जेट एयरवेज को फिर से शुरू करने के लिए DGCA ने मांगा क्रेडिबल रिवाइवल प्लान

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/18 03:10

नई दिल्ली। 26 साल से लगातार अपनी सेवाएं दे रही जेट एयरवेज ने कल अपनी उड़ाने रोक दीं। एक दिन में 650 फ्लाइट्स तक का परिचालन करने वाली देसी एयलाइन कंपनी जेट के ये हालात बैंकों का कर्ज नहीं चुकाने के कारण हुई। इसी बीच एयरलाइन के लिए एक राहत भरी खबर है। डीजीसीए ने जेट एयरवेज को फिर से शुरू करने के लिए नियामकीय दायरे में रहते हुए एयरलाइन की मदद का भरोसा भी दिलाया है।

Consequent to decision of Jet Airways (India) Ltd to temporarily suspend all flight operations, DGCA to take action following due procedure under relevant regulations. DGCA to ask the airline for concrete & credible revival plan to restart the suspended operations.

— ANI (@ANI) April 18, 2019

दरअसल नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने जेट एयरवेज को ठोस रिवाइवल प्लान पेश करने को कहा है। वहीं डीजीसीए ने अपने एक बयान में कहा है कि जेट एयरवेज के 17 अप्रैल 2019 के बाद परिचालन अस्थायी तौर पर ठप करने के फैसले के बाद डीजीसीए संबद्ध नियमों के तहत प्रक्रियाओं का पालन करते हुए कार्रवाई करेगा। महानिदेशालय ने कहा है कि वह जेट एयरवेज को तय नियमों के तहत परिचालन शुरू करने में मदद करने का पूरा प्रयास करेगा। इसके अलावा ऋणदाता संकट में फंसी जेट एयरवेज की हिस्सेदारी बिक्री के लिए बोली प्रक्रिया की तैयारी में हैं, जिस पर 8,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है।

बता दें कि कई हफ्तों की मशक्कत के बाद जेट एयरवेज ने कल अपना परिचालन अस्थायी रूप से निलंबित करने की घोषणा की थी, क्योंकि उसे बैंकों से वित्तीय मदद नहीं मिल पाई थी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in