डूंगरपुर डूंगरपुर में ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटने से 2 श्रमिकों की मौत, मौताणे की मांग पर अड़े परिजन

डूंगरपुर में ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटने से 2 श्रमिकों की मौत, मौताणे की मांग पर अड़े परिजन

डूंगरपुर में ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटने से 2 श्रमिकों की मौत, मौताणे की मांग पर अड़े परिजन

डूंगरपुर: जिले के बिछीवाड़ा थाना क्षेत्र के संचिया गांव में एक ट्रैक्टर-ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलट गई है. हादसे में ट्रैक्टर-ट्रॉली सवार एक महिला सहित 2 श्रमिकों की मौत हो गई जबकि 5 अन्य लोग घायल हो गए. पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया है वहीं शवों को मोर्चरी में रखवाया है. 

इधर मृतकों के परिजन मौताणे की मांग पर अड़े है. डूंगरपुर जिले के बिछीवाड़ा थानाधिकारी रणजीत सिंह ने बताया की संचिया पंचायत की ओर से संचिया में श्मशान का काम चल रहा था. कल देर शाम को काम खत्म करने के बाद 6 श्रमिक पंचायत के सरपंच चंदुलाल भगोरा की ट्रैक्टर-ट्रॉली में सवार होकर अपने घरों की और लौट रहे थे. इस दौरान संचिया में बड़ी दुकान के पास ट्रैक्टर-ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलट गई. 

हादसे में संचिया निवासी 45 वर्षीय काली भगोरा व संचिया निवासी 32 वर्षीय लाला पुत्र रामा भगोरा की ट्रैक्टर-ट्रॉली के नीचे दबने से मौके पर ही मौत हो गई. जबकि हादसे में ट्रैक्टर-ट्रॉली चालक संचिया फला भगोरा निवासी पप्पू, रमिला पत्नी रमेश भगोरा, हंसा पुत्री जीवा, वीजा पुत्री मनजी निवासी व एक अन्य व्यक्ति घायल हो गए. हादसे की सूचना मिलने पर मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई. लोगों ने हादसे की जानकारी बिछीवाड़ा थाना पुलिस को दी. सूचना पर बिछीवाड़ा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को डूंगरपुर जिला अस्पताल में भर्ती करवाया वहीं दोनों मृतकों के शवों को मोर्चरी में रखवाया.

परिजन सरपंच से मौताणे की मांग पर अड़े हुए:
इधर दोनों मृतकों के शव मोर्चरी में रखे हुए है परिजन खबर लिखे जाने तक जिला अस्पताल की मोर्चरी नहीं पहुंचे हैं. परिजन सरपंच से मौताणे की मांग पर अड़े हुए है. परिजनों का कहना है जब तक मौताणा नहीं मिलेगा वे न तो पोस्टमार्टम करवाएंगे और न ही शव को उठाएंगे. फिलहाल पुलिस संचिया गांव में परिजनों से समझाइश के प्रयास में जुटी हुई है. मृतका काली भगोरा की 11 संतान है जिसमे 2 लड़के व 9 लड़किया है. वहीं मृतका काली के पति की पहले ही मौत हो चुकी है. ऐसे में अब काली की मौत के बाद से 11 बच्चे अनाथ हो गए है. इधर दूसरे मृतक लाला भगोरा के 5 संताने हैं. वहीं लाला की मौत के बाद इन 5 बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया है. 

और पढ़ें