ECB को माननी चाहिए थी BCCI बात, बदले में The Hundred के लिए Dhoni-Virat की मांग करते: Mark Butcher

ECB को माननी चाहिए थी BCCI बात, बदले में The Hundred के लिए Dhoni-Virat की मांग करते: Mark Butcher

ECB को माननी चाहिए थी BCCI बात, बदले में The Hundred के लिए Dhoni-Virat की मांग करते: Mark Butcher

लंदन: पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर मार्क बुचर (Former English cricketer Mark Butcher) का मानना है कि इंग्लिश क्रिकेट बोर्ड (ECB) को BCCI की टेस्ट रीशेड्यूल (Test Reschedule) करने की बात मान लेनी चाहिए थी. इससे इंग्लिश बोर्ड को ही फायदा होता. रीशेड्यूल करने के बदले 'द हंड्रेड' टूर्नामेंट के लिए BCCI से महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली जैसे दिग्गज खिलाड़ियों की मांग कर सकते थे. द हंड्रेड टूर्नामेंट (The Hundred Tournament) इंग्लिश बोर्ड का एक घरेलू टूर्नामेंट है. इसकी शुरुआत 21 जुलाई से होगी.

9 दिन के गैप को करने के लिए बातचीत:
दरअसल मीडिया रिपोर्ट्स (Media Reports) में बताया गया था कि इंग्लैंड के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज के प्लान में कुछ बदलाव किए जा सकते हैं. तीसरे और चौथे टेस्ट के बीच 9 दिन के गैप को कम किया जा सकता है. ताकि, IPL 2021 सीजन के बाकी बचे 31 मैच को सितंबर में एडजस्ट किया जा सके.

Giles ने सीरीज रीशेड्यूल करने से मना किया:
इस पर गुरुवार को ECB ने साफ कर दिया कि वह IPL के फेज-2 को पूरा कराने के लिए अपने प्लान में कोई बदलाव नहीं करने जा रहा है. ECB के MD एश्ले जाइल्स (MD Ashley Giles) ने कहा कि एक तो BCCI की ओर से इस बारे में कोई आधिकारिक अनुरोध नहीं किया गया है और साथ ही इंग्लैंड के लिए प्लान में कोई बदलाव करना मुमकिन भी नहीं है.
 
The Hundred को सफल बनाने का इकलौता मौका था:
बुचर ने विस्डेन क्रिकेट वीकली पॉडकास्ट (Wisden Cricket Weekly Podcast) में कहा- मुझे लगता है कि इंग्लिश बोर्ड ने यहां हाथ में आया मौका गंवा दिया. ECB अपने द हंड्रेड टूर्नामेंट को सफल बनाना चाहता है. उन्होंने इसके लिए अपना सबकुछ दांव पर लगाया है. पर कुछ सुपरपावर्स ऐसा नहीं चाहते. इसलिए BCCI वाला मौका इनके पास इकलौता चांस था.

3 साल के धोनी-विराट को साइन कर सकते थे:
बुचर ने कहा- मैच रीशेड्यूल करने के बदले ECB धोनी और विराट जैसे खिलाड़ियों को 3 साल के कॉन्ट्रैक्ट पर द हंड्रेड के लिए साइन कर सकता था. इसकी शुरुआत 2022 से होती। उन्हें IPL के बाकी मैच कराने ही हैं. ऐसे में भारत (India) के टॉप खिलाड़ियों के आने से टूर्नामेंट को सफल बनाया जा सकता था.

द हंड्रेड में भारतीय महिला टीम की 5 खिलाड़ी खेलेंगी:
भारत की टी-20 कप्तान हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना, शेफाली वर्मा, दीप्ति शर्मा और जेमिमा रोड्रिग्स को BCCI ने द हंड्रेड के लिए नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (NOC) दिया था. द हंड्रेड टूर्नामेंट में एक मैच 100 बॉल का होगा. इसकी शुरुआत 21 जुलाई से होगी.

द हंड्रेड टूर्नामेंट में 8 टीमें होंगी:
इस टूर्नामेंट में कुल 8 टीमें होंगी. इसमें ट्रेंट रॉकेट्स, ओवल इन्विन्सिबल्स, साउदर्न ब्रेव, मैनचेस्टर ऑरिजिनल्स, नॉर्दर्न सुपरचार्जर्स, बर्मिंघम फीनिक्स, वेल्श फायर और लंदन स्पिरिट शामिल हैं. हरमनप्रीत मैनचेस्टर ऑरिजिनल्स और स्मृति साउदर्न ब्रेव से खेलती नजर आएंगी. वहीं, शेफाली बर्मिंघम की टीम में शामिल की गई हैं.

वुमन्स के अलावा मेन्स के लिए भी द हंड्रेड:
द हंड्रेड लीग की शुरुआत पिछले साल ही होनी थी. पर कोरोना की वजह से इसे पोस्टपोन (Postpond) कर दिया गया. वुमन्स के अलावा मेन्स फॉर्मेट में इस टूर्नामेंट का आगाज 22 जुलाई को होगा. मेन्स में यही 8 टीमें हिस्सा लेंगी. टूर्नामेंट के लिए आंद्रे रसेल, एबी डिविलियर्स जैसे कई दिग्गज खिलाड़ियों के साइन करने की संभावना है.

और पढ़ें