VIDEO: ट्रोमा सेंटर में अब HIV टेस्ट के लिए नहीं भटकेंगे मरीज, 24 घंटे मिलेगी HIV टेस्ट की सुविधा

Vikas Sharma Published Date 2019/06/12 10:12

जयपुर: प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेन्टर में मरीजों को एचआईवी जैसे महत्वपूर्ण टेस्ट के लिए अब इधर-उधर नहीं भटकना होगा. मरीजों की दिक्कतों को देखते हुए अस्पताल प्रशासन ने ट्रोमा सेन्टर में एचआईवी टेस्ट की सुविधा 24 घंटे राउंड द क्लॉक शुरू की है. इसके लिए बकायदा अलग से कक्ष निर्धारित किया गया है, जहां मरीजों के सैम्पल कलेक्शन से लेकर रिपोर्ट देने तक की पूरी व्यवस्था की गई है. 

एसएमएस अस्पताल का ट्रोमा सेन्टर प्रदेश का पहला ऐसा सरकारी सेन्टर होगा
एसएमएस अस्पताल का ट्रोमा सेन्टर प्रदेश का पहला ऐसा सरकारी सेन्टर होगा, जहां एचआईवी का टेस्ट राउंड द क्लॉक उपलब्ध है. एसएमएस अस्पताल में भी दो पारियों में ही इस टेस्ट की सुविधा है. इस बारे में अस्पताल अधीक्षक डॉ सुधीर भण्डारी ने बताया कि ट्रोमा सेन्टर में मरीजों का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है. यहां भर्ती होने वाले 95 फीसदी मरीजों को ऑपरेशन की जरूरत पड़ती है, जिसके लिए एचआईवी टेस्ट अनिवार्य है. अधिकांश ऑपरेशन इमरजेंसी में भी करने पड़ते है, जिसको देखते हुए एचआईवी टेस्ट की सुविधा 24 घंटे शुरू की गई है. ट्रोमा सेन्टर की माइक्रोबाइलॉजी लैब के प्रभारी डॉ मनीष बसंल ने बताया कि सभी मरीजों के लिए टेस्ट की सुविधा शुरू कर दी गई है. ये टेस्ट गोपनीय रखा जाता है, जिसकी रिपोर्ट मरीज या उसके परिजनों को ही मिले, इसके लिए हर शिफ्ट में एक चिकित्सक को यहां ड्यूटी पर लगाया गया है.

ट्रोमा में एचआईवी टेस्ट के फायदें
- राजस्थान के सबसे बड़े एसएमएस ट्रोमा सेन्टर में अब 24 घंटे एचआईवी टेस्ट की सुविधा 
- ट्रोमा सेन्टर में रोजाना रजिस्ट्रर्ड होते 300 से अधिक मरीज 
- 200 से अधिक मरीज गंभीर रूप से चोटिल होकर पहुंचते है ट्रोमा सेन्टर 
- इसमें से 70 से 100 मरीजों के रोजाना होते है ऑपरेशन, जिसके लिए एचआईवी टेस्ट जरूरी 
- कई बार रात में इमरजेंसी ऑपरेशन के दौरान एचआईवी टेस्ट की पड़ती है जरूरत 
- अभी तक ट्रोमा में एचआईवी टेस्ट की नहीं व्यवस्था, मरीजों को जाना पड़ता था मुख्य बिल्डिंग की सेन्ट्रल लैब में 
- इस दौरान काफी मरीजों के परिजन अनभिज्ञता या लपकों के चक्कर में बाहर से कराते थे एचआईवी टेस्ट 
- अब ट्रोमा सेन्टर में 24 घंटे टेस्ट की सुविधा शुरू होने से मरीजों को नहीं जाना पड़ेगा बाहर 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in