चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद बोले चंद्रबाबू नायडू, कहा-हमारी मांग के साथ EC को समस्या

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/21 07:00

नई दिल्‍ली: लोकसभा चुनाव की वोटिंग संपन्न होने के बाद राजनीतिक पार्टियों में हलचल तेज हो गई है. वहीं ईवीएम-वीवीपीएटी को लेकर भी मुद्दा गहराता जा रहा है. इसको लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेदेपा प्रमुख एन. चंद्रबाबू नायडू ने आज 22 विपक्षी दलों के नेताओं के साथ चुनाव आयोग से मुलाकात की और उसे ज्ञापन सौंपा. नायडू ने कहा कि हमारी मांग के साथ चुनाव आयोग को समस्या है.

नेताओं ने ईवीएम में टैंपरिंग की भी जताई आशंका:
दरअसल चंद्रबाबू नायडू की अगुवाई वाले विपक्षी दलों के नेताओं के इस प्रतिनिधिमंडल ने मांग की कि किसी पोलिंग बूथ में विसंगति पाए जाने की स्थिति में पूरे विधानसभा क्षेत्र में ईवीएम के आंकड़ों का VVPAT पर्चियों से मिलान कराया जाए। यही नहीं नेताओं ने ईवीएम में टैंपरिंग की भी आशंका जताई। आयोग से मुलाकात के बाद नायडू ने कहा कि हमारी बहुत वास्तविक मांग है. हमने चुनाव आयोग को बार-बार प्रतिनिधित्व दिया है और यहां तक ​​कि एससी भी गए हैं. हम चाहते हैं कि मतगणना की शुरुआत से पहले पांच ईवीएम वीवीपीएटी मशीनों का मिलान किया जाए, लेकिन चुनाव आयोग को इस पर समस्या है.

पूर्व राष्ट्रपति ने भी किया समर्थन:
नायडू ने कहा कि यदि टैली में कोई विसंगति पाई जाती है, तो पूरे विधानसभा क्षेत्र के लिए VVPAT को गिना जाना चाहिए. हमें नहीं पता कि चुनाव आयोग की समस्या क्या है? पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने भी हमारी मांग का समर्थन किया है. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने यह भी स्पष्ट किया कि चुनाव आयोग को पारदर्शिता रखनी चाहिए और भारतीय मतदाताओं में विश्वास पैदा करना चाहिए.
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in