पटना द्रौपदी मुर्मू मंगलवार को पहुंचेंगी पटना, सांसदों और विधायकों का मांगेंगी समर्थन

द्रौपदी मुर्मू मंगलवार को पहुंचेंगी पटना, सांसदों और विधायकों का मांगेंगी समर्थन

द्रौपदी मुर्मू मंगलवार को पहुंचेंगी पटना, सांसदों और विधायकों का मांगेंगी समर्थन

पटना: राष्ट्रपति चुनाव के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रित गठबंधन (NDA) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू बिहार के सांसदों और विधायकों का समर्थन हासिल करने के लिए मंगलवार को पटना पहुंचेंगी. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता एवं राज्य सरकार में मंत्री जीवेश कुमार मिश्रा ने यह जानकारी दी. उन्होंने पटना स्थित भाजपा मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में बताया कि मुर्मू सुबह 10 बजे राजधानी पहुंचेंगी और दोपहर 1.30 बजे के आसपास अपने अगले गंतव्य के लिए रवाना हो जाएंगी.

राष्ट्रपति चुनाव जीतने पर मुर्मू देश के शीर्ष संवैधानिक पद पर काबिज होने वाली पहली आदिवासी महिला बनने का गौरव हासिल कर लेंगी. मिश्रा के मुताबिक, मुर्मू दिग्गज आदिवासी नेता बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर अपने दौरे की शुरुआत करेंगी. इसके बाद वह शहर के एक होटल में राजग सांसदों से मिलेंगी. मिश्रा ने बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव और वाम दलों से 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में राजग प्रत्याशी मुर्मू का समर्थन करने की अपील की. उन्होंने कहा कि हमारी सोच है कि बिहार से सर्वसम्मति से राजग उम्मीदवार को समर्थन दिया जाए. गौरतलब है कि तेजस्वी के नेतृत्व वाला राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और सहयोगी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) माले, भाकपा व मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), जिनके 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में कुल 96 विधायक हैं, पहले ही मुर्मू के प्रमुख प्रतिद्वंद्वी यशवंत सिन्हा का समर्थन करने का फैसला कर चुके हैं. मिश्रा ने दावा किया कि विपक्ष की कई महिला सदस्य राष्ट्रपति चुनाव में आदिवासी महिला उम्मीदवार मुर्मू का समर्थन कर रही हैं.

उन्होंने कहा कि मैं समझ सकता हूं कि राजद और वाम विधायक मुर्मू का समर्थन करना चाहते हैं. उनके नेतृत्व को अपने विधायकों की भावना पर ध्यान देना चाहिए और एक आदिवासी महिला की शीर्ष पद पर पहुंचने में मदद करने के ऐतिहासिक अवसर का लाभ उठाना चाहिए. इस बीच, भाजपा सूत्रों ने कहा कि मुर्मू अपने व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के नेता एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ बैठक करने के लिए समय निकाल सकती हैं. मुर्मू ने जब पिछले हफ्ते अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था, तब जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और लोकसभा में पार्टी के नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा प्रमुख जे पी नड्डा के साथ वहां मौजूद थे. सोर्स- भाषा

और पढ़ें