Live News »

डकैत ने गोली मारकर की युवक की हत्या, पुलिस को खुली चुनौती देकर ग्रामीणों को धमकाया

डकैत ने गोली मारकर की युवक की हत्या, पुलिस को खुली चुनौती देकर ग्रामीणों को धमकाया

करौली: इसे डकैत रामवीर की निरंकुशता माने या पुलिस को खुली चुनौती कि जिस गांव में डकैत ने सुबह एक किशोर की हत्या की उसी गांव के समीप शाम को वह राइफल लेकर ग्रामीणों को धमकाने पहुंच गया. गंभीर यह है कि इस दौरान डांग क्षेत्र में स्वयं एसपी के निर्देशन में डकैत रामवीर की तलाश में कड़ी नाकाबंदी चल रही थी. जबकि रात को ग्रामीण किशोर की अंत्येष्टि के लिए जा रहे थे तो डकैत गांव के समीप राइफल सहित नजर आया. 

पुलिस बुलाकर क्षेत्र में कड़ी नाकाबंदी कराई गई:
डकैत रामवीर ने लांगरा थाना क्षेत्र के मारी भाट वरुला गांव में एक किशोर तेजराम की गोली मारकर हत्या कर दी. सूचना पर एसपी अनिल कुमार बेनीवाल मौके पर पहुंचे और आठ थानों की पुलिस बुलाकर क्षेत्र में कड़ी नाकाबंदी कराई गई. किशोर के शव को देर शाम पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा गया. रात को परिजन और ग्रामीण गांव के समीप किशोर की अंत्येष्टि करने जा रहे थे इस दौरान कुछ ग्रामीणों को रास्ते के समीप राइफल लिए डकैत नजर आया. 

डकैत रात के अंधेरे का फायदा उठाकर बच निकला:
एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि डकैत को देख वो डर गए और बोल भी नहीं फूटा. इस बीच वाहनों की लाइट देखकर डकैत जंगल की ओर चला गया. ग्रामीणों ने गांव में मौजूद पुलिस को सूचना दी. स्वयं एसपी पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे और घने जंगलों में डकैत की तलाश शुरू कराई लेकिन डकैत रात के अंधेरे का फायदा उठाकर बच निकला. एसपी अनिल कुमार ने कहा कि डांग क्षेत्र में कड़ी नाकाबंदी की जा रही है ग्रामीणों की सुरक्षा और डकैत को पकड़ना पुलिस की प्राथमिकता है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

करौली: हिंडौन सदर थाना क्षेत्र में महिला से दुष्कर्म, लोक लाज के भय से प्रताड़ित होकर पीड़िता ने दी जान

करौली: हिंडौन सदर थाना क्षेत्र में महिला से दुष्कर्म, लोक लाज के भय से प्रताड़ित होकर पीड़िता ने दी जान

करौली: हिंडौन सदर थाना क्षेत्र के एक गांव में महिला से दुष्कर्म किया गया. उसके बाद महिला ने लोक लाज के भय से आत्महत्या कर ली. उसके बाद दबंगों के भय से परिजन गांव छोड़कर अन्यत्र रहने को मजबूर हैं. वहीं पुलिस ने पीड़ित परिवार को सुरक्षा का भरोसा दिलाते हुए गांव में सुरक्षित रहने का आश्वासन दिया है. ‌प्रशिक्षु आईपीएस नगेंद्र कुमार का कहना है कि मामले में मुख्य आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया है. पीड़ित परिवार के सदस्यों से वार्ता कर उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिलाया गया है. 

{related}

लोक लाज के भय से प्रताड़ित होकर पीड़िता ने जान दे दी: 
पीड़िता की पुत्रवधु ने बताया कि पिछले माह उसकी सासू मां को सरकारी कामकाज के बहाने ले जाकर गांव के ही एक जने ने दुष्कर्म किया और बाद में राजीनामा के लिए दबाव बनाया. लोक लाज के भय से प्रताड़ित होकर पीड़िता ने जान दे दी. परिजनों ने आरोपी के परिवार जनों पर आरोप लगाया है कि पीड़ित परिवार को राजीनामा नहीं करने पर मारपीट, जान से मारने व घर की महिलाओं से भी दुष्कर्म की धमकियां दे रहे हैं. जिसके चलते पिछले 15 दिनों से पीड़ित परिवार गांव छोड़कर करौली में रहने को मजबूर है. परिजनों ने पुलिस से गुहार लगाई तो पुलिस ने गांव जाकर आरोपियों की तलाश की, साथ ही पीड़ित परिवार को भी हर संभव मदद का भरोसा देने की बात कही है.

17 अक्टूबर को भरतपुर के अड्डा गांव में होगी गुर्जर महापंचायत, आंदोलन को लेकर होगा फैसला

हिण्डौन सिटी(करौली): गुर्जर समाज की आरक्षण मामले से जुड़ी समस्याओं को लेकर 17 अक्टूबर को भरतपुर जिले के पीलूपुरा क्षेत्र में स्थित अड्डा गांव में गुर्जरों की महापंचायत आयोजित की जाएगी. जिसमें गुर्जर समाज आंदोलन से जुड़े हुए निर्णय भी लेगा. 

अपनी मांगों को लेकर गुर्जर समाज में भारी रोष व्याप्त: 
गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने हिण्डौन स्थित आवास पर आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि गुर्जर आरक्षण मामले को नवी अनुसूची में डालने, बैकलॉग भरने, प्रक्रियाधीन भर्ती में एमबीसी को 5 प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने, आंदोलन के दौरान मृतक समाज के लोगों के परिजनों को मुआवजा व नौकरी देने, आंदोलन के दौरान हुए मुकदमों को वापस लेने एवं पूर्व में दी गई नौकरियों के नियमित करण सहित कई मांगों को लेकर गुर्जर समाज सरकार से कई बार गुहार लगा चुका है व बैठक आयोजित कर चुका है. लेकिन सरकार मामले को लेकर गंभीर नहीं है. जिससे गुर्जर समाज में भारी रोष व्याप्त है. 

{related}

महापंचायत बयाना तहसील के अड्डा गांव में आयोजित की जाएगी:
बैंसला ने बताया कि पूर्व में 17 अक्टूबर को सवाई माधोपुर जिले के मलारना डूंगर गांव में महापंचायत का आयोजन होना था. लेकिन अब स्थान परिवर्तन कर दिया गया है तथा महापंचायत बयाना तहसील के अड्डा गांव में आयोजित की जाएगी. गुर्जर नेता एवं कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के पुत्र विजय बैंसला ने बताया कि महापंचायत में आगामी आंदोलन से जुड़े हुए निर्णय भी लिए जा सकते हैं.

पुजारी को जलाने का मामला: सरकार वायदे को पूरा करने पहुंची पीड़ितों के घर, परिजनों को बंधाया ढांढस

पुजारी को जलाने का मामला: सरकार वायदे को पूरा करने पहुंची पीड़ितों के घर, परिजनों को बंधाया ढांढस

करौली: सपोटरा के बूकना गांव में पुजारी बाबूलाल वैष्णव की जलाकर हत्या के मामले में कांग्रेसी नेता बूकना गांव पहुंचे और पीड़ित परिवार के जख्मों पर मरहम लगाया. मुख्य सचेतक महेश जोशी जिला प्रभारी मंत्री अशोक चांदना और विधायक रमेश मीणा ने पुजारी के घर पहुंच कर परिजनों को ढांढस बंधाया. साथ ही सरकार की ओर से दिए गए आश्वासन के अनुरूप ₹1000000 की आर्थिक सहायता सौंपी.

भाजपा नेता लाश पर राजनीति करने आ गए:
कांग्रेसी नेताओं ने साफ तौर पर कहा कि मामले में दोषी को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा और निर्दोष को फंसाया नहीं जाएगा. इस मौके पर कांग्रेसी नेताओं ने भाजपाइयों पर निशाना साधा. विधायक रमेश मीणा ने कहा कि भाजपा नेता लाश पर राजनीति करने आ गए लेकिन धरना समाप्त होने के बाद अध्यक्ष टीमें नहीं रुके यह शर्मनाक है. ‌

{related}

एक सदस्य को संविदा की नौकरी का नियुक्ति पत्र सौंपा:
कांग्रेसी नेताओं ने परिवार के सदस्यों को ढाढस बंधाते हुए परिवार के एक सदस्य को संविदा की नौकरी का नियुक्ति पत्र सौंपा. परिवार को जल्द प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाने सहित अन्य मांग जल्द पूरी करने का आश्वासन दिया. ‌मुख्य सचेतक महेश जोशी ने घटना को निंदनीय बताया. उन्होंने कहा कि सरकार संकट की घड़ी में उनके साथ है मुख्यमंत्री की भावना के अनुरूप वे उनके बीच पहुंचे हैं.

संकट की घड़ी में साथ देने का पूर्ण सुरक्षा का भरोसा दिलाया:
उन्होंने गांव में सौहार्द माहौल की सराहना की और कहा कि 36 कौम के लोग पुजारी परिवार के साथ हैं. प्रभारी मंत्री अशोक चांदना ने परिजनों को संकट की घड़ी में साथ देने का पूर्ण सुरक्षा का भरोसा दिलाया. विधायक रमेश मीणा ने कहा कि मामले में दोषी बचेगा नहीं और निर्दोष को फंसने नहीं दिया जाएगा. पीड़ित परिवार जनों ने सिंगल फेस नलकूप विद्युत कनेक्शन और सुरक्षा की मांग रखी. इस पर विधायक मीना ने कहा कि जल्द ही सिंगल फेस नलकूप और विद्युत कनेक्शन करवा दिया जाएगा. सुरक्षा के लिए गांव में 1-4 की सुरक्षा गार्ड तैनात रहेगी.  

पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: कपिल मिश्रा पहुंचे बुकना गांव,  परिवारजनों को 25 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: कपिल मिश्रा पहुंचे बुकना गांव,  परिवारजनों को 25 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

करौली: सपोटरा के बुकना में पुजारी बाबूलाल वैष्णव की अंत्येष्टि के बाद भी शोक संतप्त माहौल है और परिजनों में रुदन मचा हुआ है. भाजपा नेता कपिल मिश्रा पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने के लिए बुकना पहुंचे. मिश्रा ने परिवारजनों को 25 लाख 10 हजार रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की. कपिल मिश्रा ने कहा कि परिजनों के बैंक खाते में यह राशि ट्रांसफर की जाएगी. अभी पीड़ित का बैंक खाता चालू नहीं होने से तकनीकी परेशानी हो रही हैं. कपिल मिश्रा ने मृतक पुजारी बाबूलाल वैष्णव के परिवारजनों को हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया. कपिल मिश्रा ने मृतक पुजारी बाबूलाल वैष्णव के परिजनों को ढाढस बंधाया. परिवारजनों और मौजूद लोगों से घटना की जानकारी ली. मिश्रा ने कड़े शब्दों में घटना की निंदा करते हुए दुर्भाग्यपूर्ण बताया. 25,00000 रुपए की आर्थिक सहायता पुजारी के परिवारजनों को सौंपेंगे. विभिन्न संगठनों और दानदाताओं से 25,00000 रुपए की राशि जुटाई गई है.

अरूण चतुर्वेदी ने साधा कांग्रेस पर निशाना:
इससे पहले आज चिकित्सा विभाग की टीम मौके पर पहुंची और परिवार जनों का स्वास्थ्य परीक्षण किया. उधर भाजपा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी भाजपा करौली जिला अध्यक्ष बृजलाल ढिकोलिया भी पदाधिकारी कार्यकर्ताओं के साथ पीड़ित परिवार जनों के पहुंचे और उन्हें ढांढस बंधाया. अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि संकट की घड़ी में भाजपा संगठन उनके साथ है. अरूण चतुर्वेदी ने कांग्रेस सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस के नुमाइंदे पीड़ित परिवार की सुध लेने नहीं पहुंचे हैं. 

मामले में दो आरोपी गिरफ्तार:
सपोटरा के बूकना में पुजारी को जलाकर मारने के मामले में एक और आरोपी को  गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार आरोपी टिल्लू बूकना गांव निवासी है.आरोपी पहले से हिरासत में था, अब गिरफ्तारी दिखाई गई हैं. मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को पहले ही  गिरफ्तार किया जा चुका है. एसपी मृदुल कच्छावा ने जानकारी दी.आपको बता दें कि शनिवार को मृतक पुजारी बाबूलाल की पत्नी बेटी सहित चार महिलाओं की तबीयत बिगड़ गई थी जिन अस्पताल ले जाया गया था आज उन्हें घर लाया गया. चिकित्सक की एक टीम ने स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें उपचार प्रदान किया. 

{related}

महत्वपूर्ण बिंदुओं पर सहमति के बाद हुआ था धरना खत्म:
गौरतलब है कि मृतक पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने मामले में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर सहमति बनने के बाद शनिवार को धरना समाप्त किया. वहीं पुजारी बाबूलाल वैष्णव का अंतिम संस्कार किया गया. पीड़ित परिवार को राज्य सरकार की ओर से 10 लाख रुपए की सहायता का आश्वासन दिया गया. परिवार के एक सदस्य को संविदा पर नौकरी पर सहमति बन गई है. दोषी पाए जाने पर थाना अधिकारी के निलंबन की कार्रवाई की. इंदिरा आवास के तहत परिवार को एक लाख की सहायता मिलेगी. सहमति के बाद धरना समाप्ति की घोषणा की गई.

करौली में पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: पुजारी परिवार ने किया धरना समाप्त, मामले में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर बनी सहमति

करौली में पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: पुजारी परिवार ने किया धरना समाप्त, मामले में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर बनी सहमति

करौली: प्रदेश के करौली जिले के सपोटरा के बुकना में पुजारी को जिंदा जलाने के मामले में बड़ी खबर मिल रही है. मामले में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर सहमति बन गई हैं. कुछ देर में पुजारी अमृत बाबूलाल वैष्णव के शव का अंतिम संस्कार होगा. पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपए की सहायता का आश्वासन दिया गया. परिवार के एक सदस्य को संविदा पर नौकरी पर सहमति बन गई है. दोषी पाए जाने पर थाना अधिकारी के निलंबन की कार्रवाई की. इंदिरा आवास के तहत परिवार को एक लाख की सहायता मिलेगी. सहमति के बाद धरना समाप्ति की घोषणा की गई.

परिवार को सांत्वना देने पहुंचे भाजपा नेता:
इससे पहले शुक्रवार देर रात पुजारी बाबूलाल वैष्णव का शव गांव पहुंचने पर आज सुबह बड़ी संख्या में भाजपा नेता और कार्यकर्ता पीड़ित परिवार को सांत्वना देने पहुंचे. यहां पीड़ित परिवार द्वारा मांगे पूरी नहीं होने तक अंतिम संस्कार से इनकार किया जा रहा है. पीड़ित परिवार की मांग है कि उन्हें 50 लाख का मुआवजा और परिवार से एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए. वहीं दूसरी ओर सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा, पूर्व विधायक मानसिंह मौके पर मौजूद रहे. वो कलेक्टर, एसपी को घटनास्थल पर बुलाने की मांग कर रहे हैं. इसके साथ ही सपोटरा थाने का पूरा स्टाफ सस्पेंड करने की मांग कर रहे हैं. इस दौरान उन्होंने सभी मांग पूरी नहीं होने तक अंत्येष्टि नहीं करने की चेतावनी दी है. 

न्यायन नहीं मिलने तक वो मौके पर डटे रहेंगे:
सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने कहा है कि न्याय नहीं मिलने तक वो मौके पर डटे रहेंगे. उन्होंने मृतक के परिजनों को स्वयं की ओर से एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता भी दी है. डॉ. मीणा ने कहा कि सभी जातियों के पंच-पटेलों के साथ बातचीत के बाद यह फैसला हुआ है कि पुजारी परिवार को हर हाल में न्याय मिलना चाहिए. अपराधियों को सख्त सजा होनी चाहिए. गहलोत सरकार अपनी नींद तोड़े और पीड़ित परिवार इंसाफ दे. 

{related}

पीड़ित ने कहा था- आरोपी मंदिर की जमीन पर कब्जा करना चाहते थे:
पुलिस के मुताबिक, पीड़ित ने बताया था कि कैलाश मीणा अपने साथियों शंकर, नमो, किशन और रामलखन के साथ मंदिर के बाड़े पर कब्जा कर छप्पर लगा रहा था. मैंने विरोध किया तो पेट्रोल डालकर आग लगा दी. मेरा परिवार मंदिर की 15 बीघा जमीन पर खेती कर अपना गुजारा करता है. 

बीजेपी ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी का किया गठन:
वहीं दूसरी ओर राजस्थान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने  पार्टी की तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया है. यह कमेटी शनिवार को सपोटरा के बूकना गांव में जाकर पुजारी हत्याकांड से जुड़े सभी साक्ष्यों को जुटाएगी. इस कमेटी में जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा, राष्ट्रीय मंत्री एवं पूर्व विधायक डॉ. अलका सिंह गुर्जर, भाजयुमो के पूर्व प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र मीणा शामिल हैं. 

पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: परिजन अंतिम संस्कार करने पर नहीं हुए सहमत, समर्थन में धरने पर बैठे सांसद डॉ.किरोड़ी लाल मीणा

करौली: जिले के सपोटरा इलाके में पुजारी हत्याकांड मामले को लेकर धीरे-धीरे राजनीति तेज होती जा रही है. देररात पुजारी बाबूलाल वैष्णव का शव गांव पहुंचने के बाद आज सुबह बड़ी संख्या में भाजपा नेता और कार्यकर्ता पीड़ित परिवार को सांत्वना देने पहुंचे. यहां पीड़ित परिवार द्वारा मांगे पूरी नहीं होने तक अंतिम संस्कार से इनकार किया जा रहा है. पीड़ित परिवार की मांग है कि उन्हें 50 लाख का मुआवजा और परिवार से एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए. 

वहीं दूसरी ओर सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा, पूर्व विधायक मानसिंह मौके पर मौजूद रहे. वो कलेक्टर, एसपी को घटनास्थल पर बुलाने की मांग कर रहे हैं. इसके साथ ही सपोटरा थाने का पूरा स्टाफ सस्पेंड करने की मांग कर रहे हैं. इस दौरान उन्होंने सभी मांग पूरी नहीं होने तक अंत्येष्टि नहीं करने की चेतावनी दी है. 

{related}

न्यायन नहीं मिलने तक वो मौके पर डटे रहेंगे:
सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने कहा है कि न्याय नहीं मिलने तक वो मौके पर डटे रहेंगे. उन्होंने मृतक के परिजनों को स्वयं की ओर से एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता भी दी है. डॉ. मीणा ने कहा कि सभी जातियों के पंच-पटेलों के साथ बातचीत के बाद यह फैसला हुआ है कि पुजारी परिवार को हर हाल में न्याय मिलना चाहिए. अपराधियों को सख्त सजा होनी चाहिए. गहलोत सरकार अपनी नींद तोड़े और पीड़ित परिवार इंसाफ दे. 

पीड़ित ने कहा था- आरोपी मंदिर की जमीन पर कब्जा करना चाहते थे:
पुलिस के मुताबिक, पीड़ित ने बताया था कि कैलाश मीणा अपने साथियों शंकर, नमो, किशन और रामलखन के साथ मंदिर के बाड़े पर कब्जा कर छप्पर लगा रहा था. मैंने विरोध किया तो पेट्रोल डालकर आग लगा दी. मेरा परिवार मंदिर की 15 बीघा जमीन पर खेती कर अपना गुजारा करता है. 

बीजेपी ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी का किया गठन:
वहीं दूसरी ओर राजस्थान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने  पार्टी की तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया है. यह कमेटी शनिवार को सपोटरा के बूकना गांव में जाकर पुजारी हत्याकांड से जुड़े सभी साक्ष्यों को जुटाएगी. इस कमेटी में जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा, राष्ट्रीय मंत्री एवं पूर्व विधायक डॉ. अलका सिंह गुर्जर, भाजयुमो के पूर्व प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र मीणा शामिल हैं. 

भूमि विवाद में पुजारी को लगाई आग, हुईं मौत, सीएम गहलोत ने कहा- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

भूमि विवाद में पुजारी को लगाई आग, हुईं मौत, सीएम गहलोत ने कहा- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

जयपुर: राजस्थान के करौली जिले में भूमि विवाद में एक पुजारी को कथित तौर पर आग लगा दी गई, जिनकी बृहस्पतिवार को यहां एसएमएस अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. पुलिस ने इस संबंध में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि बाकी की तलाश जारी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घटना की निंदा करते हुए कहा है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. पुलिस के अनुसार घटना सापोटरा के बूकना गांव की है. वहां बुधवार को एक मंदिर के पुजारी बाबू लाल वैष्णव पर पांच लोगों ने हमला किया.

आरोप है कि मंदिर के पास की खेती की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे इन लोगों ने पुजारी पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। घायल पुजारी को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां से उन्हें बृहस्पतिवार को जयपुर भेजा गया. करौली के पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा के अनुसार घायल पुजारी के बयानों पर भादसं की धारा 307 में मामला दर्ज किया गया था. बृहस्पतिवार को पुजारी की मौत के बाद इस मामले में भादसं की धारा 302 भी जोड़ी गई है. प्रकरण के मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है. बाकी आरोपियों को भी जल्द पकड़ लिया जाएगा.

{related}

इस बीच पुजारी के परिवार वालों ने इस मामले में थानाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई, परिवार को मुआवजा देने आदि की मांग रखी है. इस घटना पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. गहलोत ने ट्वीट किया, यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं निंदनीय है, सभ्य समाज में ऐसे कृत्य का कोई स्थान नहीं है. प्रदेश सरकार इस दुखद समय में शोकाकुल परिजनों के साथ है. गहलोत ने कहा, “घटना के प्रमुख आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है व कार्रवाई जारी है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.

इससे पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने इस घटना को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा. उन्होंन ट्वीट किया, “राज्य में हर तरह के अपराधों की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं. सापोटरा में मंदिर के पुजारी को जिंदा जलाने की घटना यह दर्शाती है कि अपराधियों में कानून का भय समाप्त हो चुका है. जनता भयभीत है, डरी हुई है, सहमी हुई है. वहीं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस घटना को निंदनीय बताते हुए कहा है कि राज्य की कांग्रेस सरकार को अब अपनी गहरी नींद को त्यागते हुए दोषियों को सख्त सजा दिलाकर परिवार को तुरंत न्याय दिलाना चाहिए.(भाषा)

दो पक्षों में जमीन विवाद: सपोटरा में पेट्रोल छिड़ककर आधा दर्जन लोगों पर पुजारी को आग लगाने का आरोप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

दो पक्षों में जमीन विवाद: सपोटरा में पेट्रोल छिड़ककर आधा दर्जन लोगों पर पुजारी को आग लगाने का आरोप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

करौली: सपोटरा उपखण्ड की बूकना ग्राम पंचायत में मन्दिर माफी की भूमि को लेकर दो पक्षों में हुए विवाद में लगी आग से मंदिर पुजारी गंभीर रूप से झुलस गया. जिसकी जयपुर में उपचार के दौरान मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने दबंगों पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगाने का आरोप लगाया है. पुजारी की जयपुर एसएमएमस अस्पताल में मौत के बाद जिला पुलिस हरकत में आई. एस पी मृदुल कच्छावा ने आधा दर्जन टीमों का गठन किया इसके बाद मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है. 

मंदिर भूमि समतल कराने को लेकर गांव के ही लोगों से विवाद हुआ: 
पुलिस के अनुसार बूकना गांव में पुजारी बाबूलाल वैष्णव राधा कृष्ण मंदिर का पुजारी था. मंदिर भूमि समतल कराने को लेकर गांव के ही लोगों से विवाद हुआ. आरोप है कि इस दौरान कुछ लोगों ने पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी. परिजनों ने सपोटरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में लाकर भर्ती कराया, लेकिन उसकी गंभीर स्थिति के कारण चिकित्सकों ने उसे जयपुर रैफर कर दिया. घायल वृद्ध ने उपचार के दौरान जयपुर में दम तोड़ दिया. मृतक के परिजनों ने सपोटरा थाने में 6 लोगों के खिलाफ पेट्रोल डालकर आग लगाने की एफआईआर सौंपी है. सूचना पाकर कैलादेवी के पुलिस उपाधीक्षक महावीर मीणा तथा सपोटरा थाने से थानाधिकारी हरजीलाल यादव ने मौके पर पहुंचकर विवाद की जानकारी ली. 

{related}

अतिक्रण करने वालों ने पंच पटेलों के फैसले को भी नकार दिया:
थानाधिकारी हरजीलाल यादव ने बताया कि बूकना गांव में मन्दिर माफी की जमीन को पुजारी बाबूलाल द्वारा समतल कराया गया था. इसको लेकर पुजारी ने पूर्व मे गांव के पंच पटेलों को एकत्रित करके अतिक्रमण हटाने के लिए मांग की थी. इस दौरान पंच- पटेलों ने भूमि को अतिक्रमण मुक्त करके मन्दिर के लिए भूमि को छोड़ कर किसी को भी अतिक्रमण नहीं करने की बात कही थी. आरोप है कि अतिक्रण करने वालों ने पंच पटेलों के फैसले को भी नकार कर अतिक्रमण किया जा रहा था. पुजारी द्वारा अतिक्रमणकारियों को रोकने का प्रयास करने से झगड़ा बढ़ गया. इसी दौरान विवादित भूमि में रखी कड़वी में पेट्रोल डालकर आग लगाने की घटना हुई, जिसमें पुजारी बाबूलाल बैष्णव झुलस गया.  

साक्ष्य जुटाने के लिए करौली से एफएसएल टीम भी बुलाई:
पुलिस ने मौके से साक्ष्य जुटाने के लिए करौली से एफएसएल टीम भी बुलाई. एसएफएल टीम के इंचार्ज अरुण कुमार चतुर्वेदी ने घटना स्थल से साक्ष्य संकलित किए. उन्होंने बताया कि घटना में लिप्त एक आरोपी का नाम अभी सामने आया है. थानाधिकारी ने बताया कि पेट्रोल डालकर आग लगाने की घटना अतिक्रमणियों ने की या पुजारी द्वारा की गई, इसका खुलासा जांच के बाद ही हो सकेगा. जख्मी हुए पुजारी के बयान दर्ज करने के लिए सपोटरा पुलिस टीम जयपुर के लिए रवाना की गई. पीड़ित वृद्ध ने उपचार के दौरान जयपुर में गुरुवार शाम दम तोड़ दिया. मृतक का शव आज  सपोटरा लाया जाएगा.