VIDEO: तीर्थ नगरी पुष्कर में अव्यवस्थाओं का आलम, सड़क पर बह रहा सीवेज का पानी

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/10/29 15:10

पुष्कर: करोड़ों हिन्दुओं की आस्था का प्रमुख केंद्र पुष्कर सरोवर आज फिर अपनी दुर्दशा पर आंसू बहाने को मजबूर है. आज सुबह से ही उफान मार रहे सीवरेज के चैम्बर परिक्रमा मार्ग को नरक में तब्दील कर चुके हैं. कार्तिक जैसा सबसे महत्वपूर्ण महीना होने के बावजूद लगातार हो रही सरोवर की दुर्दशा से जैसे किसी राजनेता को कोई लेना देना ही नहीं है. इसीलिए आज यह बात साबित हो गई है कि पुष्कर विकास के बड़े बड़े दावे करने वाले राजनेताओं के मुंह पर सीवरेज की यह समस्या काले धब्बे बनकर ना सिर्फ उभरी गई है, बल्कि उनके द्वारा किये गए विकास कार्यों के दावों की पोल भी खोल रही है. 

समस्या की वजह राजनेताओं की उदासीनता:
नासूर बन चुकी सीवरेज की इस समस्या की वजह भी पुष्कर के सभी राजनेताओं की उदासीनता ही है. पुष्कर में राजनीति करने वाले सभी राजनैतिक दलों के नेता भले ही अपने भाषण में सरोवर की मर्यादा और इसके उत्थान के बड़े-बड़े दावे करते हों, परंतु हकीकत में देखा जाए तो कभी भी किसी भी राजनेता के एजेंडे में पुष्कर सरोवर का विकास रहा ही नहीं. ऐसा लगता है पुष्कर के राजनेताओं ने केवल करोड़ों रुपयों का बजट पास करवाने के लिए सरोवर को केवल अपना जरिया बना रखा है और इसकी आड़ में ना सिर्फ राज्य सरकार बल्कि केंद्र सरकार से भी बजट पर बजट पास करवा रहे हैं.

तीर्थ पुरोहितों में जमकर गुस्सा:
परिक्रमा मार्ग में सीवरेज का एक से डेढ़ फीट तक गन्दा पानी जमा हो गया. खास बात यह है कि इसी गंदे पानी मे से होकर स्थानीय लोगो और श्रद्धालु तीर्थ यात्रियों को गुजरना पड़ रहा है. सीवरेज के गंदे पानी के जमा होने के बाद तीर्थ पुरोहितों में जमकर गुस्सा व्याप्त हो गया और उन्होंने नारेबाजी करते हुए तीर्थ पुरोहित संघ के कार्यालय को बंद करके अपना विरोध प्रकट किया. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in