संक्रमितों को दिल्ली सरकार ने दिया तोहफा, अब होम डिलीवरी होगी ऑक्सीजन, करना होगा ऑनलाइन आवेदन

संक्रमितों को दिल्ली सरकार ने दिया तोहफा, अब होम डिलीवरी होगी ऑक्सीजन, करना होगा ऑनलाइन आवेदन

संक्रमितों को दिल्ली सरकार ने दिया तोहफा, अब होम डिलीवरी होगी ऑक्सीजन, करना होगा ऑनलाइन आवेदन

नई दिल्ली: देश में कोरोना ने अपना कहर तो बरपा ही रखा है वही इस दूसरी लहर (Second Wave) में संक्रमितों को ऑक्सीजन की किल्लत से भी जूझना पड़ रहा है. ऐसे में दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) ने घर पर आइसोलेशन में रहकर अपना इलाज करवा रहे संक्रमितों के लिए बडी राहत का ऐलान किया है. उनको अब ऑक्सीजन के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा और उनकों घर पर ही सरकार ऑक्सीजन मुहैया करवाएगी.

ऑनलाइन करना होगा आवेदन:
कोरोना महामारी में दिल्ली के अस्पतालों में बिगड़ते हालातों और ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी के बीच केजरीवाल सरकार ने एक बड़ी राहत का ऐलान किया है. सरकार ने कहा है कि होम आइसोलेशन (Home Isolation) में कोरोना के जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है वे सरकार की वेबसाइट delhi.gov.in पर आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए वैलिड फोटो आईडी, आधार कार्ड की डिटेल्स और कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट देनी होगी.

ऑक्सीजन सप्लाई का दिल्ली मॉडल:
होम आइसोलेशन में अगर मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है तो वे https://delhi.gov.in/ पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन (Registration) करवा सकते हैं. रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, या कोई वैध फोटो आईडी, कोविड पॉजिटिव रिपोर्ट, सीटी स्कैन जैसे दूसरे डॉक्यूमेंट भी सबमिट करने होंगे. ऑक्सीजन के लिए मिलने वाले ऑनलाइन आवेदनों (Online Applications) की जांच के लिए संबंधित DM पर्याप्त कर्मचारियों की ड्यूटी लगाएंगे. ये कर्मचारी प्रायरिटी (Priority) के आधार पर आवेदकों को ई-पास (E-Pass) जारी करेंगे.

ऑक्सीजन लेने में गलत पाए गए तो होगी कार्रवाई:
केजरीवाल सरकार ने इस राहत के​ बीच ये भी कहा है कि यदि कोई भी व्यक्ति इस राहत का गलत या नाजायज फायदा (Illegitimate Advantage) उठाता पकडा गया और दोष सिद्ध हो गया तो उस व्यक्ति पर सरकार कड़ी कार्रवाई (Strict Action) करेगी. इतना ही नहीं उसे इस योजना से ब्लैकलिस्ट भी कर सकती है. ऐसा इसलिए क्योकि देश में इस संकट के ​बीच ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesiveer Injection) को लेकर कालाबाजारी (Black Marketing) की खबरें लगातार सामने आ रही है. केजरीवाल सरकार का तसके पिछे तर्क है कि इस संकट काल में ये प्राणवायू उन्हें ही मिले जिनकों वास्तव में इसकी दरकार है. 

और पढ़ें