पटाखों की बिक्री पर दिल्ली हाईकोर्ट का बयान, कहा- सुप्रीम कोर्ट, NGT दिल्ली नहीं देता है दिवाली पर पटाखें चलाने की अनुमति

पटाखों की बिक्री पर दिल्ली हाईकोर्ट का बयान, कहा- सुप्रीम कोर्ट, NGT दिल्ली नहीं देता है दिवाली पर पटाखें चलाने की अनुमति

पटाखों की बिक्री पर दिल्ली हाईकोर्ट का बयान, कहा- सुप्रीम कोर्ट, NGT दिल्ली नहीं देता है दिवाली पर पटाखें चलाने की अनुमति

नई दिल्ली: दिल्ली हाइकोर्ट ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण और उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार राष्ट्रीय राजधानी में पटाखों की बिक्री की अनुमति नहीं है. 

सभी प्रकार के पटाखों के भंडारण और बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध के खिलाफ विभिन्न व्यापारियों की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति संजीव सचदेव ने कहा कि याचिकाकर्ता को किसी भी राहत के लिए सुप्रीम कोर्ट या हरित अधिकरण जाना होगा. न्यायमूर्ति ने कहा कि कृपया सुप्रीम कोर्ट के पास जाएं. सुप्रीम कोर्ट पहले से ही इस मामले में आज सुनवाई कर रहा है, स्पष्टीकरण लें. (हाइकोर्ट) गलत मंच है, राष्ट्रीय हरित अधिकरण को सूचित करें. वे विशेषज्ञ हैं. दिल्ली के बाहर उपयोग के लिए अपने गोदाम में पड़े पटाखे बेचने की अनुमति मांगने वाले व्यापारियों ने न्यायमूर्ति सचदेव की बात सुनने के बाद अपनी याचिका वापस ले ली. अदालत ने कहा कि अगर कोई क्षेत्र ‘ए’ से आता है जहां वायु गुणवत्ता अच्छी है, और इसकी (पटाखों) बिक्री दिल्ली में होगी, यह उच्चतम न्यायालय और एनजीटी के आदेश के विपरीत है. 

उन्होंने कहा कि पहली नजर में एनजीटी और सुप्रीम कोर्ट के आदेश याचिकाकर्ताओं के रास्ते में आ रहे हैं. विकल्प यह है कि उसे (पटाखे) दिल्ली के बाहर बेचा जाए (जहां इसकी कानूनी अनुमति है). यह ध्यान में रखते हुए कि महज तीन दिन बाद दीवाली है, अदालत ने इस स्पष्टीकरण के साथ याचिकाकर्ताओं को इसे वापस लेने की अनुमति दी है कि उसके समक्ष उठाए गए मुद्दे और पूर्ण प्रतिबंध की कानूनी वैधता को दी गई चुनौती का मामला अभी चल रहा है, बंद नहीं हुआ है. सोर्स-भाषा
 

और पढ़ें