VIDEO: शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की बड़ी घोषणा, प्रदेश में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम होगा लागू

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/09/11 06:05

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिली हरी झंडी के बाद अब शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने घोषणा की है कि शिक्षा सत्र 2020 21से राजकीय और संबद्ध विद्यालयों में कक्षा 6 से 8 में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम की हिन्दी और अंग्रेजी माध्यम की पुस्तकों को लागू किया जाएगा. 

RSS नहीं RAS तैयार करने हैं:
डोटासरा की दलील है कि पिछली भाजपा सरकार में आरएसएस के एजेंडे को लागू करवाया था. यानी कि आरएसएस विचार परिवार के विद्या भारती के पाठ्यक्रम के लिहाज से सरकारी स्कूलों का पाठ्यक्रम. शिक्षा मंत्री डोटासरा ने कहा है कि शिक्षा में आरएसएस नहीं बनेंगे, शिक्षा में आरएएस बनाए जाएंगे. शिक्षाविदों की गठित समितियों की सिफारिश के आधार पर राज्य में ऐसे पाठ्यक्रम को वरीयता दी जा रही है, जो विद्यार्थियों के ज्ञानवर्द्धन के साथ ही भविष्य में उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता का आधार प्रदान करे. 

कक्षा 6 से 10वीं तक की पुस्तकें इसी साल से होंगी लागू:
सत्र 2020-21 में कक्षा 6 से 8 में एससीईआरटी द्वारा तैयार ‘हमारा राजस्थान’ शीर्षक की नवीन तीन पुस्तकों के तीन भाग यथा ‘हमारा राजस्थान भाग प्रथम, द्वितीय और तृतीय क्रमशः कक्षा 6, 7 और 8 में लागू की जाएगी. शिक्षा में किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए. इसी उद्देश्य से पिछली सरकार द्वारा विचारधारा विशेष को पोषित किए जाने वाली पुस्तकों के स्थान पर अब राजस्थान में विद्यार्थियों को राजस्थान के भूगोल, इतिहास और संस्कृति से संबद्ध पुस्तकें पढ़ाई जाएगी. शिक्षा सत्र 2020-21 से कक्षा 9 एवं कक्षा 11 में एनसीईआरटी की हिन्दी एवं अंग्रेजी माध्यम की पुस्तकें लागू की जायेगी. कक्षा 10 एवं 12 में सत्र 2020-21 में वर्तमान में संचालित पाठ्यक्रम यथावत रखा जायेगा, लेकिन सत्र 2021-22 से इन कक्षाओं में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम की पुस्तकें लागू की जाएगी.

11वीं और 12वीं की पुस्तकें अगले साल से होंगी लागू
शिक्षा मंत्री ने बताया कि कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थियों को राजस्थान के भूगोल, इतिहास, संस्कृति एवं शौर्य परम्परा से परिचय कराने और आजादी के बाद का राष्ट्र निर्माण और स्वर्णिम भारत के विविध पक्षों से परिचय कराने के लिए विशेष पुस्तकों का प्रावधान किया गया है. इसके तहत कक्षा 9 में अब ‘राजस्थान का स्वतंत्रता आंदोलन एवं शौर्य परम्परा’, कक्षा 10 में ‘राजस्थान का इतिहास एवं संस्कृति’, कक्षा 11 में ‘आजादी के बाद का स्वर्णिम भारत, भाग प्रथम’ व कक्षा 12 में ‘आजादी के बाद का स्वर्णिम भारत, भाग द्वितीय’ का अध्ययन करवाया जाएगा. इस दौरान गोविंद सिंह डोटासरा ने तबादलों को लेकर कहा कि तबादले जरूरी नहीं डिजायर के आधार पर ही हों. 

... संवाददाता ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट


First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in