औरंगाबाद महाराष्ट्र में पर्थिव देह की बेकद्री: सामने आईं दिल दहलाने वाली तस्‍वीर, एक एंबुलेंस में 22 कोरोना मरीजों के शव को ले जाया गया श्मशान

महाराष्ट्र में पर्थिव देह की बेकद्री: सामने आईं दिल दहलाने वाली तस्‍वीर, एक एंबुलेंस में 22 कोरोना मरीजों के शव को ले जाया गया श्मशान

महाराष्ट्र में पर्थिव देह की बेकद्री: सामने आईं दिल दहलाने वाली तस्‍वीर, एक एंबुलेंस में 22 कोरोना मरीजों के शव को ले जाया गया श्मशान

औरंगाबाद: देश में कोराना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार से थमती सांसों (Steady Breaths) का सिलसिला जारी है. हर पल हालात बदतर होते जा रहे हैं. हर दिन रिकॉर्ड मौतों का आंकड़ा खौफ बढ़ाता जा रहा है. हालात इस कदर बदतर हो चले हैं कि श्‍मशान तक कोरोना मरीजों के शव तक ले जाने के लिए अस्‍पतालों में एंबुलेंस तक उपलब्‍ध नहीं है. एक ही एंबुलेंस में 20 से 22 लोगों के शव लादकर उन्‍हें श्‍मशान, कब्रिस्‍तान पहुंचाया जा रहा है. 

एक ही एम्बुलेंस में रखे 22 शव: 
महाराष्‍ट्र के बीड जिले (Beed District) की एक दिल दहलाने (Tremble) वाली, अमानवीय और इंसानियत को शर्मसार (Inhuman and Ashamed of Humanity) करने वाली तस्‍वीर सामने आई है. बीड जिले के अंबाजोगाई में स्वामी रामानंद तीर्थ अस्पताल में कोरोना से मरने वाले 22 मरीजों के शव रविवार को एक ही एम्बुलेंस में लादकर कब्रिस्तान में ले जाया गया. इस पर अस्पताल की दलील है कि उसके पास एंबुलेंस नहीं है. वहीं दूसरी ओर इस अमानवीय तस्वीर के सामने आने के बाद लोगों में अस्‍पतालों के खिलाफ गुस्सा है.

इस अमानवीयता के लिए अस्‍पताल ने दिया रटा रटाया जवाब:
मामला महाराष्‍ट्र के बीड जिले स्वाराती (District Swarti) अस्पताल का है. जहां 25 अप्रैल को एक ही एम्बुलेंस में 22 मरीजों के शव को कब्रिस्तान में ले जाया गया था. जिस तरह से मरीजों के शवों को अंतिम संस्कार (Funeral) के लिए एक ही एंबुलेंस में ठूस कर (Ambulance Bribed) ले जाया गया, वह बेहद चौंकाने वाला है. जब मीडिया ने अस्पताल प्रबंधन से बातचीत की तो प्रबंधन ने रटा रटाया जवाब दे दिया. अस्पताल प्रशासन के मुताबिक, अस्पताल में सिर्फ दो एंबुलेंस है, महामारी के चलते पांच अतिरिक्त एंबुलेंस की मांग की गई है, 17 मार्च 2021 को अतिरिक्त एम्बुलेंस के लिए जिला प्रशासन को लिखा है, लेकिन अभी तक कोई भी एम्बुलेंस प्राप्त नहीं हुई है, एम्बुलेंस की कमी के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इस पूरे घटनाक्रम के बाद स्‍थानीय लोगों में भारी आक्रोश है.

महाराष्‍ट्र के अंबजोगाई तालुका में स्थिति गंभीर:
महाराष्‍ट्र के बीड जिले में कोरोना मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. अंबजोगाई तालुका में स्थिति गंभीर है. इस वजह से यहां के स्वाराती अस्पताल पर भारी दबाव है. साथ ही पड़ोसी तालुकों के रोगियों को स्वाराती अस्पताल और लोखंडी सावरगाव कोविड केंद्र (Lokhandi Savargaon Covid Center) में भर्ती कराया जा रहा है. मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ गया है.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 48,700 नए मामले, 524 मरीजों की मौत:
महाराष्ट्र में सोमवार को थोड़ी राहत के बीच कोरोना वायरस (Covid Virus) संक्रमण के 48,700 नए मामले सामने आए, जिसके साथ ही राज्य में अब तक इस वायरस की चपेट में आए लोगों की संख्या बढ़कर 43,43,727 तक पहुंच गई. राज्य स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, राज्य में इसी अवधि में कोविड-19 के 524 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 65,284 हो गई.

महाराष्ट्र में अब तक 2,59,72,018 नमूनों की जांच हो चुकी:
महाराष्ट्र में अब तक इस महीने एक अप्रैल को सबसे कम संक्रमण के 43,183 मामले सामने आए थे जबकि दो अप्रैल को 47,827 नए मामले दर्ज किए गए थे. विभाग के मुताबिक, सोमवार को किए गए 2,22,475 नमूनों की जांच के साथ ही महाराष्ट्र में अब तक 2,59,72,018 नमूनों की जांच हो चुकी है.

पिछले दो महीने में प्रतिदिन करीब 60,000 नए मामले सामने आ रहे हैं: स्वास्थ्य मंत्री 
 राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Health Minister Rajesh Tope) ने कहा कि महाराष्ट्र में पिछले दो महीने में प्रतिदिन करीब 60,000 नए मामले सामने आ रहे हैं. राज्य में 18 अप्रैल को एक ही दिन में सर्वाधिक 68,631 मामले दर्ज किए गए थे. पिछले एक सप्ताह में प्रतिदिन मामलों में कमी दर्ज की जा रही है. पिछले छह दिनों में 4,42,466 मरीज ठीक हुए हैं. उन्होंने कहा कि सोमवार को राज्य में 71,736 मरीज संक्रमणमुक्त हुए. राज्य में अब तक 36,01,796 लोग ठीक हो चुके हैं. महाराष्ट्र में फिलहाल 6,74,770 मरीज उपचाराधीन हैं. इस बीच, मुंबई में संक्रमण के 3,840 नए मामले सामने आए जबकि 71 मरीजों ने दम तोड़ दिया.

और पढ़ें