गांव का एड्रेस बदल जाने की वजह से ग्रामीणों ने किया मतदान का बहिष्कार

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/06 11:04

बसेड़ी(धौलपुर)। बसेड़ी विधानसभा के ग्राम पंचायत लीलौठी के पुरा बाबाजी गांव के लोगों ने आज अपने गांव का एड्रेस बदल जाने की वजह से मतदान का बहिष्कार किया है। गांव में करीब 110 मतदाता है जिनमे विभागीय अधिकारियों के खिलाफ आक्रोश है, जिसको लेकर गांव के ग्रामीणों ने सुबह से एक भी वोट कास्ट नही किया है। यह मामला बूथ नम्बर 116 का है। मामला यह है कि गांव ऐड्रेस बदल जाने से बच्चों के कागजात मैं आधार कार्ड हो या अन्य कागज इसमें पुरा बाबाजी गांव का नाम आना चाहिए था लेकिन अधिकारियों की लापरवाही की वजह से अब हर जगह गांव का एड्रेस धर्मशाला के पीछे कुरिगमां गांव के नाम से आने लगा है जिसकी वजह से गांव का मतदान बूथ भी बदल गया, जिसे लेकर ग्रामीणों द्वारा कई बार अधिकारियों को अवगत भी कराया गया, लेकिन आजतक आला अधिकारियों ने कोई भी कदम नहीं उठाया। जिसे लेकर आज लोगों ने अपने गांव में लोकसभा मतदान का बहिष्कार किया जा रहा है।

विधानसभा चुनाव 2018 में भी कर चुके मतदान बहिष्कार
ग्रामीणों के सामने अब दूसरी समस्या भी आ चुकी थी जिसको समस्या यह है कि गांव का बूथ बदल जाने को लेकर पुरा बाबा जी के लोग 2018 विधानसभा चुनाव में भी मतदान का बहिष्कार कर चुके हैं, और इस मामले से विधानसभा चुनाव 2018 के समय भी अधिकारी मामले से अच्छी तरह रूबरू थे लेकिन उस समय भी अधिकारियों ने इस समस्या को गम्भीरता से नही लिया जिसका खामियाजा विधानसभा चुनाव में भी उठाना पड़ा था। और आज भी किसी भी अधिकारी ने इस समस्या को निपटाने की जरूरत नहीं की । और समस्या जस की तस बनी हुई है।

बीएलओ से वोट पर्ची लेने से किया था इनकार 
इस लेकर एक बार फिर आज पुरा बाबा जी के लोगों ने लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने की बात कही और उन्होंने वोट की पर्ची लेने से बीएलओ से मना भी कर दिया था। लोगों ने पूर्व में ही कह दिया था कि जब तक हमारे पास कोई जिम्मेदार अधिकारी आकर ठोस आश्वासन नहीं देता हम चुनाव में वोट डालने नहीं जाएंगे और मतदान का बहिष्कार करेंगे, लेकिन कोई भी प्रशासनिक अधिकारी ने मामले को गम्भीरता से नही लिया।

फर्स्ट इंडिया की खबर पर अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने लिया संज्ञान-
30 अप्रैल को निर्वाचन विभाग द्वारा फर्स्ट इंडिया न्यूज पर खबर प्रसारित होने के बाद तुरंत एक्शन लिया गया। जिनके द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारी धौलपुर को नोटिस जारी कर तीन दिवस के अंदर कार्यवाही के निर्देश भी दिए गए, जिस पर सरमथुरा तहसीलदार ने गांव में जाकर ग्रामीणों से समझाइश भी की, लेकिन ग्रामीणों को ठोस आश्वाशन नहीं मिलने की वजह से ग्रामीण अपनी माँग पर अड़े रहे।

...अंकित गर्ग, सवांददाता, फर्स्ट इंडिया न्यूज, विधानसभा बसेड़ी

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in