आबकारी विभाग की ओर से शराब ठेकों के लिए आवेदन तिथि की घोषणा, जानिए पूरी प्रक्रिया

आबकारी विभाग की ओर से शराब ठेकों के लिए आवेदन तिथि की घोषणा, जानिए पूरी प्रक्रिया

जयपुर: आबकारी विभाग की ओर से वर्ष 2020-2021 की के शराब ठेकों के लिए आवेदन तिथि की घोषणा कर दी है. आवेदन 12 फरवरी से 27 फरवरी तक 6 बजे तक आबकारी विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन किए जा सकेंगे. शराब दुकानों के लाइसेंस के लिए आवेदन शुल्क इंटरनेट बैंकिंग, ई ग्रास चालान और डीडी के माध्यम से जमा कराए जा सकेंगे. ऑनलाइन आवेदन और ऑनलाइन पेमेंट के बाद आवेदन पत्र और चालान की प्रति जिला आबकारी अधिकारी को जमा कराने की आवश्यकता नहीं है. 

शाहीन बाग पर SC ने कहा- अनंतकाल के लिए किसी सार्वजनिक रास्ते को बंद नहीं किया जा सकता

7 मार्च को निकलेगी लॉटरी:
प्रदेश भर में विभिन्न जिला मुख्यालय पर 7 मार्च को जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित समिति के सदस्यों के समक्ष 11:00 बजे लॉटरी निकाली जाएगी. लॉटरी निकालने की जानकारी और सूचना जिला कलेक्टर और संबंधित जिला आबकारी अधिकारी के नोटिस बोर्ड पर जल्द ही उपलब्ध होगी. 

एक व्यक्ति को एक ही दुकान का आवंटन:
आबकारी विभाग की ओर से यह नियम हर साल लागू होता है. इसमें यदि कोई व्यक्ति एक से अधिक समूह या दुकान का आवेदन करता है और 1 से अधिक समूह या दुकान में उसका चयन हो जाता है, तो उसे वह समूह आवंटन किया जाएगा, जिसके लिए सबसे कम आवेदन प्राप्त हुए हो. समूह/दुकानों हेतु समान संख्या में आवेदन प्राप्त होने पर ऐसे आवेदक को वह दुकान आवंटित की जाएगी जिस की वार्षिक राशि अधिक हो. 

वार्षिक बेसिक लाईसेंस फीस रहेगी ऐसी:
– जयपुर, जोधपुर- 26 लाख रुपए
– अन्य संभागीय मुख्यालय, माउंट आबू व जैसलमेर- 22 लाख रुपए
– जिला मुख्यालय अलवर, सीकर, भीलवाड़ा, पाली एवं गंगानगर- 16 लाख रुपए
– अन्य जिला मुख्यालय, नगरपालिका-नगरपरिषद कोटपुतली, ब्यावर, किशनगढ़, कुचामनसिटी, मकराना, देवली, रामगंजमंडी, झालारापाटन, भवानीमंडी, आबूरोड, बालोतरा, भीनमाल, गंगापुरसिटी, हिंडोनसिटी, निम्बाहेड़ा, फलौदी, सागवाड़ा एवं सूरतगढ़- 15 लाख रुपए
– अन्य नगरपालिकाएं (चतुर्थ श्रेणी की अन्य नगर पालिकाओं को छोड़कर)- 13 लाख रुपए
इस बार दो कैटेगरी में आवेदन शुल्क:
10 लाख रुपए तक निर्धारित वार्षिक राशि वाले समूह के लिए 25 हजार रुपए आवेदन शुल्क लगेगा. वहीं, 10 लाख रुपए से अधिक निर्धारित वार्षिक समूह वाले के लिए 30 हजार रुपए लगेगा.

आरक्षण पर फिर बढ़ा बवाल, राहुल गांधी ने कहा- बीजेपी-RSS के डीएनए को आरक्षण चुभता है

क्लब बार लाइसेंस फीस में बढ़ोतरी:
– जयपुर, जोधपुर एवं उदयपुर के सिविल क्लब – दो लाख रुपए (कोई परिवर्तन नहीं)
– अन्य स्थानों के सिविल क्लब – डेढ़ लाख रुपए (कोई परिवर्तन नहीं)
– जयपुर, जोधपुर एवं उदयपुर कॉमर्शियल क्लब- 6 लाख से बढ़ाकर 8 लाख रुपए
– अन्य स्थान के कॉमर्शियल क्लब- 4 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपए

अंग्रेजी शराब की दुकानें- 1000
देशी शराब की दुकानें- 6665

बिक्री का समय- सुबह 10 से शाम 8 बजे तक:
पांच ड्राई डे : गणतंत्र दिवस, महात्मा गांधी की पुण्यतिथि, महावीर जयंती, स्वतंत्रता दिवस और महात्मा गांधी जयंती

कम बेची तो लगेगा जुर्माना:
वर्ष 2019-20 के त्रैमासिक उठाव की तुलना में वर्ष 2020-21 के उसी त्रैमासिक उठाव में न्यूनतम 10 प्रतिशत से कम वृद्धि देने वालों पर पेनल्टी लगेगी. यह भारत निर्मित विदेशी मदिरा की मात्रा पर 20 प्रतिशत प्रति बल्क लीटर और बीयर की मात्रा पर 10 प्रतिशत प्रति बल्क लीटर होगा. 

बहन के साथ टिक टॉक पर वीडियो वायरल करने पर भाई ने युवक को किया निर्वस्त्र, सड़क पर घुमाया

गोदाम, दुकानों पर जीओ टैग:
अक्सर स्कूल, धार्मिक स्थलों के पास दुकान को लेकर जनता विरोध में उतर आती है. इससे बचने के लिए अब सभी गोदामों, दुकानों के लोकेशन ऑनलाइन ही स्वीकृत होंगे. उन पर जीओ टैग के कॉडिनेट डाटा को ऑनलाइन फीड कर स्कूल, धार्मिक स्थल, आंगनवाड़ी, अस्पताल आदि को शामिल कर दूरी देखी जाएगी. वहीं, अब आंगनवाड़ी के पास भी दुकानें नहीं खोली जाएगी. अब मदिरा उत्पादन, निकासी को इलेक्ट्रानिक तरीके से ट्रेक एवं ट्रेस किया जाएगा. होलोग्राम से युक्त क्युआर कोड से सूचना जुटाई जाएगी. 

होलसेल व आउटलेट होंगे शुरू:
विदेशों से आयातित मदिरा की तस्करी रोकने के लिए राज्य में इनकी उपलब्धता को आसान बनाया जाएगा. राजस्थान स्टेट ब्रेवरेज कारपोरेशन लिमिटेड अथवा उसके फ्रेंचाईजी की ओर से जयपुर जिले में आयातित विदेशी मदिरा के हॉलसेल बॉड संचालित किए जाएंगे. आरएसबीसीएल, पर्यटन निगम और गंगानगर शुगर मिल फ्रैंचाईजी की ओर से राज्य में अन्य स्थानों पर भी आउटलेट शुरु होंगे.


 

और पढ़ें