उत्तराखंड में बादल फटने से खीरी में शारदा नदी का जलस्तर अचानक बढ़ा, अलर्ट जारी

उत्तराखंड में बादल फटने से खीरी में शारदा नदी का जलस्तर अचानक बढ़ा, अलर्ट जारी

उत्तराखंड में बादल फटने से खीरी में शारदा नदी का जलस्तर अचानक बढ़ा, अलर्ट जारी

लखीमपुर खीरी: उत्तराखंड में सोमवार को कई स्थानों पर बादल फटने की घटना के बाद उत्तर प्रदेश के खीरी जिले में शारदा नदी का जलस्तर सोमवार रात से अचानक बढ़ गया. अधिकारियों ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी. उत्तराखंड में बादल फटने की खबर के बाद खीरी के जिलाधिकारी डॉ. अरविंद कुमार चौरसिया ने सोमवार शाम को खीरी में बाढ़ का अलर्ट जारी किया.

जिलाधिकारी ने अलर्ट नोटिस में सभी उपजिलाधिकारियों (एसडीएम), तहसीलदारों और सिंचाई विभाग के अधिकारियों को सतर्क रहने और आसन्न बाढ़ के खतरे को देखते हुए लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का निर्देश दिया. गौरतलब है कि शारदा नदी के जलस्तर में अचानक हुई वृद्धि के कारण गोला तहसील के एक गांव में पानी के बहाव से गन्ने और धान की फसल डूब गई.

गोला के एसडीएम अखिलेश यादव ने पीटीआई-भाषा को बताया कि बझेड़ा गांव में शारदा की धारा का अतिप्रवाह अस्थायी थी, और अगले 24 घंटों के भीतर स्थिति सामान्य हो जाएगी. उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग की टीमों को स्थिति की समीक्षा के लिए मौके पर भेजा गया है. बाढ़ विभाग के अधिशासी अभियंता राजीव ने बझेड़ा गांव में कटाव रोधी परियोजना को किसी भी बड़े नुकसान से इनकार किया.

अभियंता ने कहा कि शारदा धारा का अतिप्रवाह उत्तराखंड में बादल फटने का परिणाम है और अगले कुछ घंटों में जल स्तर सामान्य हो जाएगा. उन्होंने कहा कि कटाव को रोकने के लिए बझेड़ा गांव में 920 मीटर लंबी कटाव रोधी परियोजना पहले से ही निचले इलाकों में है और पानी का अतिप्रवाह असामान्य नहीं है. (भाषा) 

और पढ़ें