डूंगरपुर Dungarpur: जब्तशुदा अवैध शराब का नष्ट नहीं कर शराब तस्करों को बेचने के मामले में दो और अधिकारियों पर गिरी गाज

Dungarpur: जब्तशुदा अवैध शराब का नष्ट नहीं कर शराब तस्करों को बेचने के मामले में दो और अधिकारियों पर गिरी गाज

Dungarpur: जब्तशुदा अवैध शराब का नष्ट नहीं कर शराब तस्करों को बेचने के मामले में दो और अधिकारियों पर गिरी गाज

डूंगरपुर: जिले की बिछीवाड़ा थाना पुलिस द्वारा जब्तशुदा अवैध शराब का नष्ट नहीं कर शराब तस्करों को बेच देने के मामले में दो और अधिकारियों पर गाज गिरी है. सरकार ने जिले के आबकारी अधिकारी हरीश रोलन और अतिरिक्त कोषाधिकारी जितेंद्र कुमार मीणा को निलंबित कर दिया है.

इससे पहले डूंगरपुर के अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार मीणा, बिछीवाड़ा थाना अधिकारी रणजीत सिंह और बिछीवाड़ा थाने के मालखाना इंचार्ज हेड कांस्टेबल रतनाराम निलंबित हो चुके हैं. निलंबित होने वाले सभी पुलिसकर्मी और अधिकारी शराब निस्तारण कमेटी के सदस्य थे.

थाने में 25 से 30 अगस्त के बीच में 9000 से अधिक शराब के कार्टन नष्ट किये गए थे:
गौरतलब है कि बिछीवाड़ा थाने में 25 से 30 अगस्त के बीच में 9000 से अधिक शराब के कार्टन पुलिस, राजस्व और आबकारी विभाग के अधिकारियों की कमेटी की मौजूदगी में नष्ट किये गए थे. वहीं 2 सितंबर को डूंगरपुर जिले के पड़ोसी राज्य गुजरात की स्टेट मॉनिटरिंग सेल ने नष्ट की गई शराब के बैच नंबर वाली सवा 2 लाख रुपये की शराब जब्त करते हुए डूंगरपुर जिले के शराब तस्करों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था. 

और पढ़ें