Live News »

ड्रोन हमले के बाद अरामको ने बंद किए दोनों प्लांट, प्रतिदिन होता था 5.7 मिलियन बैरल का उत्पादन

ड्रोन हमले के बाद अरामको ने बंद किए दोनों प्लांट, प्रतिदिन होता था 5.7 मिलियन बैरल का उत्पादन

रियाद: दुनिया की सबसे बड़ी तेल उत्पादक कंपनी अरामको के दो प्रतिष्ठानों में शनिवार को ड्रोन से दो धमाके किए गए. दोनों प्रतिष्ठान अबकैक और खुरैस में स्थित हैं. घटना के बाद अरामको ने दोनों प्रतिष्ठानों को बंद करने का ऐलान किया है, जिससे प्रति दिन 5.7 मिलियन बैरल कच्चे तेल का उत्पादन प्रभावित होगा. 

यमन में ईरान के समर्थक हुती विद्रोहियों ने इन दो तेल संयंत्रों पर ड्रोन हमलों की जिम्मेदारी ली है. समूह के अल-मसीरा टीवी ने यह जानकारी दी है. अल-मसीरा ने कहा कि विद्रोहियों ने 10 ड्रोन विमानों के साथ बड़ा अभियान छेड़ा और इस दौरान पूर्वी सऊदी अरब में अबकैक और खुराइस में रिफाइनरियों को निशाना बनाया गया. हालांकि इस हमले में कोई जनहानि नहीं हुई है. 

बता दें कि सऊदी अरामको सऊदी अरब की राष्ट्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस कंपनी है. यह राजस्व के मामले में दुनिया में कच्चे तेल की सबसे बड़ी कंपनी है. इससे पहले भी अरामको को आतंकवादी निशाना बनाते रहे हैं. अल-कायदा के आत्मघाती विस्फोटकों ने फरवरी 2006 में इस तेल कंपनी पर हमला करने की कोशिश की थी लेकिन वे नाकाम रहे थे. 


 

और पढ़ें

Most Related Stories

PAK का नापाक चेहरा आया दुनिया के सामने- पाकिस्तानी मंत्री ने स्वीकार की पुलवामा हमले पर अपने देश की भूमिका की बात 

PAK का नापाक चेहरा आया दुनिया के सामने- पाकिस्तानी मंत्री ने स्वीकार की पुलवामा हमले पर अपने देश की भूमिका की बात 

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के एक वरिष्ठ मंत्री ने गुरुवार को सनसनीखेज खुलासा करते हुए स्वीकार किया कि 2019 में जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकवादी हमले के लिये उनका देश जिम्मेदार है. उस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद दोनों देश जंग के मुहाने पर आकर खड़े हो गए थे. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने नेशनल असेंबली में बहस के दौरान कहा कि हमने हिंदुस्तान को घुस कर मारा. पुलवामा में हमारी कामयाबी, इमरान खान के नेतृत्व में इस देश की कामयाबी है. आप और हम सभी इस कामयाबी का हिस्सा हैं. 

{related}

विदेश मंत्री कुरैशी ने भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को रिहा करने की लगाई थी गुहारः
प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी चौधरी का यह बयान विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) नेता अयाज सादिक के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि एक महत्वपूर्ण बैठक के दौरान विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को रिहा करने की गुहार लगाई थी, जिन्हें 27 फरवरी, 2019 को पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के साथ हवाई टकराव में उनका मिग-21 बाइसन लड़ाकू विमान गिर जाने के बाद पाकिस्तानी सेना ने हिरासत में ले लिया था. 

भारतीय वायु सेना के विमानों ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को किया था नेस्तनाबूदः
भारतीय वायु सेना के विमानों ने 26 फरवरी 2019 को तड़के पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र के बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया था. सादिक ने जिस उच्चस्तरीय बैठक का जिक्र करते हुए यह दावा किया था उसमें सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा भी शामिल थे. सादिक ने बैठक को याद करते हुए कहा कि विदेश मंत्री (कुरैशी) ने हमसे कहा कि खुदा के वास्ते, उसे (अभिनंदन) को वापस जाने दीजिए, वरना भारत रात नौ बजे पाकिस्तान पर हमला कर देगा.  

चौधरी ने सादिक के बयान की आलोचना करते हुए उसे अनुचित बतायाः 
पुलवामा हमले के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्री रहे चौधरी ने सादिक के बयान की आलोचना करते हुए उसे 'अनुचित' बताया है. अमेरिका के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय समुदाय पाकिस्तान पर दबाव बनाता रहा है कि वह अपनी सरजमी को आतंकवादी समूहों की सुरक्षित पनाहगाह बनने से रोके और पुलवामा हमले के दोषियों को न्याय के कटघरे में लाये.
सोर्स भाषा

NewYork Times औऱ अफगानिस्तान के पत्रकारों का किडनैपर 12 साल बाद गिरफ्तार

NewYork Times औऱ अफगानिस्तान के पत्रकारों का किडनैपर 12 साल  बाद गिरफ्तार

न्यूयॉर्क: न्यूयॉर्क टाइम्स के एक पत्रकार, एक अफगानिस्तानी पत्रकार और एक चालक के अपहरण के मामले में एक अफगानिस्तानी व्यक्ति को गिरफ्तार कर अमेरिका लाया गया है. बताया जा रहा है कि मामला 2008 का है, जब ये पत्रकार एक तालिबानी नेता का इंटरव्यू लेकर लौट रहे थे. संघीय अधिकारियों ने बताया कि हाजी नजीबुल्ला (42) के खिलाफ छह आरोप लगाए गए हैं. अमेरिका के एक मजिस्ट्रेट जज ने उसे हिरासत में लिए जाने का आदेश दिया है. नजीबुल्ला के वकील मार्क गोम्बिनर ने उसकी जमानत मांगने से इनकार कर दिया था.

गोम्बिनर ने तत्काल इस पर अभी कोई टिप्पणी नहीं की है. अभियोजक ने बताया कि नजीबुल्ला को  यूक्रेन से अमेरिका लाया गया है, ताकि उस पर साजिश रचने और अपहरण का मामला चलाया जा सके. अधिकारियों ने उसे कहा और कब गिरफ्तार किया गया, इसकी कोई जानकारी नहीं दी गई है लेकिन उसे अमेरिका को सौंपने के लिए यूक्रेन के अधिकारियों का शुक्रिया अदा किया है. 

आपको बता दे कि दोषी पाए जाने पर उसे उम्रकैद की सजा हो सकती है. अधिकारियों ने हालांकि अगवा किए गए लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी लेकिन प्राप्त विवरण टाइम्स के लिए काम कर रहे पत्रकार डेविड रोहड और एक अफगान पत्रकार ताहिर लुडिन से मेल खाते हैं और उन्हें तब अगवा किया गया था जब वे एक तालिबानी नेता का साक्षात्कार करने के लिए जा रहे थे. फिलहाल आरोपी से पूछताछ की जा रही है. (सोर्स-भाषा)

{related}

‘मोलावे’ चक्रवात से लैंडस्लाइड 8 की मौत, 42 लापता

‘मोलावे’ चक्रवात से लैंडस्लाइड 8 की मौत, 42 लापता

हनोई: वियतनाम में ‘मोलावे’ चक्रवात का कहर छाया हुआ है, हाल ही में चक्रवात के कारण आए भूस्खलन में लगभाग आठ लोगों की मौत हो गई और 42 अन्य लापता हो गए है. जिसकी आधिकारिक सरकारी मीडिया ने पुष्टि की है. आधिकारिक वियतनाम सरकारी एजेंसी की खबर के अनुसार क्वांग नाम प्रांत में दक्षिण मध्य त्रावान क्षेत्र के गांव में आए भूस्खलन से कई मकान तबाह हो गए और बचावकर्मियों ने आठ शव बाहर निकाले हैं. 

त्रा वान से कई किलोमीटर दूर स्थित त्रा लेंग गांव में आए एक अन्य भूस्खलन में कई मकान ज़मीदोज़ हो गए जिनमें लगभग 45 लोग रहते थे. इस हादसे में चार लोग बच गए है. बचावकर्मियों ने तीन शव निकाल लिए हैं और अन्य को बचाने का प्रयास किया जा रहा है. वियतनाम के अधिकारियों का मानना है कि पिछले 20 साल में ऐसी तबाही नहीं हुई जैसी इस चक्रवात के कारण हुई है. फिलहाल लापता लोगों की जांच की जा रही है. (सोर्स-भाषा)

{related}

अपने दैनिक जीवन में सिर्फ इतना सा परिवर्तन कर आप कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ कर सकते हैं दुगुनी सुरक्षा

अपने दैनिक जीवन में सिर्फ इतना सा परिवर्तन कर आप कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ कर सकते हैं दुगुनी सुरक्षा

वाशिंगटनः वैज्ञानिकों ने कहा है कि साधारण कपड़े का मास्क भी महत्वपूर्ण सुरक्षा उपलब्ध कराता है और यह कोविड-19 के प्रसार में कमी ला सकता है. इसके साथ ही भौतिक दूरी को दुगुना करने से कोरोना वायरस के खिलाफ दुगुनी सुरक्षा मिल सकती है. इससे संबंधित अध्ययन रिपोर्ट पत्रिका ‘फिजिक्स ऑफ फ्लूइड’ में प्रकाशित हुई है. इसमें कहा गया है कि साधारण कपड़े का मास्क भी महत्वपूर्ण सुरक्षा उपलब्ध कराता है और यह कोविड-19 के प्रसार में कमी ला सकता है.

{related}

भौतिक दूरी को बढ़ाने से सुरक्षा हो जाती है दुगुनीः
अध्ययन रिपोर्ट के सह-लेखक जॉन्स हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी के रजत मित्तल ने कहा कि यदि आप अपनी भौतिक दूरी को दुगुना कर देते हैं, तो आप अपनी सुरक्षा को भी सामान्य तौर पर दुगुना कर देते हैं. इस तरह का नियम संबंधित नीति बनाने में मदद कर सकता है.

सांस की गति बढ़ाने वाली कोई भी शारीरिक गतिविधि बढ़ा देगी कोविड-19 के प्रसार का जोखिमः
अध्ययन रिपोर्ट के सह-लेखक जॉन्स हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी के रजत मित्तल ने कहा कि हमने यह भी देखा कि सांस की गति बढ़ाने वाली कोई भी शारीरिक गतिविधि प्रसार का जोखिम बढ़ा देगी. इन निष्कर्षों के स्कूल, जिम और मॉल आदि को दुबारा खोलने के संबंध में महत्वपूर्ण निहितार्थ हैं.
सोर्स भाषा

सजा पूरी होने के बाद भी भारतीय नागरिकों को कैद में रखना पाक सरकार को पड़ा भारी, अदालत ने लगाई फटकार 

सजा पूरी होने के बाद भी भारतीय नागरिकों को कैद में रखना पाक सरकार को पड़ा भारी, अदालत ने लगाई फटकार 

इस्लामाबादः इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (आईएचसी) ने आतंकवाद एवं जासूसी के मामलों में सजा पूरी होने के बावजूद कुछ भारतीय नागरिकों को जेल में रखने के लिए पाकिस्तान की सरकार को फटकार लगाई और उन्हें वापस भेजने के आदेश दिए. यह जानकारी मीडिया ने दी.

संघ सरकार ने पांच भारतीय कैदियों को रिहा करने की दी थी सूचनाः
‘जियो न्यूज’ ने खबर दी कि आठ भारतीय नागरिकों ने रिहाई के लिए याचिका दायर की जिस पर सुनवाई के दौरान गृह मंत्रालय के एक प्रतिनिधि ने मामले में रिपोर्ट आईएचसी के मुख्य न्यायाधीश अतहर मिनल्ला को सौंपा. खबर में बताया गया कि पाकिस्तान के डिप्टी अटॉर्नी जनरल में से एक सैयद मोहम्मद तैयब शाह ने संघ सरकार की तरफ से अदालत को सूचित किया कि पाकिस्तान ने 26 अक्टूबर, 2020 को सजा पूरी होने पर पांच भारतीय कैदियों को रिहा किया था और उन्हें वापस उनके देश भेज दिया था.

{related}

वकील ने कहा- सजा पूरी करने के बावजूद तीन और नागरिकों को कैद में ही रखा गयाः
भारतीय उच्चायोग के एक विधि प्रतिनिधि ने अदालत से कहा कि सजा पूरी होने के बावजूद एक भारतीय नागरिक वापस नहीं लौटना चाहता था लेकिन उसे प्रत्यर्पित कर दिया गया है. वकील ने बताया कि सजा पूरी करने के बावजूद तीन और नागरिकों को कैद में ही रखा गया है. शाह ने कहा कि तीन भारतीय नागरिकों के बारे में निर्देश प्राप्त करने के बाद वह इस पर जवाब देंगे.

नाराज न्यायमूर्ति ने कहा- अगर सजा पूरी हो गई है तो उन्हें वापस भेजिएः
शाह ने कहा कि कुछ कैदियों का मामला समीक्षा बोर्ड के पास है, जिस पर न्यायमूर्ति मिनल्लाह ने नाराज होते हुए कहा कि उनकी सजा जब पूरी हो गई है तो आप उन्हें और लंबे समय तक कैसे रख सकते हैं?’’ उन्होंने पूछा कि समीक्षा बोर्ड कहां से आता है? अगर सजा पूरी हो गई है तो उन्हें वापस भेजिए. आईएचसी ने चार भारतीय नागरिकों की रिहाई वाली संयुक्त याचिका का निपटारा कर दिया. अदालत ने मामले में सुनवाई की अगली तारीख पांच नवम्बर तय की है.
सोर्स भाषा

भारत-अमेरिकी टू-प्लस-टू वार्ता के बाद बौखलाया चीन, भारत के साथ सीमा गतिरोध को द्विपक्षीय मुद्दा बताया

भारत-अमेरिकी टू-प्लस-टू वार्ता के बाद बौखलाया चीन, भारत के साथ सीमा गतिरोध को द्विपक्षीय मुद्दा बताया

बीजिंग: चीन ने बुधवार को कहा कि भारत के साथ पूर्वी लद्दाख में उसका सीमा गतिरोध एक द्विपक्षीय मुद्दा है तथा अमेरिका को अपनी हिन्द-प्रशांत रणनीति को ‘‘रोकना’’ चाहिए क्योंकि यह क्षेत्र में अमेरिका का प्रभुत्व थोपने का प्रयास है.

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के आश्वासन के बाद आई चीन की ओर से टिप्पणीः
चीन के विदेश मंत्रालय की यह टिप्पणी अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ द्वारा भारत को यह आश्वासन दिए जाने के एक दिन बाद आई है कि नयी दिल्ली की संप्रभुता के समक्ष उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में अमेरिका भारत के साथ मजबूती से खड़ा है. पोम्पिओ की यह टिप्पणी नयी दिल्ली में तीसरे भारत-अमेरिका संवाद के बाद आई जिसमें दोनों पक्षों ने भारत-चीन सीमा विवाद और हिन्द-प्रशांत क्षेत्र की स्थिति पर प्रमुखता से चर्चा की.

{related}

चीनी विदेश मंत्रालय ने बताया- चीन-भारत के बीच सीमा संबंधी मसले को दो देशों के बीच का मामलाः
भारत के साथ मजबूत रक्षा संबंधों के अमेरिका के प्रयोजन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि चीन और भारत के बीच सीमा संबंधी मामले दो देशों के बीच के मामले हैं. उन्होंने गतिरोध के समाधान के लिए भारत और चीन के बीच सैन्य तथा कूटनीतिक स्तर की वार्ता के संदर्भ में कहा कि सीमा पर स्थिति अब सामान्य तौर पर स्थिर है और दोनों पक्ष प्रासंगिक मुद्दों का वार्ता एवं चर्चा के जरिए समाधान कर रहे हैं.

पोम्पिओ ने कहा था कि भारत की संप्रभुता के समक्ष उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में अमेरिका मजबूती से खड़ा हैः
चीन की तीखी निन्दा करते हुए पोम्पिओ ने गलवान घाटी में 20 भारतीय जवानों के बलिदान का उल्लेख किया था और कहा था कि भारत की संप्रभुता के समक्ष उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में अमेरिका मजबूती से नयी दिल्ली के साथ खड़ा है. पोम्पिओ ने कल यह भी कहा था कि हमारे नेता और नागरिक स्पष्ट तौर पर यह मानते हैं कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) लोकतंत्र, पारदर्शिता के कानून के शासन की पक्षधर नहीं है. मैं यह कहने में प्रसन्नता महसूस करता हूं कि अमेरिका और भारत न सिर्फ चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की ओर से उत्पन्न खतरों, बल्कि सभी तरह के खतरों से निपटने के लिए हमारे सहयोग को मजबूत करने के लिए कदम उठा रहे हैं.

वांग ने की अमेरिका की हिन्द-प्रशांत अवधारणा की निन्दाः
वांग ने अमेरिका की हिन्द-प्रशांत अवधारणा की निन्दा की और कहा कि अमेरिका द्वारा प्रस्तावित हिन्द-प्रशांत रणनीति गुजर चुकी शीतयुद्ध मानसिकता और टकराव तथा भू-राजनीतिक खेल का प्रचार कर रही है. यह अमेरिका का प्रभुत्व थोपने पर केंद्रित है. यह क्षेत्र के साझा हितों के विपरीत है और हम अमेरिका से इसे रोकने का आग्रह करते हैं. उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय विकास के लिए कोई भी अवधारणा शांतिपूर्ण विकास और सभी को लाभ प्रदान करनेवाले सहयोग के लिए समय के अनुरूप होनी चाहिए.
सोर्स भाषा

सावधानः अध्ययन में दावा, कोरोना वायरस से मस्तिष्क भी हो सकता है प्रभावित

सावधानः अध्ययन में दावा, कोरोना वायरस से मस्तिष्क भी हो सकता है प्रभावित

वाशिंगटनः कोविड-19 मरीजों पर किए गए 80 से अधिक अध्ययनों में एक तिहाई के मस्तिष्क के अग्रिम हिस्से में कुछ जटिलताएं देखने को मिलीं. यह अध्ययन तंत्रिका तंत्र पर बीमारी के असर पर प्रकाश डाल सकता है. अध्ययन रिपोर्ट सीजर: यूरोपियन जर्नल ऑफ एपिलेप्सी में प्रकाशित हुई है जो ईईजी के माध्यम से मस्तिष्क में असामान्यताओं का पता लगाने पर केंद्रित है.

{related}

बीमारी से ठीक होने के बाद भी नहीं हो सकती इसकी भरपाईः
अमेरिका के बेयलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन में तंत्रिका तंत्र विज्ञान के सहायक प्रोफेसर जुल्फी हनीफ ने कहा कि हमें 600 से अधिक ऐसे मरीज मिले जो इस तरह प्रभावित हुए. जब हमने इसे छोटे समूहों में देखा तो हम इस बात को लेकर सुनिश्चित नहीं थे कि यह महज संयोग है या कुछ और, लेकिन अब हम पक्के तौर पर कह सकते हैं कि इसका कुछ संबंध है. अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि अध्ययन में शामिल लोगों के मस्तिष्क के अग्रिम हिस्से में असामान्यताएं देखने को मिलीं. उन्होंने कहा कि कोविड-19 मरीजों के ईईजी से कुछ संकेत ऐसा मिला कि मस्तिष्क को इस हद तक भी नुकसान पहुंच सकता है कि बीमारी से ठीक होने के बाद भी इसकी भरपाई नहीं हो सकती.

कोरोना वायरस से संबंधित मस्तिष्क असामान्यता बुजुर्ग पुरुषों में हो सकती है आमः
जुल्फी हनीफ ने कहा कि हम जानते हैं कि नाक के जरिए वायरस के प्रवेश करने की सबसे ज्यादा संभावना होती है, इसलिए मस्तिष्क के उस हिस्से के बीच संबंध प्रतीत होता है जो प्रवेश बिंदु के नजदीक है. उन्होंने कहा कि एक और बात यह देखने को मिली कि इस तरह प्रभावित हुए लोगों की औसतन आयु 61 वर्ष थी और इनमें एक तिहाई महिलाएं तथा दो तिहाई पुरुष थे. इससे पता चलता है कि कोरोना वायरस से संबंधित मस्तिष्क असामान्यता बुजुर्ग पुरुषों में आम हो सकती है. हालांकि, वैज्ञानिकों का मानना है कि इस संबंध में और अधिक अध्ययन किए जाने की आवश्यकता है.
सोर्स भाषा

सुरक्षा कर्मी ने किया मास्क पहनने का आग्रह, गुस्से में 2 बहनों ने किया चाकू से 27 बार हमला

 सुरक्षा कर्मी ने किया मास्क पहनने का आग्रह, गुस्से में 2 बहनों ने किया चाकू से 27 बार हमला

शिकागो, अमेरिका: अमेरिका के शिकागो में एक सुरक्षाकर्मी को मास्क पहनने की हिदायत देना भारी पड़ गया है. आरोप है कि दो बहनों ने एक सुरक्षा कर्मी पर 27 बार चाकू से वार कर दिए क्योंकि दुकान के सुरक्षा कर्मी ने उनसे मास्क पहनने का अनुरोध किया था. पुलिस की प्रवक्ता कैरी जेम्स ने बताया  जेसिका और जायला हिल ने 32 वर्षीय व्यक्ति पर कथित तौर पर हमला कर दिया है पीड़ित अस्पताल में भर्ती है और उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है. 

जेम्स ने बताया कि सुरक्षा कर्मी ने महिलाओं को मास्क पहनने के लिए कहा था, लेकिन महिलाओं ने उस पर हमला कर दिया. जेसिका हिल ने कथित तौर पर अपनी जेब से चाकू निकाला और उस पर हमला कर दिया और जायला ने उसे बालों से पकड़ रखा था. उन्होंने बताया कि दोनों महिलाओं को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया गया था.

कुक काउंटी सर्किट जज मैरी सी. मारूबियो के समक्ष पेश किए जाने पर महिलओं के वकील ने कहा कि उन्होंने खुद को बचाने के लिए हमला किया और दोनों को बायपोलर डिस्ऑर्डर से पीड़ित है. फिलहाल सुरक्षाकर्मी की हालत नाजुक बनी हुई है और कुछ कहा नहीं जा सकता है. (सोर्स-भाषा)

{related}