की वजह से एसिडिटी होना आम बात है. क्योंकि खाना सही वक्त पर ना खाने की वजह से भी कई बार एसिडिटी की समस्या उत्पन्न हो जाती है. चलिए आज हम आपको कुछ घरेलू टिप्स बताते है जिनकी सहायता से आप एसिडिटी की समस्या को दूर कर सकते है...

नियमित करेंगे लहसुन का सेवन, तो होगा कोलेस्ट्रॉल लेवल कम

कीजिए सौंफ का सेवन: 
अगर आप सौंफ का सेवन करेंगे तो इससे एसिडिटी की समस्या से छूटकारा पा सकते है. क्यों​कि सौंफ भोजन को पचाने में सहायता करती है. ऐसे में हर दोपहर और रात का खाना खाने के बाद एक चम्मच सौंफ जरुर खाना चाहिए. 

कीजिए दालचीनी का सेवन:
क्या आप एसिडिटी की समस्या से परेशान है. तो आप दालचीनी का सेवन कीजिए. इससे एसिडिटी की समस्या दूर हो जाएगी. अगर आपको एसिडिटी की बहुत ज्यादा समस्या है तो खाने के 1 घंटे बाद आधे गिलास गुनगुने पानी में 1 चुटकी दालचीनी पाउडर मिलाकर पिएं. एसिडिटी के साथ-साथ दालचीनी का पानी आपके ब्लड शुगर लेवल को भी बैलेंस करने में सहायता करता है.

जितना नारियल पानी स्वादिष्ट, उतना ही सेहत के लिए फायदेमंद

एसिडिटी दूर भगाए गुड़: 
वैसे तो गुड़ हमारी सेहत के लिए बेहद लाभकारी होता है. अगर आप खाने के बाद गुड़ खाएंगे तो इससे खाना जल्दी पच जाता है. गुड़ का सेवन जहां आपके खाने को पचाने में आपकी सहायता करता है, वहीं एसिडिटी, पेट में दर्द और जलन जैसी समस्याओं से भी आपको बचाकर रखता है. खाने के बाद गुड़ का सेवन शरीर में खून की मात्रा ठीक बनाए रखता है. जिन बच्चों को भूख नहीं लगती उन्हें दिन में 1-2 बार गुड़ जरुर खिलाना चाहिए. इससे उन्हें भूख लगने लग जाएगी.

नियमित करेंगे लहसुन का सेवन, तो होगा कोलेस्ट्रॉल लेवल कम

नियमित करेंगे लहसुन का सेवन, तो होगा कोलेस्ट्रॉल लेवल कम

जयपुर: हमारी सेहत के लिए लहसुन बेहद उपयोगी होता है. अगर इसका आप रोजाना यूज करेंगे तो सेहत को कई फायदे मिलेंगे. लहसुन से इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत बनता है. अगर लहसुन का नियमित रूप से सेवन किया जाए तो हमारे शरीर के आसपास कई बीमारियां नहीं भटकेगी. लहसुन एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है. इसमें एंटी फंगल गुण भी पाए जाते है. चलिए जानते हैं लहसुन के सेहत लाभ के बारे में....

होगा कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल:
अगर आप नियमित रूप से लहसुन का सेवन करेंगे तो इससे कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है. साथ ही हार्ट से जुड़ी समस्याएं भी दूर होती है. इसका सेवन करने से शरीर का फैट तेजी से बर्न होता है जिससे आपका वजन कम होने लगता है. 

बढ़ेगा स्टेमिना:
वैसे तो लहसुन के कई फायदे है, अगर आप रात को सोने से पहले एक कच्चा लहसुन खाएंगे तो इससे आपके शरीर में स्टेमिना बढ़ता है.जिससे आपकी बॉडी की तमाम कमजोरी दूर होगी. 

जितना नारियल पानी स्वादिष्ट, उतना ही सेहत के लिए फायदेमंद

निकलेंगे विषाक्त तत्व:
अगर आप रात को सोने से पहले भुने हुए लहसुन का सेवन करेंगे तो इससे   यूरिन के माध्यम से शरीर के मौजूद विषाक्त तत्व बाहर निकलते हैं.

हड्डियां होगी मजबूत:
आप हर रोज लहसुन का सेवन करेंगे तो इससे हड्डियां मजबूत बनेगी. अगर आप रात को सोने से पहले लहसुन खाएंगे तो इससे शरीर की हड्डियां मजबूत बनती है. साथ ही जोड़ों और घुटनों का दर्द दूर होगा. 

कीजिए लहसुन और शहद का यूज:
अगर आप लहसुन की कली और शहद का सेवन करेंगे. तो इससे कैंसर से बचाव हो सकता है. लहसुन और शहद विशेष रूप से व्यक्ति के पेट में होने वाले कैंसर के खतरों को कम करने का काम करता है.

कीजिए गाजर का सेवन, होगा लिवर का फैट कम

जितना नारियल पानी स्वादिष्ट, उतना ही सेहत के लिए फायदेमंद

जितना नारियल पानी स्वादिष्ट, उतना ही सेहत के लिए फायदेमंद

जयपुर: हमारी सेहत के लिए नारियल पानी बेहद फायदेमंद होता है. यह पीने में बेहद ही टेस्टी लगता है. इसका स्वाद जितना स्वादिष्ट है, उतना ही यह सेहत के लिए गुणकारी है. यह एकमात्र ऐसा फल है, जिससे प्राकृतिक रूप से शुद्ध मीठा पानी मिलता है. इस पानी में किसी भी तरह का केमिकल नहीं मिला होता.

इसलिए स्वास्थ्य के लिहाज से यह उत्तम है. इसमें पोषक तत्व मौजूद होते हैं. जो हमारे शरीर में पानी की कमी को पूरा करते हैं और उसे हाइड्रेट रखने में सहायक होते हैं. मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया और डायरिया जैसे कई रोगों से लडने की इसमें शक्ति होती है. चलिए जानते है नारियल पानी के सेहत लाभ के बारे में...

कीजिए गाजर का सेवन, होगा लिवर का फैट कम

दिल रहेगा ठीक: 
अगर आप हर रोज नारियल पानी पीएंगे, तो इससे आपका दिल ठीक रहेगा. दिल से संबंधित रोग दूर रहेंगे. कई वैज्ञानिक शोधों में पाया गया है कि नारियल पानी के सेवन से शरीर में लिपिड मेटाबॉलिज्म का स्तर नियंत्रित रहता है. इससे ह्रदयाघात की आशंका काफी हद तक कम हो जाती है. कोलेस्ट्रॉल और फैट-फ्री होने के कारण से यह दिल के लिए बेहद अच्छा होता है. इसके साथ ही इसका एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी सर्कुलेशन पर सकारात्मक प्रभाव डालता है. 

रहेगा ब्लड-प्रेशर कन्ट्रोल:
अगर आप नियमित रूप से नारियल पानी पीएंगे तो इससे आपका ब्लड प्रेशर ठीक रहेगा. नारियल पानी रक्तचाप को नियंत्रित रखता है. हाई ब्लड प्रेशर जैसी कई गंभीर रोगों में नारियल पानी बेहद गुणकारी होता है.  इसमें विटामिन सी, पोटैशियम और मैग्नीशियम ब्लड-प्रेशर को नियंत्रित रखने में मददगार होता है. इससे हाइपरटेंशन को भी कंट्रोल करता है.

हल्दी बेहद उपयोगी, यूज लेने से होगी ये समस्याएं दूर

पथरी की समस्या होगी दूर:
किडनी के मरीजों के लिए ज्यादा तरल पदार्थों के सेवन के लिए कहा जाता है, जिससे कि यूरिन के रास्ते पथरी निकल सके. नारियल का पानी किडनी में पथरी होने की परेशानी में काफी फायदेमंद होता है. यह किडनी से पथरी के क्रिस्टल को गलाने में सहायता करता है.

होगा सिर दर्द: 
क्या आपको भी हमेशा सिर दर्द की समस्या रहती है, तो आप ऐसे में  नारियल पानी पीजिए. इससे यह समस्या दूर हो जाएगी. क्योंकि सिर दर्द से जुड़ी ज्यादातर समस्याएं डिहाइड्रेशन की वजह से ही होती हैं. ऐसे में नारियल पानी पीने से शरीर को तुरंत इलेक्ट्रोलाइट्स पहुंचाने का का काम करता है, जिससे हाइड्रेशन का स्तर सुधर जाता है.

कीजिए गाजर का सेवन, होगा लिवर का फैट कम

कीजिए गाजर का सेवन, होगा लिवर का फैट कम

जयपुर: हमारी सेहत के लिए गाजर बेहद फायदेमंद होती है. अगर हम गाजर का जूस पीएंगे, तो हमारी शरीर से कई रोग दूर हो जाएंगे. गाजर हमारे शरीर को बेहद लाभ पहुंचाती है. चलिए जानते है गाजर से होने वाले फायदों के बारे में... 

होगा लिवर का फैट कम:
अगर आप हर रोज गाजर का सेवन करेंगे तो इससे लिवर का फैट कम होगा. गाजर का सेवन इसमें काफी मात्रा में विटमिन ए पाया जाता है, जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में एक अहम भूमिका निभाता है. इसके अलावा ये लिवर में पित्त एवं जमे हुए वसा (फैट) को कम करने में सहायक है.

हल्दी बेहद उपयोगी, यूज लेने से होगी ये समस्याएं दूर

ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए फायदेमंद: 
गाजर दिल और ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए लाभकारी होती है. ये बीटा-कैरोटीन, अल्फा-कैरोटीन और लुटेइन से भरपूर है, जो काफी अच्छे एंटीऑक्सीडेंट हैं. इसमें पोटैशियम रक्त वाहिकाओं और धमनियों को फैलाकर रक्त-प्रवाह को बढ़ाता है, जिससे हृदय प्रणाली पर कम तनाव पड़ता है.

निखरेगी त्वचा: 
अगर आप गाजर का सेवन करेंगे तो इससे आपकी स्किन निखरेगी. क्योंकि यह  ऐंटीऑक्सिडेंट और विटमिन ए का अच्छा स्रोत होने के कारण से गाजर स्किन  निखारने और सेहत के लिए भी उपयोगी है. गाजर सूर्य की हानिकारक अल्ट्रावॉइलेट किरणों से स्किन की रक्षा करता है और क्षतिग्रस्त स्किन के ऊतकों के सुधार में भी सहायता करता है.

खजूर में छुपा है सेहत का खजाना, जानिए

मुंह के लिए गुणकारी:
गाजर ओरल हेल्थ के लिए बेहद ही गुणकारी है. इसे चबाकर खाने से दांत का मैल और उसमें फंसे भोजन के कण दूर हो जाते हैं. इसके अलावा, गाजर सलाइवा (लार) के उत्पादन को बढ़ाता है और स्वाभाविक रूप से ये क्षारीय होने के कारण से मुंह में एसिड के प्रभाव को संतुलित करता है.

Open Covid-19