देवदर्शन यात्रा: वसुंधरा राजे ने दोहराई अटल जी की कविता, कहा-अंधेरा छटेगा, कमल खिलेगा

 देवदर्शन यात्रा: वसुंधरा राजे ने दोहराई अटल जी की कविता, कहा-अंधेरा छटेगा, कमल खिलेगा

जयपुर/भरतपुर: आज राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे का जन्मदिन हैं. राजे ​जन्मदिन के मौके पर देवदर्शन यात्रा पर हैं. इस मौके पर वसुंधरा राजे ने अटल जी की कविता दोहराई. राजे ने कविता दोहराते हुए कहा कि अंधेरा छटेगा, कमल खिलेगा. वहीं राजे ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य सरकार धर्म नीति पर नहीं राजनीति पर विश्वास करती. 

ये शक्ति नहीं, भक्ति प्रदर्शन है:

वसुंधरा राजे ने देव दर्शन यात्रा को लेकर बड़ा बयान दिया हैं. राजे ने कहा कि कई लोगों ने कहा कि मैं शक्ति प्रदर्शन कर रहीं हूं, ये शक्ति नहीं भक्ति प्रदर्शन है. इस कार्यक्रम में राजनीति नहीं, धर्म नीति हैं. राजमाता ने ही धर्म नीति पर चलने को कहा. राजे ने कहा कि मुझे 36 साल सेवा का मौका मिला. इस दौरान 36 कौम ने हमारा साथ दिया. लड़ाई झगड़े से विकास नहीं होता. सबके विकास में ही अपना विकास हैं. 

आदि बद्रीनाथ मंदिर में की पूजा अर्चना:

जन्मदिन के मौके पर वसुंधरा राजे ने आदि बद्रीनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की. उसके बाद अलवर में मिल्क केक काटा गया.  अनिता सिंह ने कार्यक्रम की मेजबानी की. सांसद निहालचंद, रामचरण बोहरा उपस्थित रहे. अशोक परनामी, राजपाल सिंह शेखावत, यूनुस खान, पूर्व मंत्री डॉ.रोहिताश्व शर्मा और विधायक हरेंद्र निनामा भी मौजूद रहे. कृष्णेन्द्र कौर दीपा और जगत सिंह सपरिवार मौजूद रहे. अन्य नेताओं में बाबू सिंह राठौड़, विजय बैंसला, भूरा भगत, मोहनलाल गुप्ता, धनसिंह रावत, शैलेश सिंह, महेन्द्र शेखावत, पूर्व IPS महेंद्र चौधरी, भजनलाल रोलन, राजेन्द्र मीणा, गिरधारी तिवारी, विजय बंसल, हरिसिंह रावत समेत कई पूर्व विधायक नेता कार्यकर्ता पदाधिकारी मौजूद रहे. 

और पढ़ें