जयपुर VIDEO: भाजपा कोर कमेटी की पहली बैठक, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का न आना बना चर्चा का विषय

VIDEO: भाजपा कोर कमेटी की पहली बैठक, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का न आना बना चर्चा का विषय

जयपुरः भारतीय जनता पार्टी के कोर कमेटी के गठन के बाद रविवार को पार्टी मुख्यालय पर पहली बैठक का आयोजन किया गया. भाजपा की पहली ही बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का न आना चर्चा का विषय बना रहा. हालाकि भाजपा प्रभारी अरुण सिंह ने उनके न आने का कारण उनके किसी रिश्तेदार का बीमार होना बताया. वहीं कोर कमेटी की बैठक में आगामी विधानसभा सत्र में सरकार को घेरने समेत विधानसभा उपचुनाव को लेकर भी रणनीति तैयार करने के साथ कई प्रमुख मुद्दों पर चर्चा की गई. 

आगमी बजट सत्र में सरकार को घेरने की बनी रणनीतिः
जानकारी के अनुसार कोर कमेटी की पहली बैठक के बाद बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीष पूनिया ने कहा कि बैठक में उप चुनाव, विधानसभा सत्र सहित कई मुद्दों पर चर्चा की गई. वहीं आने वाले समय में चिंतन शिविर लगेगा और सांसदों की बैठक को लेकर भी चर्चा की गई. उन्होंने बताया कि सांसदों की बैठक के जरिए ही राजस्थान के कौन से मुद्दे संसद में उठाए जाने हैं, उन पर चर्चा की गई है. वहीं पार्टी की मजबूती और आगे की कार्ययोजना पर भी चर्चा की गई है. सतीश पूनिया ने कोर कमेटी की बैठक के बाद कहा कि हमारे पास कई बड़े मुद्दे हैं जिनके आधार पर सरकार को घेरा जाएगा.

भाजपा में संसदीय बोर्ड ही सर्वशक्तिमानः
वहीं सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे अगला सीएम कौन मुद्दे पर बोलते हुए बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीष पूनिया ने कहा है कि बैठक में  सोशल मीडिया पर चलने वाली अफवाहे हमेशा सत्यता के निकट नहीं होती. उन्होंने कहा कि भाजपा में संसदीय बोर्ड ही सर्वशक्तिमान हैं और सोशल मीडिया और सड़क पर लगने वाले नारो की हकीकत को बदलने का काम वो ही करता है. वहीं वसुंधरा राजे की अनुपस्थिति के सवाल पर पूनियां ने कहा कि उनकी उपस्थिति और अनुपस्थिति के कई कारण हो सकते हैं, कृप्या इसे सियासी तौर पर न जोड़े. उन्होंने वसुंधरा राजे का बैठक में न आने का कारण उनकी पुत्रवधु का बीमार होना बताया.

पार्टी से खिलाफत करने वालों पर होगी कार्रवाईः
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीष पूनिया ने पार्टी को लेकर चल रही गुटबाजी की खबरों का खंडन करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि जिस तरीके से गुटबाजी की चर्चा हो रही है मैं उसी तरीके से उसे खारिज करता हूं, इन बातों का कोई आधार नहीं है. उस दौरान पूनिया ने अनुशासन को लेकर कहा कि चुनाव में पार्टी के खिलाफ जाने वाले लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

और पढ़ें