धौलपुर Dholpur: नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में दोषी को 20 वर्ष के कठोर कारावास की सजा

Dholpur: नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में दोषी को 20 वर्ष के कठोर कारावास की सजा

Dholpur: नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में दोषी को 20 वर्ष के कठोर कारावास की सजा

धौलपुर: जिले के विशेष न्यायालय पॉक्सो एक्ट (POCSO Court) ने महिला पुलिस थाना में वर्ष 2020 में घर के आंगन में सो रही 14 वर्षीय नाबालिग के साथ जबरन दुष्कर्म (Rape) करने के मामले में एक मुल्जिम को दोषी करार देते हुए उसे 20 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई है. पॉक्सो कोर्ट के न्यायाधीश जमीर हुसैन ने सजा सुनाते हुए मुल्जिम अजय पुत्र हरी सिंह जाटव को आईपीसी की धारा 376 और पॉक्सो एक्ट की धारा 3/4 में 20 वर्ष का कठोर कारावास और पचास हजार रुपए का जुर्माना, आईपीसी की धारा 450 में दस वर्ष का कठोर कारावास और दस हजार रुपए का जुर्माना लगाया है.

साथ ही आईपीसी की धारा 506 में दो वर्ष का कारावास और पांच हजार रुपए के जुर्माने से दण्डित किया है. सभी सजाएं एक साथ चलेगी और 65 हजार जुर्माना राशि में से पचास हजार रुपए पीड़िता को दिए जाएंगे. विशेष न्यायालय पॉक्सो एक्ट के लोक अभियोजक संतोष मिश्रा ने बताया कि मामला धौलपुर (Dholpur) जिले के महिला पुलिस थाना इलाके का है. जहां जनवरी 2020 को मामला दर्ज हुआ. जिसमे बताया गया कि 14 वर्षीय नाबालिग पुत्री घर पर अकेली थी और परिजन घर पर नहीं थे.

तभी पड़ौस में करीब चार माह से रह रहा अजय पुत्र हरी सिंह दोपहर को घर पर आया और आंगन में सो रही नाबालिग को जबरन पकड़ कर कमरे में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. आरोपी ने पीड़िता को धमकी भी दी कि अगर किसी को इस बारे में बताया तो तेरे परिजनों को जान से मार दूंगा. पुलिस ने मामला दर्ज कर नाबालिग का रेप सम्बन्धी मेडीकल कराया और पीड़िता के बयान दर्ज किए गए.

65 हजार जुर्माना राशि लगाई:

महिला थाना एसएचओ यशपाल सिंह ने मुल्जिम अजय को गिरफ्तार कर पॉक्सो न्यायालय में पेश किया जो न्यायिक अभिरक्षा में चल रहा है. पुलिस की और से मुल्जिम के विरुद्ध आरोप पत्र पॉक्सो न्यायालय में पेश किया लोक अभियोजक मिश्रा ने बताया गवाह, सबूत और साक्ष्यों के आधार पर पॉक्सो कोर्ट के न्यायाधीश जमीर हुसैन ने बहस सुनने के बाद मुल्जिम को 20 वर्ष का कठोर कारावास और 65 हजार जुर्माना राशि में से पचास हजार रुपए पीड़िता को दिए जाएंगे.

और पढ़ें