लॉस एंजिलिस SARS-CoV-2 के अलग-अलग स्वरूपों के लक्षण संभवत: अलग-अलग होते हैं- Study

SARS-CoV-2 के अलग-अलग स्वरूपों के लक्षण संभवत: अलग-अलग होते हैं- Study

 SARS-CoV-2 के अलग-अलग स्वरूपों के लक्षण संभवत: अलग-अलग होते हैं- Study

लॉस एंजिलिस: SARS-CoV-2 के अलग-अलग स्वरूपों के मरीजों में संक्रमण के लक्षण संभवत: अलग-अलग होते हैं. एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है.अमेरिका में सदर्न कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ता यह जानना चाहते थे कि क्या विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों के मरीजों में या अलग स्वरूप के मरीजों में कोविड-19 के लक्षण भी अलग-अलग हैं. उन्होंने बताया कि संक्रामित की चपेट में आने के साथ ही उत्पन्न लक्षणों की पहचान करने से यह पता लगाने में मदद मिल सकती है कि मरीज किस स्वरूप से संक्रमित है, जिससे बीमारी के प्रसार को भी कम किया जा सकता है. 

अमेरिका में संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण चीन की तुलना में अलग थे:

पत्रिका ‘पीएलओएस कम्प्यूटेशनल बायोलॉजी’ में प्रकाशित अध्ययन में एक ‘मॉडल’ तैयार करके जनवरी से मई 2020 के बीच अमेरिका में 373,883 मामलों में लक्षण क्रम का अनुमान लगाने की कोशिश की गई. अध्ययन में पाया गया कि अमेरिका में संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण चीन की तुलना में अलग थे, जहां रोगियों में पहला लक्षण बुखार, दूसरा खांसी और मतली या उल्टी एक सामान्य तीसरा लक्षण था. वहीं, अमेरिका में खांसी सबसे पहला सामान्य लक्षण और दस्त तीसरा लक्षण था. ब्राजील, हांगकांग और जापान के अतिरिक्त डेटा का विश्लेषण कर अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि लक्षणों का अलग होना भौगोलिक क्षेत्र, मौसम या रोगी विशेषताओं से नहीं, बल्कि सार्स-सीओवी-2 के स्वरूप से जुड़ा था.

संक्रमित लोगों को बुखार होने से पहले खांसी होने की अधिक आशंका:

कोरोना वायरस का स्वरूप ‘डी614जी’, जिसके मामले 2020 की शुरुआत में अमेरिका अधिक सामने आ, उससे संक्रमित लोगों में सबसे पहला लक्षण खांसी होने का अनुमान है. वहीं, जैसे ही चीन के वुहान से ‘डी614जी’ स्वरूप जापान पहुंचा, तो उसमें लक्षण बदल गए. उन्होंने कहा, इन निष्कर्षों से संकेत मिलता है कि वायरस के उत्परिवर्तित होने के साथ ही लक्षण का क्रम बदल सकता है और इससे यह आशंका बढ़ जाती है कि ‘डी614जी’ स्वरूप अधिक फैल सकता है, क्योंकि इससे संक्रमित लोगों को बुखार होने से पहले खांसी होने की अधिक आशंका है.’’ सोर्स- भाषा

और पढ़ें