मुंबई इमोशंस और लाफ्टर के ओवरडोज से भेजा फ्राई कर देगी फिल्म जुग जुग जियो

इमोशंस और लाफ्टर के ओवरडोज से भेजा फ्राई कर देगी फिल्म जुग जुग जियो

इमोशंस और लाफ्टर के ओवरडोज से भेजा फ्राई कर देगी फिल्म जुग जुग जियो

मुंबई : वरुण धवन, कियारा आडवाणी, अनिल कपूर, नीतू कपूर, मनीष पॉल और प्राजकता कोली की फिल्म जुग जुग जियो बड़े पर्दे पर रिलीज हो गई है कैसी है ये फिल्म आइए जानते हैं

फिल्म की शुरुआत होती है कनाडा में जहां नैना और कुकू की शादी हो गई है और दोनों वहां रह रहे हैं ऐसे में नैना एक कैरियर ओरिएंटेड महिला है और कुकू खुद की नजर में फेलियर है दोनों एक दूसरे से प्यार तो करते हैं लेकिन शादी में बिल्कुल खुश नहीं है जिसके चलते दोनों डिवोर्स लेने का फैसला करते हैं लेकिन घर में कुकू की बहन की शादी है ऐसे मैं दोनों फैसला करते हैं की शादी के बाद परिवार वालों को ये जानकारी देंगे दोनों अपने घर पटियाला आ जाते हैं अनिल कपूर और नीतू कपूर वरुण धवन के माता पिता की भूमिका निभा रहे हैं और प्राजकता कोली वरुण की बहन की भूमिका निभा रही हैं मनीष पॉल कियारा आडवाणी के भाई बने हुए हैं 
वापस आने के बाद पता चलता है कि कुकू के पिता खुद भी अपनी शादी में खुश नहीं है और उनका अफेयर चल रहा है उनकी भी प्लानिंग है कि बेटी की शादी के बाद अपनी पत्नी को ये बताया जाए कि वह उनसे डिवोर्स चाहते हैं वही जिसकी शादी हो रही है प्राजकता कोली वो भी किसी और से प्यार करती हैं और सिर्फ फ्यूचर का सोच कर शादी कर रही है घर में तीनों ही शादियां दाव पर लगी है क्या ऐसे में इनकी शादी टिक पाएगी या नहीं यह जाने के लिए आपको देखना होगा फिल्म जुग जुग जियो

फिल्म के अच्छे पॉइंट्स

फिल्म का कांसेप्ट काफी अच्छा है फिल्म कुछ ऐसे मुद्दों पर बात करती है जहां लोग इन मुद्दों पर बात करने से कतराते हैं फिल्म का सेकंड हाफ काफी अच्छा है और आपको कई सारे इमोशंस से जोड़ता है अनिल कपूर और नीतू कपूर के किरदार काफी दमदार है लेकिन इन पर और काम किया जा सकता था

फिल्म के नेगेटिव पॉइंट्स

फिल्म का फर्स्ट हाफ बेहद स्लो है ना आपको हंसी आएगी ना ही आपको किसी तरह के इमोशन से ये फिल्म जोड़ेगी कहीं-कहीं ऐसा लगता है ये फिल्म में जबरदस्ती की कॉमेडी डाली गई है वरुण धवन ने एक बार फिर साबित कर दिया कि उनको अपने एक्टिंग स्किल्स पर और काम करने की जरूरत है वही कियारा आडवाणी ने ये साबित कर दिया की वो सिर्फ एक ही तरह के रोल हर बार करती आएंगी अनिल कपूर के किरदार को पूरी तरह से जस्टिस नहीं दिया गया है उनके डायलॉग्स और अच्छे हो सकते थे वही प्राजकता कोली जोकि एक सोशल मीडिया सेंसेशन है और पहले भी कई सारे वेब सीरीज में काम कर चुकी हैं इनके फेंस इनके बॉलीवुड डेब्यु को लेकर काफी ज्यादा एक्साइटेड थे पर उनको प्राजक्ता का रोल काफी निराश कर देगा फिल्म में प्राजक्ता के गिन कर डायलॉग है, मनीष पाल अपने अंदाज से लोगों को हंसाने के लिए जाने जाते हैं पर यहां पर उनकी कॉमेडी भी काफी जबरदस्ती वाली लग रही है फिल्म में वरुण सूद भी है शुरुआत में उन्हें देखकर लगता है कि शायद उनका रोल काफी अलग होगा पर ऐसे में उनका एक भी डायलॉग नहीं है और यही अलग रोल है उनका फिल्म के डायलॉग और स्क्रिप्ट पर और काम किया जा सकता था फिल्म में कुछ गाने ऐसे हैं जो कि बिना मतलब के डाले गए हैं

व्हाईकॉम 18 और धर्मा प्रोडक्शन के बैनर तले इस फिल्म को बनाया गया है और इस फिल्म को राज मेहता ने निर्देशित किया है राज मेहता जोकि एक फैमिली एंटरटेनर फिल्म बनाने के लिए काफी प्रसिद्ध हैं उन्होंने कोशिश तो काफी अच्छी की है पर डायलॉग्स और स्क्रिप्ट पर काम करना भूल गए 

ऐसे में फिल्म को फर्स्ट इंडिया फिल्मी की तरफ से 2.5 स्टार्स

और पढ़ें