कोटा में जिला परिषद की बैठक आज भी रही हंगामेदार

कोटा में जिला परिषद की बैठक आज भी रही हंगामेदार

कोटा में जिला परिषद की बैठक आज भी रही हंगामेदार

कोटा: कोटा में जिला परिषद की सामान्य बैठक आज भी हंगामेदार रही. जिला प्रमुख सुरेन्द्र गुर्जर की अध्यक्षता में एडीएम आर डी मीणा की मौजूदगी में आयोजित हुई इस बैठक में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यो को लेकर चर्चा होनी थी लेकिन जिला परिषद सदस्यों ने इस आखिरी बैठक को कर्जमाफी, मुआवजा और भष्ट्राचार के मुद्दों को छेड़कर हंगामेदार बना डाला. जिला परिषद सदस्य यशवंत चौधरी ने आरोप जड़ा कि उनके क्षेत्र में तीन लाख का इंटरलॉकिग का काम हुआ ही नही और उसका बोर्ड लगाकर भुगतान भी हो गया. इस भष्ट्राचार की जांच की मांग उठाते हुए उन्होंने जिला प्रमुख और जिला परिषद के अधिकारियों पर भी कई सवाल खड़े किए.

जल्द से जल्द किसानों को राहत पहुंचाने की मांग की: 
 जिला परिषद सदस्य डॉ बद्री गोचर व प्रेम गोचर ने बिजली बिल बकाया होने पर ट्रांसफार्मर हटाने ,कर्जमाफी, मुआवजा के साथ किसानों की समस्या को लेकर अधिकारियों को घेरा और उनसे जल्द से जल्द किसानों को राहत पहुंचाने की मांग की. जिला परिषद सदस्यों ने आरोप जड़ा कि शहरों में बारिश रुकने के साथ ही पेचवर्क और गड्डे भरने का काम शुरु हो जाता है लेकिन ग्रामीण इलाकों की कोई सुध नहीं लेता है इसलिए नई कार्य योजनाएं बनाने से पहले ग्रामीण इलाको में सड़को पर हुए गड्ढो को भरवाया जाए. इसके साथ ही कई मुद्दों पर परिषद की बैठक में चर्चा हुई जिसमे एडीएम आर डी मीणा ने अधिकारियों को जल्द समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए. बैठक में एएसपी पारस जैन सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे. 

और पढ़ें