बंगाल चुनाव में दीदी की सौगात: दिल्ली की तर्ज पर घर-घर राशन योजना होगी लागू, गरीबों को मिलेंगे 6 हजार रूपयें सालाना

बंगाल चुनाव में दीदी की सौगात: दिल्ली की तर्ज पर घर-घर राशन योजना होगी लागू, गरीबों को मिलेंगे 6 हजार रूपयें सालाना

बंगाल चुनाव में दीदी की सौगात: दिल्ली की तर्ज पर घर-घर राशन योजना होगी लागू, गरीबों को मिलेंगे 6 हजार रूपयें सालाना

कोलकाता: पश्चिम बंगाल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर राजनीतिक पार्टियां मतदाता को लुभाने की पुरजोर कोशिश कर रही है. वही पर TMC का गढ़ कहे जाने वाले बंगाल में TMC सु​प्रिमों ममता बेनर्जी ने पार्टी का घोषण पत्र जारी किया है. घोषणा पत्र में मतदात्ताओं को लूभाने के लिए दीदी ने सौंगात दी है.

TMC सभी को साथ लेकर चलना चाहती है:
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC की चीफ ममता बनर्जी ने बुधवार को चुनाव के लिए अपनी पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने लोगों को रोजगार दिया है. लोगों की आमदनी बढ़ी है. हम सभी को साथ लेकर चलना चाहते हैं. यह घोषणा पत्र मां माटी और मानुष के लिए है. उन्होंने गरीबों को 6 हजार रुपए सालाना देने की घोषणा की. ममता ने अपनी पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुए जनता से घर-घर राशन पहुंचाने का वादा किया है.

छोटे उद्योगों में सबसे ज्यादा नौकरियां दी है:
ममता ने कहा कि हमने छोटे उद्योगों में सबसे ज्यादा नौकरियां पैदा कीं, जबकि देश भर में बेरोजगारी की दर बढ़ गई है. हमने किसानों के लिए काम किया. हमारी कोशिश है कि लोगों को गरीबी से बाहर निकाला जाए. उन्होंने दिल्ली सरकार की तर्ज पर घर-घर राशन योजना शुरू करने का ऐलान किया. साथ ही कहा कि विधवा महिलाओं को 1 हजार रुपए दिए जाएंगे.

ममता के चोटिल होने के कारण समय पर नहीं हो पाई घोषणा:
आपकों बता दे कि दीदी के पिछले दिनों चोटिल हो जाने के कारण समय पर पार्टी की घोषणा नहींं हो पाई थी. सबसे पहले घोषणा पत्र 11 मार्च को जारी किया जाना था. लेकिन ममता के घायल होने के बाद इसे टाल दिया गया. दूसरी बार 14 मार्च को घोषणा का कार्यक्रम तय किया गया था. लेकिन इस बार भी किसी कारणवश तारीख को आगे बढ़ा दिया गया.

ममता को चुनाव रैली के दौरान नंदीग्राम में चोट लगी थी:
ममता 10 मार्च की शाम नंदीग्राम में घायल हुई थीं. उन्हें पैर में चोट लगी थी. इस घटना के बाद उन्हें कोलकाता के SSKM हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. घटना के दिन ही उन्होंने नंदीग्राम से नामांकन दाखिल किया था. घटना के बाद ममता ने आरोप लगाया था कि किसी ने उन्हें धक्का दिया, इसी वजह से पैर में चोट लगी.

और पढ़ें