ब्रसेल्स Ukraine-Russia Crisis: रूस के खिलाफ 'कठोरतम' प्रतिबंधों को लगाने की योजना बना रहा है EU, रूसी राष्ट्रपति पुतिन बनेंगे निशाना

Ukraine-Russia Crisis: रूस के खिलाफ 'कठोरतम' प्रतिबंधों को लगाने की योजना बना रहा है EU, रूसी राष्ट्रपति पुतिन बनेंगे निशाना

Ukraine-Russia Crisis: रूस के खिलाफ 'कठोरतम' प्रतिबंधों को लगाने की योजना बना रहा है EU, रूसी राष्ट्रपति पुतिन बनेंगे निशाना

ब्रसेल्स: यूक्रेन पर रूसी सेना के हमले के मद्देनजर यूरोपीय संघ (EU) अब तक के 'कठोरतम और बेहद नुकसानदायक' प्रतिबंधों को लगाने की योजना बना रहा है. रूसी सेना द्वारा गुरुवार को यूक्रेन पर हमला करने के बाद यूरोपीय संघ की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन ने कहा कि उनका लक्ष्य यूरोप समेत पूरी दुनिया की शांति व्यवस्था को स्थिरता प्रदान करना है. उन्होंने कहा कि हम मिलकर इसके लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को जिम्मेदार ठहरायेंगे. उन्होंने कहा कि हम यूरोपीय नेताओं के समक्ष मंजूरी के लिए बड़े और लक्षित प्रतिबंधों का पैकेज पेश करेंगे.

यूरोपीय संघ के विदेश नीति मामलों कें प्रमुख जोसेप बोरेल ने इन्हें अब तक के ‘कठोरतम और बेहद नुकसानदायक’ प्रतिबंध करार दिया. बोरेल ने कहा, ‘‘परमाणु शक्ति से लैस एक देश ने एक पड़ोसी देश पर हमला किया है और बचाव के लिए आने वाले किसी भी अन्य देशों को परिणाम भुगतने की धमकी दे रहा है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह न केवल अंतरराष्ट्रीय कानून का सबसे बड़ा उल्लंघन है बल्कि यह मानव सह-अस्तित्व के बुनियादी सिद्धांतों का भी उल्लंघन है. इससे कई लोगों की जान खतरे में पड़ जायेगी और गंभीर परिणाम सामने आयेंगे. यूरोपीय संघ इसका मजबूती के साथ जवाब देगा. वॉन डेर लेयेन ने कहा कि रूस के लिए महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों और बाजारों तक पहुंच को अवरुद्ध करके रूसी अर्थव्यवस्था के रणनीतिक क्षेत्रों को लक्षित किया जायेगा. उन्होंने कहा कि अगर प्रतिबंधों को मंजूरी दी जाती है, तो ‘‘रूस के आर्थिक आधार और आधुनिकीकरण की उसकी क्षमता कमजोर हो जाएगी. और इसके अलावा, हम यूरोपीय संघ में रूसी संपत्तियों को जब्त कर देंगे और यूरोपीय वित्तीय बाजारों में रूसी बैंकों की पहुंच को रोक देंगे. उन्होंने कहा कि हम अपने सहयोगियो अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा के अलावा जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ करीबी संपर्क बनाये हुए हैं.’’

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, जॉनसन ने सुबह फोन पर यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की से कहा कि वह यूक्रेन की घटनाओं से स्तब्ध हैं. जॉनसन ने फोन पर बातचीत के तुरंत बाद ट्वीट किया, ‘‘मैं यूक्रेन में भयावह घटनाओं से स्तब्ध हूं और मैंने अगले कदमों पर चर्चा करने के लिए राष्ट्रपति जेलेंस्की से बात की है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रपति पुतिन ने यूक्रेन पर इस अकारण हमले की शुरुआत करके रक्तपात और विनाश का रास्ता चुना है. ब्रिटेन और हमारे सहयोगी निर्णायक जवाब देंगे. प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यूक्रेन प्रतिरोध कर सकता है तथा इस मुश्किल समय के दौरान ब्रिटेन के लोग यूक्रेन और उसके लोगों के साथ खड़े हैं. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस जिस वक्त सुरक्षा परिषद में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से ‘‘अपनी सेना को यूक्रेन पर हमला करने से रोकने’’ और परिषद के अन्य सदस्य जब सैनिकों को हटाने और तनाव को कम करने की अपील कर रहे थे, उसी वक्त रूसी नेता ने पूर्वी यूक्रेन पर सैन्य अभियान की घोषणा कर दी. एशिया और यूरोप के नेताओं ने हमले की निंदा की. इस सप्ताह दुनियाभर के राष्ट्रों ने भी रूस पर नए प्रतिबंध लगाए हैं. सोर्स- भाषा

और पढ़ें