टिड्डियों के खात्में के होंगे प्रभावी प्रयास, कृषि मंत्री लालचंद कटारिया जैसलमेर दौरे पर

Suryaveer Singh Tanwar Published Date 2019/09/13 11:43

जैसलमेर: पड़ोसी देश पाकिस्तान के रास्ते प्रदेश के पश्चिमी इलाके में पहुंची भारी संख्या में टिड्डियों ने इलाके में आतंक मचा रखा है. किसानों की खड़ी फसलों के साथ साथ टिड्डियां पशुधन के लिये उगे चारागाहों को भी चट कर रही है. ऐसे में किसानों व पशुपालकों के लिये ये टिड्डियां परेशानी का सबब बनी हुई है. जिले में नहरी इलाके के साथ साथ पाकिस्तानी सीमा से लगते इलाकों में टिड्डी दल ने तबाही मचाकर रख दी है ऐसे में किसान और पशुपालक दोनो ही त्राहिमाम कर रहे है. 

किसानों और पशुपालकों में भय व्याप्त: 
पश्चिमी राजस्थान की भारत पाक सरहद पर इन दिनों पाकिस्तान से हवा में उड़कर आए आतंकियों ने तबाही मचा रखी है. जी हां हम बात कर रहे हैं इलाके में फसलों पर मंडरा रही इन्ही टिड्डियों की जो पाकिस्तान से उडकर भारत में प्रवेश कर गई है और अब जैसलमेर के सीमा से लगते पूरे इलाके में जमकर तबाही मचा रही है. किसानों की खड़ी फसलों के साथ साथ यह टिड्डियां पशुओं के चारागाहों को भी नष्ट कर रही है जिससे किसानों और पशुपालकों में भय व्याप्त हो गया है. गौरतबल है कि जैसलमेर में पहले ही बारिश की देरी के चलते किसानों को फसलों की बुआई का पूरा वक्त नहीं मिला जिससे यहां औसत से कहीं कम बुआई ही हो पाई है वहीं बारिश के बाद इलाके के चारागाहों में पशुओं के चरने योग्य जैसे ही चारा उगना आरम्भ हुआ था वैसे ही पाकिस्तान से आई टिड्डियों ने खेतों और चारागाहों को अपनी चपेट में लेकर तहस नहस करना आरम्भ कर दिया. किसानों और पशुपालकों के लिये आए इस संकट को लेकर कुछ दिन पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की जैसलमेर यात्रा के दौरान किसानों ने उन्हें अपनी आपबीती सुनाई थी जिसपर तत्काल गंभीरता दिखाते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेष के कृषि मंत्री लालचंद कटारिया को जिले में टिड्डियों के कारण हुए खराबे का जायजा लेने व टिड्डियों की रोकथाम के लिये प्रभावी प्रयास करने के लिये उन्हें जैसलमेर भेजा है.  

टिड्डी दल को रोकने के लिये पर्याप्त संसाधन नहीं
मंगलवार को जैसलमेर पहुंचे कृषि मंत्री कटारिया ने नहरी इलाकों के साथ साथ जिले के अन्य इलाकों का भ्रमण कर किसानों और पशुपालकों की समस्याओं को सुना था और इलाके में टिड्डियों द्वारा फैलाये गये आतंक का धरातल पर जायजा लिया। जैसलमेर पहुंचे मंत्री कटारिया ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री किसानों व पशुपालकों की समस्याओं को लेकर गंभीर है और टिड्डी दल के चलते आ रही परेशानी को दूर करने के लिये प्रभावी प्रयास भी कर रहे हैं. कटारिया ने बताया कि जिले में टिड्डी दल पाकिस्तान की सीमा से भारत में आया है और उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान के पास टिड्डी दल को रोकने के लिये पर्याप्त संसाधन नहीं है ऐसे में वहां के इलाकों से टिड्डियां भारत में आ रही है. उन्होंने यह भी बताया कि इस संबंध में उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ साथ लोकस्ट विभाग के अधिकारियों से भी बात की है और इनसे निपटने के लिये प्रभावी कार्ययोजना भी आगामी दिनों में बनायेंगे.

किसानों को विभाग की ओर से प्रशिक्षण दिया जायेगा:  
कटारिया ने कहा कि बुधवार को वे जिला कलक्टर कार्यालय में टिड्डी दल को लेकर एक बैठक का आयोजन करेंगे जिसमें टिड्डियों की रोकथान के लिये अबतक किये गये प्रयासों की समीक्षा के साथ साथ आगमी दिनों में और अधिक कड़े प्रयासों की रणनीति पर विस्तार से चर्चा की जायेगी. मंत्री कटारिया ने यह भी कहा कि पिछले दिनों  राज्य सरकार द्वारा जिले में टिड्डी दल की अधिकता को देखते हुए कृषि विभाग के 70 से अधिक अधिकारियों को जैसलमेर लगाया था लेकिन उनमें से कईयों ने आजतक जैसलमेर में ज्वाईन ही नहीं किया है. ऐसे में मंत्री इन अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात भी कही है. उन्होंने बताया कि इस समस्या के निराकरण के लिये स्थानीय किसानों को भी विभाग की ओर से प्रशिक्षण दिया जायेगा और कंट्रोल रूम की स्थापना कर किसानों को राहत प्रदान करने का काम भी किया जायेगा.  

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in