छात्रवृति के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहा दिव्यांग

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/10/07 10:03

जोधपुर। एक ओर जहां प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांगों के लिए कई प्रकार की योजना चलाई जा रही है । वही इन योजनाओं का सम्बन्धित विभागों द्वारा धरातल पर किस प्रकार का कार्य हो रहा है इसकी एक बानगी नजर आई लोहावट कस्बे के जाटावास में, लोहावट जाटावास निवासी बीपीएल में चयनित दिव्यांग छात्र अक्षय पूरी गोस्वामी जो करीब 32 महीनो से अपनी छात्रवृत्ति के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है। 

लोहावट जाटावास निवासी बीपीएल में चयनित अक्षयपुरी ने बताया कि उसने वर्ष 2016-17 में बारनीखुर्द भोपालगढ़ से बीएसटीसी पूर्ण की। उसने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग में 2 जनवरी 2016 को छात्रवृत्ति के लिए आवेदन किया। उसने बताया कि छात्रवृति के लिए कई बार सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के चक्कर लगाए, लेकिन 32 माह बाद भी विभाग के अधिकारियो द्वारा बजट उपलब्ध नहीं होता बता उसकी छात्रवृत्ति जारी नहीं की गई, चलते उसे आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है व उसकी आगे की पढाई पर भी असर पड़ रहा है। 

वही इस बारे में जब हमने सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग के अधिकारी से संपर्क करने की कोशिस की उन्होंने खुद को छुट्टी पर होना बता किसी भी तरह की जानकारी देने से इनकार कर दिया। वही दिव्यांग छात्र ने पूर्व में प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्री व स्थानीय विधायक गजेन्द्रसिंह खींवसर से भी कई बार मिलकर व ज्ञापन सोपकर छात्रवृति दिलाने का आग्रह किया था। लेकिन 32 माह बीत जाने के बाद उसकी छात्रवृति स्वीकृत नहीं हो पा रही है । जिसके चलते उसे आर्थिक परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है ।   

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in