जयपुर Digital Baal Mela: ठीकरिया के बच्चों ने बड़ी संख्या में बताया कैसी हो बच्चों की सरकार, बाल राजनीति में शामिल होने को है तैयार

Digital Baal Mela: ठीकरिया के बच्चों ने बड़ी संख्या में बताया कैसी हो बच्चों की सरकार, बाल राजनीति में शामिल होने को है तैयार

Digital Baal Mela: ठीकरिया के बच्चों ने बड़ी संख्या में बताया कैसी हो बच्चों की सरकार, बाल राजनीति में शामिल होने को है तैयार

जयपुर: फ्यूचर सोसाइटी और एलआईसी द्वारा प्रायोजित एवं आईडीबीआई बैंक के सह प्रायोजन से Digital Baal Mela season 2 देशभर में सफलता पा रहा है, ऐसे में सीकर के ग्रामीण क्षेत्र ठीकरिया से भी बच्चों ने बड़ी संख्या में इस अभियान में हिस्सा लिया. बच्चों की सरकार कैसी हो में बच्चों ने अपनी सरकार के बारें में बात करते हुए अपने विचार साझा किए तो वही अपने सुझाव दिये अपने मन की बात डिजिटल बाल मेला के जरिए बताई. 

ऐसे में ठीकरिया के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों ने मोदी सरकार की योजनाओं पर बात की. बच्चों ने ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की पूरी व्यवस्था के साथ ही कम्प्यूटर प्रशिक्षण पर बात की. ताकि बच्चे तकनीकी की दुनिया में भी कमाल कर सकें. बच्चों ने स्कूलों में खेल-कूद की व्यवस्थाओं पर भी बात की. ठीकरिया के नितेश स्पोर्टस में अपना ​करियर बनाना चाहते है,तो वही ज्योति महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा के लिए काम करना चाहती है. 

बच्चों ने बाल राजनी​ति में आने के लिए भी उत्साहिता दिखाई. ऐसे में ठीकरिया के अमित और अनिता प्रधानमंत्री बनकर देश के विकास करने में अपना योगदान देना चाहते है. इसी तरह ठीकरिया के अन्य बच्चों ने डिजिटल बाल मेला के बच्चों की सरकार कैसी हो में अपने सुझाव दिये. तो वही राजनीति में आने के लिए भी अपनी इच्छा जाहिर की।वही देश के प्रत्येक बच्चे को अभियान से जुड़ने की अपील की.

अब ठीकरिया के बच्चों की तरह आप भी डिजिटल बाल मेला को 30 अगस्त तक अपनी वीडियो एंट्री भेज सकते है. बच्चों की सरकार कैसी हो' में अपने विचार साझा करते हुए सरकार से अपना सवाल कर सकते है, अपनी राय दे सकते है, अपना कोई भी सुझाव बता सकते है. ऐसे में यदि आपको प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री बनने का मौका मिले तो आप देश के लिए क्या करेंगे,क्या नीतियां, क्या योजनाएं बनाएंगे के बारें में बता सकते हैं.

बच्चे डिजिटल बाल मेला को वेबसाइट http://www.digitalbaalmela.com/ और  व्हॉटसअप/टेलीग्राम 8005915026 पर अपना वीडियो भेज सकते है. इसी के साथ बच्चे डिजिटल बाल मेला की क्विज और डिबेट प्रतियोगिता में भी भाग लेकर अपना हूनर दिखाएं. जिसके बाद 14 नवंबर को विजेता बच्चों को राजस्थान विधानसभा जाने का सुनहरा मौका मिलेगा.

Digital Baal Mela 2021 की डि​बेट/क्विज प्रतियोगिता में ऐसे लें भाग:
डिबेट और क्विज के बारे में जानने के बाद बच्चों के मन में सबसे बड़ा सवाल यही आता है कि वो कैसे इस प्रतियोगिता में भाग लेकर सरकार से अपने मन की बात कर सकते है. तो बच्चे अब चिंता ना करें. वाद-विवाद प्रतियोगिता में शामिल होने की प्रतियोगिता बिल्कुल सरल है.तो आइए जानते है बच्चे कैसे रखें अपना पक्ष:-

- इस प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए बच्चों को अपना वीडियो बनाना होगा.
- 6 से 16 साल के बच्चे डिजिटल बाल मेला को अपना वीडियो भेजे.
- वीडियो को डिजिटल बाल मेला के सोशल प्लेटफॉर्म पर भेजना होगा.
- बच्चे अपना वीडियो वेबसाइट www.digitalbaalmela.com व्हॉटसअप/टेलीग्राम 8005915026 पर भेज सकते है. बता दें वीडियो में किसी प्रकार की समय पाबंदी नहीं है लेकिन बच्चों को वीडियों में विषय से संबंधित तथ्यों पर बात करना जरूरी है. अपनी बात कहने के साथ वीडियों में बच्चे अपने नाम के साथ स्कूल और शहर का नाम जरूर जोड़े. वही वीडियो में बच्चे #BacchoKiSarkaarKaisiHo मेंशन करें.

15 जून से शुरू हुआ डिजिटल बाल मेला का सीजन 2 सफर:
डिजिटल बाल मेला सीजन 2 का सफर 15 जूून से शुरू हुआ. बच्चे अपने वीडियोज भेजने के साथ ही हर दिन राजनेताओं से राजनीति के विशेष मुद्दों पर चर्चा कर रहे है. ऐसे में अब बाल मेला का ये सफर बच्चों का सरकार और राजनीति में ज्ञानवर्धन करने के लिए एक अहम भूमिका निभा रहे है, जिसमें देशभर के बच्चे राजनेताओं से सीधा संवाद कर उनका अनुभव जान रहे है तो वही उनकी योजनाओं के बारें में भी सीधी बात कर रहे है. कैबिनेट मंत्री बीडी कल्ला, परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास,महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, विधानसभा मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी जैसे अनेक मंत्रियों, सांसदों,विधायकों के साथ बच्चे अब तक गूगल मीट के जरिऐ लाइव संवाद कर चुके है. जिसमें हर एक राजनेता ने बच्चों का उत्साह बढ़ाया है तो वही उन्हें राजनीति के हर विषय से परिचित कराया जा रहा है.

और पढ़ें