VIDEO: गुर्जर आरक्षण मामले में फिर पनपा विवाद, कर्नल बैंसला ने दी आंदोलन की चेतावनी

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/15 10:05

जयपुर: मुस्लिम मिरासी समाज को विशेष पिछड़ा वर्ग जातियों में सम्मिलित करने से जुड़े सर्वे ने सियासत को गर्मा दिया है. सर्वे की बात से ही गुर्जर समाज में उबाल आ गया. गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने साफ कह दिया कि MBC आरक्षण से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी. संघर्ष समिति के सदस्यों की बैठक भी हुई. गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने भी विरोध जता दिया. आंदोलन की चेतावनी तक दे डाली. जिला कलेक्टर अजमेर के एक पत्र से यह विवाद पनपा है. 

पत्र जारी होने के कुछ दिनों बाद ही हड़कम्प मच गया: 
कुछ दिनों पहले अजमेर जिला कलक्टर कार्यालय से एक पत्र जारी हुआ. अजमेर जिले के सभी तहसीलदारों यह पत्र लिखा गया. पत्र का विषय था मुस्लिम मिरासी समाज को विशेष पिछड़ा वर्ग में जातियों में सम्मिलित कराने के लिये सर्वे. पत्र जारी होने के कुछ दिनों बाद ही हड़कम्प मच गया. गुर्जर और अन्य पांच जातियों ने इस पत्र को MBC छेड़छाड़ में हस्तक्षेप माना है. गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति ने तुरंत ही विरोध जता दिया और आरोप जड़ दिया कि ऐसे किसी भी सर्वे का भारी विरोध किया जाएगा.  कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला, विजय बैंसला ने कहा कि अन्य जातियों को अगर आरक्षण देने की मंशा है तो ओबीसी का वर्गीकरण करके दे सकते है लेकिन MBC की जातियों को प्राप्त आरक्षित जातियों के साथ सम्मिलित किया जाना ठीक नहीं है. संघर्ष समिति के प्रवक्ता एडवोकेट शैलेन्द्र सिंह गुर्जर ने कहा कि संघर्ष समिति जल्द ही आगे की रणनीति बनायेगी जरुरत पड़ी तो आंदोलन करना पड़ेगा. 

गुर्जर आरक्षण आंदोलनकारियों के अन्य धड़े भी विरोध में उतर आये: 
गुर्जर आरक्षण आंदोलनकारियों के अन्य धड़े भी विरोध में उतर आये है. सभी का यहीं कहना है कि 5 फीसदी एमबीसी आरक्षण में छेड़छाड़ अनुचित है. गुर्जर नेता हिम्मत सिंह गुर्जर ने कड़ी आपत्ति जताई. गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति ने ऐलान कर दिया है कि अगर इस तरह का कोई सर्वे सरकार कराती है तो उसका विरोध किया जाएगा भले ही गुर्जर समाज को आंदोलन क्यों ना करना पड़े. कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला का कहना है कि समाज ने आरक्षण प्राप्त करने के लिये आहुतियां और बलिदान दिया है. लेकिन साथ ही गहलोत सरकार से उम्मीद जताई है कि इस तरह के हालात पैदा नहीं किये जाये. 

...फर्स्ट इंडिया के लिये योगेश शर्मा की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in