बिजली चोरों पर टूटा डिस्कॉम कार्रवाई का कहर, पकड़े गए चोरी के 475 केस

बिजली चोरों पर टूटा डिस्कॉम कार्रवाई का कहर, पकड़े गए चोरी के 475 केस

नागौर: लगातार घाटे और बिजली छीजत से परेशान डिस्कॉम ने नागौर सर्किल में विद्युत चोरी पकड़ने के लिए अभियान की शुरुआत कर सख़्ती से पेश आ रही है.कोरोना की वजह से लॉकडाउन और राजनीतिक सरगर्मियों के बीच बिजली चोर बेखौफ हो गए हैं.इस दौरान अजमेर डिस्कॉम की नागौर वृत की 41 टीमों ने 1061 जगह पर जांच की, उनमें से 475  जगहों पर बिजली चोरी होती मिली है.

41 टीमों ने जिलेभर में कार्रवाई की:
डिस्कॉम के अधीक्षण अभियंता नागौर आर बीसिंह के मुताबिक अजमेर डिस्कॉम के एमडी के निर्देश पर नागौर वृत मे सर्तकता टीमों ने कई स्थानो पर बडी कारवाई करते हुए टीमों द्वारा 1061 जगहों पर विधुत जांच की गई, जिसमें से 475 स्थानों पर विद्युत चोरी पकड़ी गई और एक करोड़ 16 लाख 52 हजार का विद्युत चोरों पर जुर्माना भी लगाया गया है खींवसर नंदवानी पांचला सिद्धा रुण सहित अन्य इलाकों में 12 अवैध ट्रांसफार्मर को भी जब्त किया गया है. इस कार्यवाही मे अधीक्षण अभियंता आर बी सिंह स्वयं मैदान में उतरे और सहायक अभियंता एव कनिष्ठ अभियंता की 41 टीमों ने जिले भर में कार्रवाई की गई है.

अनलॉक 2.0 में हवाई सेवा बढ़ाने की कवायद, 7 नए शहरों को जोड़ेंगी एयरलाइन

बिजली चोरों पर लगाम:
पूर्व में 43 अवैध ट्रांसफार्मर को जब्त किया जा चुका है. करीब 4 करोड का जुर्माना लगा चुके है नागौर अधीक्षण अभियंता आर बी सिंह ने बताया कि विभाग ने अब तक 4 करोड़  रुपये का जुर्माना लगाया जा चुका  है, जिसमें से  कई लोगों के खिलाफ पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई गई है. आपको बता दे कि नागौर जिले के जिम्मेदार अधिकारी की लंबे समय से विद्युत कनेक्शन एवं अन्य कार्य में व्यस्तता के चलते विद्युत चोरी को लेकर सुस्त हो गए थे. लॉकडाउन के बाद विद्युत कनेक्शन अन्य कार्य में भी कमी आ गई. साथ ही विद्युत लोड बढ़ने के चलते आपूर्ति में व्यवधान होने की शिकायत होने लगी तो जिम्मेदार अधिकारियों और कार्मिकों ने चोरी पकड़ने के लिए अभियान शुरू किया है. अब विद्युत विभाग नागौर विद्युत चोरों पर भी लगाम कसने में कामयाब होते नजर आ रहे हैं. 

जलदाय अधिकारियों के भ्रष्टाचार के कारनामे, बिना काम किए ही ठेकेदारों को दिया जा रहा पेमेंट

और पढ़ें