नई दिल्ली: दिल्ली सरकार का केंद्र से आग्रह: DRDO जैसे कोविड सेंटर बनाने में सेना मदद करे और पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भी दी जाए

दिल्ली सरकार का केंद्र से आग्रह: DRDO जैसे कोविड सेंटर बनाने में सेना मदद करे और पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भी दी जाए

दिल्ली सरकार का केंद्र से आग्रह: DRDO जैसे कोविड सेंटर बनाने में सेना मदद करे और पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भी दी जाए

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना से हालात बदतर होते जा रहे हैं. हर दिन 20 हजार से ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं. इस बीच उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Deputy Chief Minister Manish Sisodia) ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) को चिट्‌ठी लिखी है. इसमें दिल्ली में जरूरत के मुताबिक ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की मांग की गई है. साथ ही कहा है कि यहां DRDO ने जिस तरह एक अस्पताल बनाया है वैसे ही और अस्पताल बनाने में सेना हमारी मदद करे.

कोर्ट की फटकार के बाद मांगी सेना की मदद:
दो दिन पहले, यानी शनिवार को ही हाईकोर्ट (High Court) ने दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई, बेड और दवाओं की कमी को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई की थी. इस दौरान कोर्ट ने केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) को जमकर फटकार लगाई थी. साथ ही कहा था कि कोविड से निपटने के लिए उसने सेना की मदद क्यों नहीं ली. इसके बाद ही दिल्ली सरकार की ओर से केंद्र से मदद मांगी गई.

हाईकोर्ट ने कहा- केंद्र सरकार जल्द जवाब दे:
इसके अलावा दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से सेना मांगने की जानकारी भी हाईकोर्ट को दे दी है. इधर, हाईकोर्ट ने केंद्र को जल्द से जल्द जवाब देने को कहा है. इस पर कोर्ट में मौजूद एडिशनल सॉलिसिटर जनरल चेतन शर्मा (Additional Solicitor General Chetan Sharma) ने कहा कि वे इस संबंध में केंद्र से निर्देश लेंगे.

केंद्र ने कहा- दिल्ली सरकार नहीं कर पा रही तो वह बताए:
इस मामले रविवार को सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने केंद्र की तरफ से हाईकोर्ट में पक्ष रखा था. केंद्र का कहना है कि दिल्ली सरकार अगर जिम्मेदारी नहीं संभाल पा रही तो बताए, हम उपराज्यपाल (Lieutenant Governor) को जिम्मेदारी सौंप सकते हैं. केंद्र की टिप्पणी तब आई थी, जब कोर्ट ने कहा था कि आपने कुछ दिन पहले दिल्ली सरकार का मतलब उपराज्यपाल बताया है.

कम ऑक्सीजन मिलने की शिकायत:
उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का कहना है कि रविवार को भी दिल्ली को 440 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है. जबकि 590 मीट्रिक टन कोटे की ऑक्सीजन तय है. हमें रोजाना 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरुरत है. उन्होंने कहा कि बेडों की संख्या भी बढ़ाई जा रही है. इस बीच, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कोविड के हालात पर सोमवार को अधिकारियों के साथ एक बैठक भी कर रहे हैं.

पिछले दो दिन से 400 से ज्यादा मौत हो रहीं:
दिल्ली में हालात सुधारने की बजाय लगातार बिगड़ रहे है. यहां पिछले कई दिनों से हर दिन 20 हजार से ज्यादा केस आ रहे हैं. वहीं, पिछले दो दिन से 400 से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है. आंशिक लॉकडाउन (Partial Lockdown) के बाद भी यहां स्थिति सुधर नहीं रही. दिल्ली में फिलहाल सबसे बड़ी चिंता ऑक्सीजन की है. लोग बेड और अस्पताल के लिए भटकने पर मजबूर हैं.

और पढ़ें