Live News »

हरियाणा में बढ़ा कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा, 5 नए मामले सामने आने के बाद मरीजों की संख्या हुई 158 

हरियाणा में बढ़ा कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा, 5 नए मामले सामने आने के बाद मरीजों की संख्या हुई 158 

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के मामले देशभर में थमने का नाम नहीं ले रहे है. ये मामले लगातार बढते जा रहे है. वहीं बात करे हरियाणा राज्य की, तो यहां पर पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढकर 158 पहुंच गई है. हरियाणा में गुरुवार को 5 नए मामले सामने आये है. इनमें एक मामला कैथल जिले में तो 4 मामले अम्बाला जिले के सामने आये है. वहीं कैथल में संक्रमित मिला मरीज 9 वर्षीय बच्चा है, जो बिहार का रहने वाला है और मदरसे में पढ़ने के लिए कैथल से आया था. बच्चा मदरसा संचालक के संपर्क में आया था.

Coronavirus Updates: नहीं थम रहा देशभर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा, संक्रमित लोगों की संख्या हुई 5274

158 पहुंचा मरीजों का आंकड़ा:
प्रदेश में संक्रमित लोगों की संख्या 158 हो गई है. यहां पर नूंह​ जिले में सबसे ज्यादा 38 कोरोना पॉजिटिव मिले है. वहीं बात करे गुरुग्राम जिले की तो यहां पर 32 कोरोना मरीज मिले है. बात करे पलवल की, तो यहां पर 28 कोरोना पॉजिटिव मिले है.

फरीदाबाद में 28 पॉजिटिव
प्रदेश के फरीदाबाद में 28 कोरोना संक्रमित है, तो पानीपत में 4 संक्रमित व्यक्ति है. अम्बाला में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 7 हो गई है. वही बात करें भिवानी की तो यहां पर 2 कोरोना संक्रमित रोगी मिले है.  कैथल में 2, सिरसा में 3 संक्रमित व्यक्ति मिले है.

वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए यूपी कैबिनेट की बैठक, विधायक निधि और वेतन में कटौती के प्रस्ताव पर हुई चर्चा

कोरोना पॉजिटिव मरीज इलाज के बाद ठीक हुए:
हरियाणा में कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति उपचार के बाद भी हो गए है. यहां पर 18 लोग ठीक होकर घर पहुंच गए है. गुरुग्राम जिले के मरीज ठीक होकर घर पहुंच गए है.

और पढ़ें

Most Related Stories

कृषि विधेयकों का विरोध, हरियाणा में कांग्रेस का राज्यव्यापी आंदोलन, कल राजभवन मार्च करेगी कांग्रेस

कृषि विधेयकों का विरोध, हरियाणा में कांग्रेस का राज्यव्यापी आंदोलन, कल राजभवन मार्च करेगी कांग्रेस

नई दिल्ली: कृषि विधेयकों के खिलाफ हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने अपने आंदोलन का दूसरा चरण शुरू करने की घोषणा कर दी है. हरियाण प्रदेश कांग्रेस ने 3 विधेयकों के खिलाफ राज्यव्यापी विरोध व्यक्त करने का फैसला किया है. इसकी घोषणा हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी विवेक बंसल, हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, रणदीप सिंह सुरजेवाला और  सचिव आशीष दुआ ने प्रेसवार्ता में की.

कल कांग्रेस का पैदल मार्च:
इस दौरान विवेक बंसल ने बताया कि 28 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के नेतृत्व में एक पैदल मार्च प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से हरियाणा राज भवन तक जाएगा. जो राज्यपाल को राष्ट्रपति के लिए एक ज्ञापन सौेंपेंगा. इस ज्ञापन में इन 3 विधेयकों को निरस्त करने की मांग करेगा. ​विवेक बंसल ने बताया कि 2 अक्टूबर को राज्य के प्रत्येक विधानसभा व जिला मुख्यालय पर हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी किसान-मजदूर बचाओ दिवस के रूप में मनाएगी. 

{related}

10 अक्टूबर को होगा राज्य स्तरीय किसान सम्मेलन: 
उनके मुताबिक 10 अक्टूबर  को राज्य स्तरीय किसान सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा. दो अक्टूबर से 31 अक्तूबर तक इन विधेयकों के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि भाजपा सरकार ने काले विधेयकों के जरिये देश के किसान, मजदूर और आढ़तियों पर क्रूर हमला किया है. भाजपा सरकार द्वारा संसद में यह विधेयक लोकतंत्र की हत्या कर पास करवाए गए हैं.

केंद्र मंडियों को खत्म करने का बना रहे हैं कानून:
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र मंडियों को खत्म करने का कानून बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि जब मंडियां ही खत्म हो जाएंगी तो न्यूनतम समर्थन मूल्य कौन दिला पाएगा और छोटे किसान अपनी उपज दूरदराज के क्षेत्रों में कैसे भेज पाएंगे.

हरियाणा में अदालतों का कामकाज हिंदी में शुरू करने की तैयारी, स्टाफ की होगी ट्रेनिंग

हरियाणा में अदालतों का कामकाज हिंदी में शुरू करने की तैयारी, स्टाफ की होगी ट्रेनिंग

चंडीगढ़: हरियाणा में अदालतों का कामकाज हिंदी में शुरू करने की तैयारी की जा रही है. इस बारे में सरकार ने इसी साल जनवरी में फैसला कर लिया था लेकिन कोरोना संकट के चलते यह मामला बीच में अटक गया था. ऐसे में अब एक बार फिर सरकार इसे नए सिरे से शुरू करने जा रही है ताकि आम लोगों को इसका फायदा मिल सके. 

प्रदेश की अदालतों में स्टाफ की ट्रेनिंग भी करवाएगी: 
इसी के चलते सरकार अब प्रदेश की अदालतों में स्टाफ की ट्रेनिंग भी करवाएगी. इसके लिए एक ऐसी एजेंसी की तलाश की जा रही है जिसे न्यायिक मामलों में अंग्रेजी व हिंदी भाषा के प्रशिक्षण का अनुभव हो. इस प्रोजेक्ट की निगरानी कर रहे एडवोकेट जनरल हरियाणा बलदेव राज महाजन ने बताया कि इस मामले में सरकार की सोच बहुत स्पष्ट है. 

{related}

अदालतों के कामकाज में अभी अंग्रेजी की ही आदत: 
इस बारे में उन्होंने बताया कि, प्रदेश की अदालतों में इस वक्त पूरा माहौल अंग्रेजीमय है. अदालतों के कामकाज में अभी अंग्रेजी की ही आदत है एसे में इसे एक सात शिफ्ट करना थोड़ा चुनौतीपूर्ण है. इसी के चलते योजना को लागू करने से पहले अदालतों के स्टाफ की ट्रेनिंग करवाई जाएगी. 

विधायकों, अधिवक्ताओं के आग्रह पर सरकार ने लिया फैसला:
दरअसल, प्रदेश के 60 से अधिक विधायकों, हरियाणा के महाधिवक्ता समेत सैकड़ों अधिवक्ताओं ने हरियाणा की अदालतों में अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी भाषा में भी कामकाज शुरू करने के लिए हरियाणा सरकार को मांगपत्र भेजा था. इसी मांगपत्र के आधार पर सरकार ने फैसला लिया है. अब इसी फैसले को लागू करने के लिए सरकार ने अगला कदम उठा लिया है. 

हरसिमरत कौर के इस्तीफे से दुष्यंत चौटाला पर बढ़ा दबाव, कांग्रेस ने कहा - किसानों से ज्यादा अपनी कुर्सी प्यारी

हरसिमरत कौर के इस्तीफे से दुष्यंत चौटाला पर बढ़ा दबाव, कांग्रेस ने कहा - किसानों से ज्यादा अपनी कुर्सी प्यारी

चंडीगढ़: कृषि विधेयकों को लेकर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले एनडीए में मतभेद साफ तौर पर उभरकर सामने आ गया है. कृषि विधेयक के खिलाफ हरियाणा और पंजाब के किसान आंदोलित हैं. इसी के चलते NDA में बीजेपी के सबसे पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के कोटे से मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने गुरुवार को इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद हरियाणा में बीजेपी की सहयोगी जननायक जनता पार्टी (JJP) पर साथ छोड़ने का दबाव बढ़ रहा है. ऐसे में जेजेपी प्रमुख डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला कशमकश में फंसे हुए हैं. 

{related}

दुष्यंत जी आपको भी डिप्टी सीएम से इस्तीफा दे देना चाहिए: 
वहीं इसी बीच कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी एक ट्वीट करते हुए कहा कि दुष्यंत जी हरसिमरत कौर बादल की तरह आपको भी कम से कम डिप्टी सीएम की पोस्ट से इस्तीफा दे देना चाहिए. आपको किसानों से ज्यादा अपनी कुर्सी प्यारी है. 

BJP, JJP नेता किसान से विश्वासघात करने में लगे हुए: 
कांग्रेस नेता व राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि पंजाब के अकाली दल, AAP ने संसद में कांग्रेस के साथ किसान विरोधी 3 अध्यादेशों का विरोध करने का साहस दिखाया, पर दुर्भाग्य कि हरियाणा के BJP, JJP नेता सत्ता-सुख के लिए किसान से विश्वासघात करने में लगे हुए हैं. जब पंजाब के सब दल किसान के पक्ष में एक हो सकते हैं तो हरियाणा BJP-JJP क्यूँ नहीं? अकाली हरसिमरत जी के इस्तीफे के बाद इस प्रश्न को और बल मिलता है- जब पंजाब के सारे दल किसान के पक्ष में एक होकर केंद्र के इन किसान-घातक अध्यादेशों के विरोध में आ सकते हैं तो हरियाणा के सत्तासीन BJP-JJP नेता क्यूँ किसान से विश्वासघात कर रहे हैं? किसान-हित से ऊपर सत्ता-लोभ.

खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार जेजेपी के सहयोग से चल रही: 
बता दें कि हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार जेजेपी के सहयोग से चल रही है. जेजेपी का राजनीतिक आधार ग्रामीण इलाके और किसानों पर टिका हुआ है, क्योंकि चौधरी  देवीलाल किसान नेता के तौर पर देश भर जाने जाते थे. किसानों की नाराजगी और राजनैतिक नुकसान को देखते हुए जेजेपी ने लाठीचार्ज को लेकर किसानों से माफी मांगी है. दुष्यंत चौटाला के छोटे भाई दिग्विजय चौटाला ने कहा, 'किसानों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर जेजेपी माफी मांगती है. जेजेपी हमेशा किसानों के साथ है और किसानों के हित की बात पार्टी के लिए सबसे ऊपर है. 

सीएम दुष्यंत चौटाला कृषि संबंधी विधेयक के समर्थन में:
जेजेपी प्रमुख और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला कृषि संबंधी विधेयक के समर्थन में हैं और कांग्रेस पर किसानों को बहकाने का आरोप लगा रहे हैं. दुष्यंत चौटाला ने अभी तक इस किसान विधेयक का विरोध नहीं किया है, लेकिन यह जरूर कहा है कि इसमें एमएसपी का जिक्र होना चाहिए.
 

कोरोना को हराने के बाद सीएम खट्टर पहुंचे चंडीगढ़, कहा-कोरोना से डरने की नहीं, बल्कि सतर्क रहने की जरूरत

 कोरोना को हराने के बाद सीएम खट्टर पहुंचे चंडीगढ़, कहा-कोरोना से डरने की नहीं, बल्कि सतर्क रहने की जरूरत

नई दिल्ली: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद चंडीगढ़ लौट आए. मनोहर लाल खट्टर ने लोगों से सुरक्षित रहने के लिए मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते रहने की अपील की. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से डरने की नहीं बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है. 

24 अगस्त को पाये गए थे कोरोना सं​क्रमित:
आपको बता दें कि मनोहर लाल खट्टर को विधानसभा का एक दिवसीय मॉनसून सत्र शुरू होने से 2 दिन पहले 24 अगस्त को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था.कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए जाने से 3 दिन पहले खट्टर (66) ने बुखार और बदन दर्द की शिकायत की थी. उन्हें 25 अगस्त को अस्पताल ले जाया गया था, जहां वे 17 दिन तक भर्ती रहे. संक्रमण से उबरने के बाद उन्होंने कुछ दिन तक गुड़गांव में पीडब्ल्यूडी के विश्राम गृह में आराम किया. 

{related}

अभी 10 दिन और थोड़ा रहेगा परहेज:
सीएम खट्टर ने कहा कि मैं 24 अगस्त को कोरोना से प्रभावित हुआ था और आज पूरी तरह स्वस्थ होकर वापस चंडीगढ़ लौट रहा हूं. मैं सभी लोगों का धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस समय मेरे लिए शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा कि लोगों से मिलने-जुलने के लिए अभी 10 दिन और थोड़ा परहेज रहेगा.

दुश्मनों को पस्त करने वाला राफेल वायुसेना में शामिल, अंबाला एयरबेस पर किया फ्लाईपास्ट

दुश्मनों को पस्त करने वाला राफेल वायुसेना में शामिल, अंबाला एयरबेस पर किया फ्लाईपास्ट

अंबाला: भारत और चीन में सीमा पर जारी गतिरोध के बीच आज पांच राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप अंबाला एयरबेस पर औपचारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल हो गई. ये विमान वायुसेना के 17वें स्क्वाड्रन, "गोल्डन एरो" का हिस्सा होंगे. अंबाला में ही राफेल फाइटर जेट्स की पहली स्क्वाड्रन तैनात होगी. इस स्क्वाड्रन में 18 राफेल लड़ाकू विमान, तीन ट्रैनर और बाकी 15 फाइटर जेट्स होंगे.

कार्यक्रम में फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ली ने हिस्सा लिया:
इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ली सहित चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, वायुसेनाध्यक्ष आरकेएस भदौरिया सहित अन्य लोगों ने हिस्सा लिया. लंबी राजनीतिक बहस और प्रक्रिया पूरे होने के बाद राफेल लड़ाकू विमान भारत पहुंचे हैं, जो अत्याधुनिक तकनीक के साथ वायुसेना में शामिल हुए हैं. 

{related}

सभी धर्मों के गुरुओं ने अंबाला एयरबेस पर पूजा की:
भारतीय वायुसेना की प्रक्रिया के तहत सभी धर्मों के गुरुओं ने अंबाला एयरबेस पर पूजा की. इसके बाद विधिवत रूप से राफेल को बल में शामिल किया. इस दौरान जवानों की सलामती के लिए भी दुआएं मांगी गई. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ली ने राफेल लड़ाकू विमानों के फ्लाईपास्ट को देखा. 

राफेल विमान की रफ्तार ध्वनि की गति से दोगुना:
राफेल विमान की रफ्तार 2130 किमी प्रति घंटा है, यानी ध्वनि की गति से दोगुना. यह परमाणु हमले में भी सक्षम है. राफेल की नोज पर लगी मल्टी डायरेक्शनल रडार 100 किमी की रेंज में 40 से अधिक टारगेट निशाने पर ले सकता है. इसमें लगा एक टन का कैमरा इतना ताकतवर है कि जमीन पर पड़ी क्रिकेट बॉल तक की फोटो ले सकता है. 

राफेल अत्याधुनिक हथियारों और मिसाइलों से लैस: 
राफेल अत्याधुनिक हथियारों और मिसाइलों से लैस हैं. सबसे खास है दुनिया की सबसे घातक समझे जाने वाली हवा से हवा में मार करने वाली मेटयोर (METEOR) मिसाइल. ये मिसाइल चीन तो क्या किसी भी एशियाई देश के पास नहीं है. यानी राफेल प्लेन वाकई दक्षिण-एशिया में गेम-चेंजर साबित हो सकता है.


 

हरियाणा सरकार का फैसला, अब राज्य में नहीं होगा सोमवार और मंगलवार को लॉकडाउन

हरियाणा सरकार का फैसला, अब राज्य में नहीं होगा सोमवार और मंगलवार को लॉकडाउन

हरियाणा: कोरोना संकट के बीच देशभर में अनलॉक 4 शुरू हो गया है. केन्द्र सरकार ने अनलॉक 4 की गाइडलाइन जारी की है. हरियाणा सरकार केन्द्र सरकार की ओर से अनलॉक 4 की गाइडलाइन जारी होने के बाद बड़ा फैसला लिया है. राज्य में होने वाला सोमवार और मंगलवार को लॉकडाउन अब नहीं होगा. सप्ताह में सातों दिन बाजार खुल सकेंगे.

गृहमंत्री अनिल विज ने ट्वीट करके दी जानकारी:
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने ट्वीट करके यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि राज्य में अब कोई लॉकडाउन नहीं होगा. जब केंद्र सरकार की गाइडलाइन आ गई है तो राज्य सरकार का कोई अधिकार नहीं है कि लॉकडाउन लगाया जाए.केंद्र सरकार ने अनलॉक 4 में प्रदेश सरकारों को लॉक डाउन करने का अधिकार नही दिया है इसलिए हरियाणा सरकार का 28 अगस्त का सोमवार और मंगलवार को बाज़ार बंद रखने का आदेश वापिस ले लिया है. इसलिए अब कोई लॉक डाउन नहीं होगा.

{related}

हरियाणा सरकार ने वापस लिया लॉकडाउन के आदेश:
आपको बता दें कि हरियाणा सरकार ने कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए सरकार ने पहले वीकेंड लॉकडाउन, फिर सोमवार और मंगलवार के दिन लॉकडाउन लगाने के आदेश जारी किए थे. जिसे अब हरियाणा सरकार ने वापस ले लिया है. अब हरियाणा में किसी भी तरह का कोई लॉकडाउन नहीं है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी 

 हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी 

नई दिल्ली: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मुख्यमंत्री खट्टर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मैंने कोरोना का टेस्ट आज करवाया. मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने ट्वीट में लिखा, 'आज मेरा कोरोना टेस्ट किया गया था. मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.  मैं अपने सभी सहकर्मियों और सहयोगियों से अपील करता हूं कि अगर वे मेरे संपर्क में आए हैं तो वे अपना टेस्ट करवाएं. मैं अपने करीबियों से अपील करता हूं कि वे तुरंत खुद को क्वारंटीन कर लें.

गणेश घोघरा पदभार ग्रहण समारोह, सीएम गहलोत बोले, मुझे खुशी है कि एक नई जान यूथ कांग्रेस में आ गई

इससे पहले हरियाणा विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. रविवार की रात उन्हें सांस लेने में परेशानी हुई तो अस्पताल में भर्ती करवाया गया. उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव मिला. वहीं दूसरी ओर विधानसभा के 6 नियमित के अलावा 3 कांट्रेक्ट कर्मचारी भी संक्रमित हैं. 26 अगस्त से शुरू होने वाले विधानसभा के मानसून सत्र के लिए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के कोरोना टेस्ट के लिए विधानसभा सचिवालय में विशेष कैम्प का आयोजन किया गया था. 

तीन सौ वर्ष में पहली बार नहीं भरेगा भादरवीं पूर्णिमा का मेला, अंबाजी मंदिर में इस बार नहीं भरेगा भादरवीं पूर्णिमा का महाकुंभ

दिल्ली-NCR में बारिश से कई इलाकों में जलभराव, गुरुग्राम में सड़कों पर भरा पानी, आमजन हुए परेशान

 दिल्ली-NCR में बारिश से कई इलाकों में जलभराव, गुरुग्राम में सड़कों पर भरा पानी, आमजन हुए परेशान

नई दिल्ली: भादो में दिल्ली-एनसीआर में मेघ जमकर बरसे, जिसकी वजह से हर तरफ सड़क पर पानी भर गया. गुरुवार सुबह हुई तेज बारिश से सडकों पर पानी भर गया. आमजन को समस्याओं को सामना करना पड़ा. मौसम विभाग (आईएमडी) ने पहले ही चेतावनी दी थी कि निचले इलाकों में पानी भर सकता है. 

बारिश के पानी में फंसे लोग:
आईएमडी के मुताबिक अरब सागर से दक्षिण-पश्चिमी हवाएं और बंगाल की खाड़ी से दक्षिण-पूर्वी हवाएं एनसीआर में बारिश करा रही हैं. गुड़गांव में तेज बारिश की वजह से सड़क पर चलने लगी नाव. लोग अपने घरों में फंस गए और उन्हें निकालने के लिए नाव लाना पड़ा. 

बाबा रामदेव समाधि का हुआ पंचामृत से अभिषेक, चादर चढ़ा कर किया स्वर्ण मुकुट स्थापित, कोरोना की वजह से मेला स्थगित 

कई सड़कों पर यातायात को पूरी तरह रोकना पड़ा:
हरियाणा के गुरुग्राम में इतनी बारिश हुई है कि कई रिहायशी इलाकों में बारिश का पानी भर गया. लोग नावों पर सवार होकर बाहर निकले. गुड़गांव के कई अंडरपास में इतना पानी भर गया कि वहां से पानी निकालने के लिए भारी मशीनों को लगाना पड़ा. तेज बारिश की वजह से कई सड़कों पर यातायात को पूरी तरह रोक देना पड़ा. गुरुग्राम पुलिस ने आमजन से जरूरी काम होने पर ही लोग निकले घरों से बाहर निकलने की अपील की है.

राजीव गांधी की जयंती: PCC में हुआ पुष्पांजलि कार्यक्रम का आयोजन, गोविन्द डोटासरा ने दी श्रद्धांजलि