इन सीटों पर जीत-हार के अंतर से ज्यादा नोटा को मिले मत

Dr. Rituraj Sharma Published Date 2018/12/12 03:16

जयपुर। 2013 के विधानसभा चुनाव से इस बार का विधानसभा चुनाव में मतदाता कम पशोपेश में दिखा। इसका अंदाजा नोटा के प्रयोग के आंकड़ों से लगता है। पिछली बार से 1 लाख 22 हजार 147 कम मतदाताओं ने नोटा का प्रयोग किया। पिछली बार नोटा का प्रतिशत जहां 1.90 था वहीं इस बार 1.33% ने ही नोटा का बटन दबाया है। पिछली बार 5 लाख 89 हजार 923 ने नोटा का प्रयोग किया था तो इस बार कुल मतदान 3 करोड़ 52 लाख 4 हजार 670 में से यह आंकड़ा 4 लाख 67 हजार 785 है। दिलचस्प तथ्य यह भी है कि 9 विधानसभा सीटें हैं जहां जीत के अंतर से ज्यादा नोटा को मत मिले। 

इस विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा कुशलगढ़ में नोटा का उपयोग हुआ और सबसे कम सूरजगढ़ में नोटा का बटन दबाया गया।
पिछली बार 5 लाख 89 हजार 923 ने नोटा का प्रयोग किया था तो इस बार कुल मतदान 3 करोड़ 52 लाख 4 हजार 670 में से यह आंकड़ा 4 लाख 67 हजार 785 है।

सबसे ज्यादा कुशलगढ़ में 4.81% नोटा प्रयोग हुआ
कुशलगढ़ में कुल वोटिंग 2 लाख 28 हजार 807
इसमें नोटा का उपयोग 11 हजार 2 का
विस चुनाव में नोटा का प्रयोग 1.33%
बागीदौरा में 2.35% हुआ इसका प्रयोग
237130 में से 5581 ने दबाया नोटा का बटन
पिंडवाड़ा में 2.33% हुआ इसका प्रयोग
201886 में से 4702 ने किया इसका प्रयोग
सबसे कम .15% सूरजगढ़ में नोटा का प्रयोग
यहां 262004 में से 392 ने दबाया नोटा का बटन

दूसरे नम्बर पर रहा झाडोल
यहां 3.5% हुआ नोटा का प्रयोग
कुल 244863 में से 7457 ने किया नोटा का प्रयोग
रेवदर में 2.46% नोटा का प्रयोग
कुल 248440 में से यहां 6108 ने दबाया नोटा का बटन

बागीदौरा में 2.35% हुआ इसका प्रयोग
237130 में से 5581 ने दबाया नोटा का बटन
पिंडवाड़ा में 2.33% हुआ इसका प्रयोग
201886 में से 4702 ने किया इसका प्रयोग
सबसे कम .15% सूरजगढ़ में नोटा का प्रयोग
यहां 262004 में से 392 ने दबाया नोटा का बटन
आइये अब यह आकलन करते हैं उन 9 सीटों की बात करते हैं जहां हार जीत का अंतर कम है उन सीटों में नोटा ने क्या गुल खिलाया है ।
आसींद में बीजेपी के झब्बरसिंह सांखला 151 वोटों से जीते और यहां मतदाताओं ने 2943 वोट नोटा को दिए।
चौमूं में बीजेपी के रामलाल शर्मा
1288 वोटों से जीते और नोटा का प्रयोग हुआ 1859
मालवीय नगर में बीजेपी के कालीचरण सराफ 1704 वोटों से जीते और यहां 2371 वोटर्स ने नोटा का प्रयोग किया।
पोकरण में कांग्रेस के सालेह मोहम्मद 872 वोटों से जीते यहां नोटा को मिले मतों की संख्या 1121 है।
खेतड़ी में कांग्रेस के जितेंद्र सिंह 957 से जीते और यहां 1377 ने नोटा का प्रयोग किया।
मारवाड़ से निर्दलीय खुशवीर सिंह 251 वोटों से जीते और 2719 ने नोटा का बटन दबाया।
मकराना में बीजेपी के रूपाराम 1188 मतों से जीते यहां नोटा को 1550 मत मिले।
दांतारामगढ़ से कांग्रेस के वीरेंद्र सिंह 920 मतों से जीते और यहां 1180 मत नोटा को मिले।
फतेहपुर से कांग्रेस के हाकम खान 860 वोटों से जीते और 1165 मत नोटा को मिले।
आइए अब उन सीटों का विश्लेषण करते हैं जहां करीब करीब हार जीत के अंतर जितना ही नोटा को मत मिले हैं।
बाड़मेर का सिवाना 957 वोटों से जीते बीजेपी के हमीर सिंह भायल और नोटा के वोट 816 रहे।
बेगूं से कांग्रेस के राजेन्द्र विधूड़ी 1661 मतों से जीते यहां नोटा को 3165 मत मिले।
चूरू से बीजेपी के राजेन्द्र राठौड़ 1850 मतों से जीते और यहां नोटा को 1816 वोट गए।
पीलीबंगा में भाजपा के धर्मेंद्र 278 मतों से जीते यहां नोटा का प्रयोग 2441 हुआ।

जिन प्रत्याशियों का जीत का अंतर कम है और जीत के अंतर से नोटा के मत कम रहे हैं। वहां भी प्रत्याशियों के लिए एकबारगी खतरे की घण्टी बजी है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in