नई दिल्ली: दिल्ली के DRDO कोरोना अस्पताल को सबसे पहले दी जाएगी Anti- Covid 2 DG ड्रग, जानें इसकी खूबियां

दिल्ली के DRDO कोरोना अस्पताल को सबसे पहले दी जाएगी Anti- Covid 2 DG ड्रग, जानें इसकी खूबियां

दिल्ली के DRDO कोरोना अस्पताल को सबसे पहले दी जाएगी Anti- Covid 2 DG ड्रग, जानें इसकी खूबियां

नई दिल्ली: कोरोना महामारी (Covid- Epidemic) से देश में बिगड़े हालात से निपटने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है. DRDO की तरफ से तैयार की गई 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (drug 2-deoxy-D-glucose 2-DG) दवा को इमरजेंसी यूज की मंजूरी के बाद इसे सबसे पहले दिल्ली के DRDO कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों को दिया जाएगा.

2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज दवा कोरोना को रोकने में है प्रभावी:
अधिकारियों के अुनसार एक-दो दिन में इस दवा को अस्पताल में भेजा जाएगा. इस दवा को कोरोना रोकने में प्रभावी माना जा रहा है. वैज्ञानिकों ने बताया कि ये दवा एक पाउडर के रूप में होगी. इसका इस्तेमाल बहुत आसान है. पिछले एक साल से रिसर्च और क्लीनिकल ट्रायल (Clinical Trial) के आधार पर इसे तैयार किया गया है.

कोविड मरीजों पर पूर्व में दवा का किया गया है ट्रायल:
इस दवा का पूर्व में कोरोना के ​मरिजों पर ट्रायल किया गया है. DRDO (Defence Research & Development Organisation) की लैब ने हैदराबाद की एक प्राइवेट कंपनी डॉ. रेड्डीज लैब (Dr. Reddys Lab) के साथ मिलकर यह दवा तैयार की है. क्लीनिकल रिसर्च के दौरान 2-डीजी दवा के 5.85 ग्राम के पाउच तैयार किए गए. इसके एक-एक पाउच सुबह-शाम पानी में घोलकर मरीजों के दिए गए. इसके रिजल्ट अच्छे रहे. जिन मरीजों को दवा दी गई थी, उनमें तेजी से रिकवरी देखी गई. इसी आधार पर ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने इस दवा के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है.

डॉक्टरों की सलाह पर ही दी जाएगी दवा:
DRDO के अधिकारियों ने बताया, देशभर के जिन 27 अस्पतालों में इस दवा के आखिरी ट्रायल किए गए थे. वहां से बचा हुआ स्टॉक भी इकट्ठा किया गया है. इसे दिल्ली के DRDO के अस्पताल में पहुंचाया जाएगा. इन दवाओं को दिल्ली लाने का काम तेजी से चल रहा है. ये दवा फिलहाल अस्पतालों में डॉक्टर की सलाह (Doctors advice) पर ही दी जाएगी.

अभी केवल इमरजेंसी यूज की मंजूरी:
अधिकारियों के मुताबिक, डॉ. रेड्डीज लैब में इस दवा को बनाया जा रहा है. अगले 10 से 15 दिनों में कमर्शियल यूज के लिए भी इसे अस्पतालों में भेजा जाएगा. हालांकि, मार्केट में बिकने के लिए DCGI से मंजूरी लेना जरूरी होगा. अभी इसकी सिर्फ इमरजेंसी यूज (Emergency Use) की मंजूरी दी गई है. जब तक इस दवा को सामान्य इस्तेमाल की मंजूरी नहीं मिलती है, तब तक इसका बाजार में आना संभव नहीं है.

और पढ़ें