शान-ओ-शौकत से मनाया जा रहा ईद मिलादुन्नबी का पर्व

शान-ओ-शौकत से मनाया जा रहा ईद मिलादुन्नबी का पर्व

शान-ओ-शौकत से मनाया जा रहा ईद मिलादुन्नबी का पर्व

अजमेर: मस्लिम समुदाय पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब की विलादत की खुशी में शुक्रवार को शान ओ शौकत से ईद मीलादुन्नबी मनाया जा रहा है. इस मौके पर महफिल ए मीलाद होगी. सलातो सलाम पेश किया गए. खुशी के इस मौके पर दरगाह और आसपास के क्षेत्र में विशेष सजावट की गई है. हजरत पैगंबर मोहम्मद साहब के यौमे पैदाइश पर जश्ने ईद मिलादुन्नबी के मौके पर गरीब नवाज वेलफेयर सोसायटी की ओर से दरगाह बाजार में केक काटकर जश्न ए मिलाद उन नबी की खुशियां मनाई गई इस दौरान सभी धर्मों के लोग मौजूद रहे.

आशिकान ए रसूल नए कपड़े पहनें गए:
इस्लाम के आखिरी पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब की विलादत इस्लामी संवत के रबी उल अव्वल महीने की 12 तारीख को हुई थी. इसी मुनासिबत से हर साल इस दिन को ईद मीलादुन्नबी के रूप में मनाया जाता है. आशिकान ए रसूल नए कपड़े पहनें गए. कपड़ों पर इत्र लगाएं गए. विलादत की खुशी का इजहार अकीदतमंदों की ओर से बाजारों व घरों की सजावट कर किया जाता है. 

घरों पर नबी की आमद के नारे लिखे झंडे लगाए:  
दरगाह परिसर को विशेष रोशनी से सजाया गया है. दरगाह के पास चिश्तिया मार्केट, अंदरकोट और लंगर खाना गली आदि क्षेत्रों में भी विशेष सजावट की गई है. मसाजिद पर भी विशेष रोशनी की गई है. घरों पर नबी की आमद के नारे लिखे झंडे लगाए गए हैं. गुब्बारों व विशेष लाइटों से घरों में सजावट की गई है. कोविड-19 के चलते 65 साल में पहली बार जुलूस नहीं निकलेगा. अकीदतमंद अपने स्तर पर लंगर के आयोजन करेंगे. घरों में नियाज दिला कर तबर्रुक तकसीम किया गया. 
 

और पढ़ें