डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान, प्रदेश के 46,543 गांवों की आबादी का होगा ड्रोन सर्वे

डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान, प्रदेश के 46,543 गांवों की आबादी का होगा ड्रोन सर्वे

जयपुर: राजस्थान के समस्त गांवों की आबादी क्षेत्र का ड्रोन तकनीकी के माध्यम से सर्वे किया जाएगा. भारतीय सर्वेक्षण विभाग और राजस्थान सरकार की सहभागिता रहेगी. डिप्टी सीएम सचिन पायलट के महकमे ने इस बारे में कार्य योजना तैयार की है. इस सर्वे में गांव के समस्त मकान मालिकों के स्वामित्व रिकॉर्ड तैयार किए जायेंगे. इस सर्वे के माध्यम से गांवों की आबादी क्षेत्र में सम्पत्ति और परिसम्पतियों का वैध रिकार्ड तैयार होगा. 

सम्पत्ति मालिकों को किए जाएंगे कार्ड जारी:
पायलट ने कहा कि सम्पत्ति मालिकों को कार्ड जारी किए जाएंगे. इससे आबादी क्षेत्र में सम्पत्ति सम्बंधी विवादों में कमी आयेगी और ग्राम पंचायत विकास योजना बेहतर तरीके से तैयार करने में मदद मिलेगी. पायलट ने बताया कि इस सर्वे में व्यक्तिगत सम्पत्तियों का सर्वे एवं रिकॉर्ड तैयार करने के साथ-साथ सामुदायिक परिसम्पत्तियों जैसे कि ग्रामीण सड़के, तालाब, नहर, खुली जगह यथा पार्क, स्कूल, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केन्द्र आदि का भी सर्वे किया जाकर नक्शे तैयार किए जाएंगे. 

सैंड आर्ट के जरिए गर्भवती हथिनी के लिए मांगा न्याय, बालू मिट्टी से आकृति उकेरकर व्यक्त की अपनी संवेदनाएं

सर्वे से तैयार किया जाएगा रिकॉर्ड और मानचित्र:
उन्होंने बताया कि इस योजना के क्रियान्वयन के लिए भारतीय सर्वेक्षण विभाग तथा राज्य सरकार के बीच समझौता ज्ञापन (एम.ओ.यू.) किया जाएगा. पायलट ने बताया कि प्रदेश में ग्राम सभाओं के माध्यम से इस योजना और इससे होने वाले लाभ के बारे में लोगों को जागरूक किया जाएगा और योजना के क्रियान्वयन में सहयोग के लिए ग्रामीणों को संवेदनशील बनाया जाएगा. उन्होंने बताया कि इस योजना से तैयार होने वाले रिकार्ड एवं मानचित्र ग्राम पंचायत, तहसील, जिला एवं राज्य स्तर पर उपलब्ध होंगे और इसके लिए तैयार किए गए सॉफ्टवेयर के माध्यम से ऑनलाइन भी उपलब्ध रहेंगे और नियमित रूप से अपडेट किए जायेंगे.

चूरू जिले के पुलिसकर्मियों से एसपी कर रही मन की बात, तनावमुक्त करने के लिए किया जा रहा मोटिवेट

और पढ़ें