चिकित्सकों की बड़ी लापरवाही आई सामने, प्रसूता को रेफर करते ही हॉस्पिटल गेट पर हुआ प्रसव

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/07/24 11:53

धौलपुर: जिले के सैपऊ सीएचसी में चिकित्सकों की बड़ी लापरवाही सामने आई है. यहां एक प्रसूता को हॉस्पिटल से रेफर करने के महज कुछ समय बाद ही गेट के बाहर जमीन पर ही प्रसव हो गया. प्रसूता हॉस्पिटल गेट के बाहर दर्द से कराहती हुई जमीन पर तड़पती रही. दर्द से तड़पते हुए प्रसूता ने हॉस्पिटल परिसर में पेड़ के नीचे एक नवजात को जन्म दे दिया. इस दरमियान नवजात जमीन पर मिट्टी में पड़ा रहा. इस पूरे मामले को लेकर हॉस्पिटल प्रबंधन की बड़ी लापरवाही देखने को मिली है. हॉस्पिटल प्रबंधन के लिए यह बहुत ही शर्मिंदगी भरी तस्वीर है. इस पूरे मामले की हम आपको टीवी स्क्रीन पर एक्सक्लूसिव तस्वीरें दिखा रहे हैं. इसको देखने के बाद भी हॉस्पिटल के प्रभारी चिकित्सक का दिल नहीं पसीजा. यहां तक कि कोई भी एएनएम तथा कोई भी डॉक्टर इस प्रसूता व नवजात को संभालने के लिए मौके पर नहीं आया. बाद में एक सफाई कर्मी महिला ने यहां पहुंचकर जमीन में पड़े नवजात को उठाया और उसे वार्ड में ले जाया गया.

हॉस्पिटल प्रबंधन पर लगाया आरोप: 
सैपऊ उपखंड मुख्यालय के सीएचसी स्तर के हॉस्पिटल का यह पूरा मामला है. जहां आज नगला पूठ गांव निवासी दिवारीलाल ने अपनी पत्नी ममता को प्रसव कराने के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराया था. इसके बाद किसी परेशानी के चलते यहां एक कंपाउंडर के द्वारा उसे धौलपुर रेफर कर दिया. बताया गया है कि इस दरमियान प्रसूता की कंडीशन बच्चे को जन्म देने वाली थी लेकिन चिकित्सा कर्मियों ने उसे रेफर कर दिया तो प्रसूता ने गेट के बाहर ही जमीन पर बच्चे को जन्म दे दिया. इस पर परिजनों का यहां साफ तौर से आरोप है कि हॉस्पिटल प्रबंधन ने अनदेखी की है यहां उनके प्रसूता मरीज को किसी भी एएनएम व डॉक्टर ने देखा तक नहीं. 

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टरों का अभाव: 
सरकार के द्वारा भले ही मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को लेकर बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के दावे किए जा रहे हो लेकिन सैपऊ हॉस्पिटल में ना तो कोई उचित प्रबंध है और ना ही पर्याप्त स्टाफ. यहां स्त्री रोग विशेषज्ञ व शिशु रोग विशेषज्ञ नहीं होने के कारण सरकार के यह दावे फिके साबित हो रहे हैं. स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर नहीं होने के कारण किसी भी गंभीर परिस्थिति में प्रसूताओं को यहां स्टाफ के द्वारा मजबूरन धौलपुर रेफर करना पड़ता है. ऐसी स्थिति में प्रसूताओं को 25 किलोमीटर दूर जाने में काफी परेशानी झेलनी पड़ती है. विशेषज्ञ चिकित्सकों की मांग को लेकर कई बार यहां प्रबुद्ध जनों ने प्रशासन व राजनेताओं से मांग की है लेकिन अभी तक इस ओर किसी का ध्यान नहीं गया है. 

.... प्रदीप शर्मा फर्स्ट इंडिया न्यूज़ सैपऊ, धौलपुर 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in