भाजपा के मुख्यमंत्रियों को बदलने की चर्चा! लेकिन पार्टी नेतृत्व चाह कर भी नहीं कर पा रहा बदलाव

भाजपा के मुख्यमंत्रियों को बदलने की चर्चा! लेकिन पार्टी नेतृत्व चाह कर भी नहीं कर पा रहा बदलाव

नई दिल्ली: भाजपा में तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों को बदलने की चर्चाएं समय-समय पर चलती रही है. लेकिन पार्टी नेतृत्व चाह कर भी बदलाव नहीं कर पा रहा है. कर्नाटक में मुख्यमंत्री बदलने की चर्चा कई महीनों से चल रही है. लेकिन लिंगायत समुदाय के सर्वमान्य नेता के तौर पर येदियुरप्पा को साइडलाइन करना काफी मुश्किल है. 

येदियुरप्पा ने कहा- एक दिन के लिए भी मैंने इसकी चिंता नहीं की: 
खुद येदियुरप्पा ने भी नेतृत्व परिवर्तन के सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि मेरी सरकार के पिछले डेढ़ साल में एक दिन के लिए भी मैंने इसकी चिंता नहीं की. मेरा ध्यान अपने काम और विकास पर केंद्रित है. इन बातों का कोई असर नहीं हुआ. इससे पहले भाजपा महासचिव व राज्य के प्रभारी अरुण सिंह ने स्पष्ट किया कि अगले ढाई साल तक कोई समस्या नहीं है और येदियुरप्पा मुख्यमंत्री बने रहेंगे. हालांकि, प्रदेश भाजपा ने इस तरह की अटकलों को खारिज किया है, लेकिन पार्टी के भीतर कुछ विधायकों ने अपने बयानों से इस बात को हवा दी है.

उत्तराखंड में सीएम फेस बदले जाने की चर्चा: 
वहीं दूसरी ओर उसी तरह उत्तराखंड में सीएम फेस बदले जाने की चर्चा भी काफी समय से चल रही है. पार्टी के आंतरिक सर्वेक्षणों में यह बात सामने आ रही है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के चेहरे पर अगले चुनाव में पार्टी को मुश्किल हो सकती है.  उत्तराखंड बीजेपी में हर कोई यही चर्चा करता आ रहा है कि क्या सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को बदला जा सकता है. बीजेपी के भीतर तो कौन नया सीएम होगा उसे लेकर भी जमकर कयासबाजी चली और सबने अपने अपने समीकरणों के हिसाब से नाम बताएं. हालांकि सीएम के करीबी इस तरह की चर्चाओं से नकारते रहे हैं. 

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के खिलाफ भी पार्टी विधायकों ने मोर्चा खोला:
अगर त्रिपुरा के मुख्यमंत्री की बात करें तो उनके खिलाफ भी पार्टी विधायकों ने मोर्चा खोला है. पिछले दिनों मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने दिल्ली में कई बड़े नेताओं से मुलाकात भी की थी. भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व, हालांकि विधायकों द्वारा उठाए गए कुछ मुद्दों को लेकर सहमत है, वह मुख्यमंत्री को बदलना नहीं चाहता, क्योंकि यह अन्य राज्य इकाइयों में भी इसी तरह की मांगों को प्रेरित कर सकता है, जहां असंतुष्ट विधायकों ने मुख्यमंत्रियों के खिलाफ मुद्दे उठाए हैं.


 

और पढ़ें