COVID-19 संक्रमण को लेकर दिल्ली सरकार अलर्ट मोड पर, बुलाई आपात बैठक; पंजाब में नाइट कर्फ्यू का समय बढ़ा

COVID-19 संक्रमण को लेकर दिल्ली सरकार अलर्ट मोड पर, बुलाई आपात बैठक; पंजाब में नाइट कर्फ्यू का समय बढ़ा

 COVID-19 संक्रमण को लेकर दिल्ली सरकार अलर्ट मोड पर, बुलाई आपात बैठक; पंजाब में नाइट कर्फ्यू का समय बढ़ा

नई दिल्ली: देश में कोरोना की दूसरी लहर की आहट के बीच वैक्सीनेशन प्रोग्राम ने भी तेजी पकड़े हुए है. किंतु कोरोना ने अपना कहर लगातार जारी रख रखा है. ऐसे में जहां महाराष्ट्र, यूपी, पंजाब सहित देश के कई राज्यों में कर्फ्यू लगाया गया है वही पर कई राज्यों में पूर्व से चल रहे कर्फ्यू के समय में भी बढ़ोतरी  की गई है. ऐसे में सभी राज्य सरकारें कोरोना संक्रमण को लेकर लगातार चिंतित तो है ही वही पर लगातार बैठकों का दौर भी जारी है. इसी के मद्देनजर केजरीवाल सरकार ने भी एक बैठक बुलाई है.

सुखबीर बादल की रिर्पोट आई पॉजिटिव:
शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल की कोरोना रिपोर्ट बुधवार को पॉजिटिव आई थी. गुरुवार को बादल निवास पर काम करने वाले तीन कर्मचारियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई. जिन्हें होम क्वारैंटाइन किया गया है. सुखबीर को मेदांता दिल्ली में भर्ती कराया गया है. अब पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल भी दिल्ली शिफ्ट होने जा रहे हैं. हालांकि उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है, लेकिन एहतियातन उन्हें उनके दिल्ली निवास पर ले जाया जा रहा है.

पंजाब के 9 जिलों में नाइट कर्फ्यू के समय में बढ़ोतरी:
बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए पंजाब के 9 जिलों में नाइट कर्फ्यू के समय में बढ़ोतरी कर दी गई है. पहले यहां रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया था. अब इस बढ़ाकर रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर दिया गया है. आपकों बता दे कि पंजाब के लुधियाना, जालंधर, पटियाला, मोहाली, अमृतसर, गुरदासपुर, होशियारपुर, कपूरथला और रोपर जिलों में नाइट कर्फ्यू के समय में बढ़ोतरी की गई है.यहां पिछले कई दिनों से रोजाना 100 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं.

केजरीवाल सरकार ने बुलाई आपात बैठक:
उधर दिल्ली में कोरोना को लेकर केजरीवाल सरकार अलर्ट मेाड पर आ गई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को आपात बैठक बुलाई है. बैठक में दिल्ली में बढ़ते संक्रमण पर चर्चा की जाएगी तथा कर्फ्यू  लगाने पर भी विचार विमर्श ​किया जाएगा. इसमें स्वास्थ्य सचिव और अन्य सीनियर अधिकारी सरकार को मौजूदा हालात की समीक्षा कर बताएंगे. इससे पहले दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि अभी फिक्र करने की बात नहीं है. दिल्ली की पॉजिटिविटी दर 1% से कम है और यहां पर अधिक से अधिक लोगों का टेस्ट किया जा रहा है. इधर कोरोना के केस बढ़ने के साथ ही सड़कों पर सख्ती नजर आने लगी है.

और पढ़ें