Live News »

खुद को जिंदा साबित करने 8 माह से भटक रहा बुजुर्ग

खुद को जिंदा साबित करने 8 माह से भटक रहा बुजुर्ग

श्रीगंगानगर: एक इंसान को डॉक्टर ही मृत घोषित कर सकता है, लेकिन यहां पर श्रीगंगानगर जिल के एक ग्राम विकास अधिकारी ने जीवित इंसान को मृत घोषित कर दिया. ग्राम पंचायत महियांवाली के ग्राम विकास अधिकारी ने एक वृद्ध व्यक्ति को मृतक दिखा कर उसकी पेंशन रोक दी, जिससे विभाग की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़े हो गए. बावजूद इसके पिछले करीब आठ माह से यह बुजुर्ग विभिन्न कार्यालओं के चक्कर काटकर स्वयं के जिंदा होने के प्रमाण दे रहा है. लेकिन विभाग इसे जिंदा मानने को तैयार ही नहीं है. आठ महीने चक्कर काटने के बाद अब जाकर जिला परिषद सीईओ सौरव स्वामी ने पीड़ित को न्‍याय का आश्‍वासन दिया है.

त्रिलोकनाथ नाम के अन्य व्यक्ति कि मौत हो गयी थी: 
मामला ग्राम पंचायत महियांवाली का है. यहां के त्रिलोकनाथ नामक ग्रामीण को समाज कल्‍याण विभाग से वृद्धा पेंशन मिलती थी. इसी गांव के त्रिलोकनाथ नाम के अन्य व्यक्ति कि मौत हो गयी लेकिन जांच के दौरान ग्राम विकास अधिकारी ने इस त्रिलोकनाथ को मृत दिखा दिया. इसके बाद बिना जांच किए ही समाज कल्‍याण विभाग ने भी उसकी पेंशन बंद कर दी. इससे त्रिलोकनाथ को परेशानियों को सामना करना पड़ा. फरवरी महीने से त्रिलोकनाथ का स्टेटस डेथ बता कर उसकी सरकारी सुविधाएं रोक दी गयी हैं.

पीड़ित वृद्ध अपने जिंदा होने का सुबूत लेकर काट रहा चक्कर: 
जब त्रिलोकनाथ को मामले की जानकारी हुई तो उसने खुद ही जानकारी जुटाई. उसे पता चला कि उसकी पेंशन भी बंद कर दी गई है और उसे मृत घोषित कर दिया गया है. पीड़ित वृद्ध अपने जिंदा होने का सुबूत लेकर जगह जगह चक्कर काटता रहा लेकिन उसे न्याय नहीं मिल पाया है.

गलती दोनों तरफ से रही: 
अब जिला परिषद सीईओ सौरव स्वामी ने पीड़ित को न्याय आश्वासन दिया है. उन्होंने कहा की गलती दोनों तरफ से रही है. विभाग ने भी लापरवाही से पीड़ित को मृत घोषित कर दिया और उधर वृद्ध ने भी अपना रेगुलर सत्यापन नहीं करवाया. उन्होंने कहा की अब आधार कार्ड में जयपुर से ही प्रोविजन भेज करने के बाद स्टेटस बदल सकेगा. उन्होंने कहा की जल्द ही इस पीड़ित को न्याय मिल सकेगा. 

...श्रीगंगानगर से सुनील सिहाग की रिपोर्ट

और पढ़ें

Most Related Stories

Sriganganagar: आंगन में पड़े मिले महिला और 2 बच्चों के शव, पति फरार

श्रीगंगानगर: जिले के चूनावढ़ थाना क्षेत्र के गांव 21ML में देर रात हुए ट्रिपल मर्डर से सनसनी मच गई. दरअसल, श्रीगंगानगर के चूनावढ़ थाना क्षेत्र के गांव 21ML में अल सुबह ग्रामीणों ने जब घर के आंगन  में महिला सहित दो बच्चों के लहूलुहान हालत में शव देखे तो गांव में हड़कंप मच गया. ग्रामीणों की सूचना पर चूनावढ़ थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो एक महिला सहित दो बच्चों के कुल्हाड़ी से कटे हुए लहूलुहान हालत में शव मिले.

पूर्व आईएएस अशोक सिंघवी की जमानत पर फैसला सुरक्षित

मृतक महिला का पति जसवीर सिंह गायब मिला: 
चुनावढ़ पुलिस के मौका मुआयना करने पर मृतक महिला का पति जसवीर सिंह गायब मिला. जिससे पुलिस को शक है कि पति जसवीर सिंह ने ही इस ट्रिपल मर्डर की जघन्य वारदात को अंजाम दिया है. फिलहाल श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय से FSL और MOB टीम मौके पर पहुंच गई है और घटनास्थल का मौका मुआयना करने में जुटी हुई है. वहीं ग्रामीणों से भी पुलिस मामले की जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है.

मध्य प्रदेश में हुआ शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार, सिंधिया समर्थकों को मिला मौका 

पुलिस ट्रिपल मर्डर के पीछे असल वजह जानने में जुटी: 
बताया जा रहा है कि यह परिवार करीब 20 दिन पहले ही गांव के ही किसी जमींदार के यहां खेत में काम करने के मकसद से गांव में रह रहा था. यह परिवार श्रीगंगानगर जिले के पदमपुर क्षेत्र का रहने वाला बताया जा रहा है. चूंकि यह परिवार गांव में अभी कुछ दिन पहले ही आया था इसलिए ग्रामीणों को पारिवारिक सदस्यों के बीच चल रहे मनमुटाव या किसी अन्य विवाद की कोई जानकारी नहीं है. फिलहाल पुलिस इस ट्रिपल मर्डर के पीछे असल वजह जानने में जुटी हुई है. वहीं फरार चल रहे पति जसवीर सिंह की भी तलाश में जुटी हुई है. 

बेटी की शादी की तैयारी में निकले पिता की सड़क हादसे में मौत

बेटी की शादी की तैयारी में निकले पिता की सड़क हादसे में मौत

श्रीविजयनगर(श्रीगंगानगर): कस्बे के निकटवर्ती रायसिंहनगर लिंक रोड पर रेड बग्गी गांव के पास मोटरसाइकिल पर सवार चार लोगों की ट्रैक्टर-ट्राली से टक्कर होने पर दो की मौके पर मौत हो गई. जबकि अन्य दो गंभीर घायल हो गए. जानकारी के अनुसार बीते दिन देर शाम अचानक ट्रैक्टर-ट्राली की मोटरसाइकिल में भिड़ंत हो गई जिससे मोटरसाइकिल पर सवार 4 लोगों में से दो की मौके पर मौत हो गई.

अजमेर के गुरुजी की रासलीला आयी सामने, परीक्षा देने गई नाबालिग छात्रा को घर ले जाकर की अश्लील हरकत 

दोनों गंभीर घायलों को सूरतगढ़ रेफर किया:
घटना की जानकारी मिलने के बाद रामसिंहपुर पुलिस मौके पर पहुंची जहां से घायलों व मृतकों को श्रीविजयनगर के सरकारी अस्पताल लाया गया. सरकारी अस्पताल में चिकित्सकों की टीम ने मृत लोगों के शव मोर्चरी में रखवाया जिन का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा. वहीं दोनों गंभीर घायलों को सूरतगढ़ रेफर किया. प्राप्त जानकारी के अनुसार हरचंद निवासी 12BLD डबजाल अपनी बहन शरबती, शिमली, डेढ़ वर्षीय बच्ची सहित ढाबा गांव से शादी समारोह अटेंड कर लौट रहे थे तभी अचानक कर रेड बग्गी के पास तेज रफ्तार से आ रहे ट्रैक्टर ने उन्हें टक्कर मार दी. टक्कर लगने पर सड़क पर गिरने से हरचंद व शरबती के सिर पर चोट आई जिससे उनकी मौके पर मौत हो गई. 

VIDEO: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दी चिकित्सा जगत को बड़ी सौगात, 108 भवनों का किया शिलान्यास 

हरचंद की पुत्री का 10 जुलाई का विवाह: 
वहीं शिमला व डेढ़ वर्षीय बच्ची एकता को श्रीविजयनगर सीएससी लाया गया जहां से उन्हें सूरतगढ़ रेफर कर दिया गया. परिवार जनों से प्राप्त जानकारी के अनुसार हरचंद की पुत्री का 10 जुलाई को विवाह होना है. ऐसे में विवाह की तैयारियों को लेकर घर में खुशी का माहौल था. परंतु कल हुए सड़क हादसे में परिवार की खुशियां मातम में बदल गई. 

शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप, 8 माह की गर्भवती महिला ने दर्ज करवाया मामला

शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप, 8 माह की गर्भवती महिला ने दर्ज करवाया मामला

श्रीविजयनगर(श्रीगंगानगर): आठ माह की गर्भवती महिला ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के आरोप में एक युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है. पीड़िता ने आरोपी पर सोशल मीडिया पर अश्लील फोटो और वीडियो वायरल करने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है. 

लगातार 19 वें दिन पेट्रोल-डीजल की दर में वृद्धि जारी, पेट्रोल 9.22 रुपए तो डीजल 10.42 रुपए हुआ महंगा 

नशीला पेय पिलाकर किया दुष्कर्म: 
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 20 वर्षीय युवती ने आरोप लगाया है कि उसका पूर्व पति से तलाक होने के बाद वार्ड नंबर 3 निवासी युवक उसके साथ शादी करने का झांसा देकर, अपने इष्ट देव की कसमें खाकर, और धमकी देकर उसे किसी अन्य की सूचना पर बुलाया. वहीं उस महिला की पुत्री ने उसे नशीला पेय पदार्थ पिलाकर बेहोश कर दिया और उसके बाद व्यक्ति ने दुष्कर्म किया. होश आया तो उसके साथ दुष्कर्म हो चुका था.

नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता के कोर्ट में बयान देने से पहले पिता की हत्या, चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज 

पीड़िता वर्तमान में 8 माह की गर्भवती: 
उसके बाद फोटो वीडियो वायरल करने की धमकी देकर व्यक्ति लगातार उससे मौका मिलने पर दुष्कर्म करता रहा. जिससे वह गर्भवती हो गई और वर्तमान में 8 माह की गर्भवती है. पुलिस ने महिला की शिकायत पर व्यक्ति व अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. 

 

डिग्गी में डूबने से चाचा-भतीजा की हुई मौत

डिग्गी में डूबने से चाचा-भतीजा की हुई मौत

अनूपगढ़(श्रीगंगानगर): अनूपगढ़ क्षेत्र के गांव पुराने बिंजोर में आज वाटरवर्क्स की डिग्गी में डूबने से चाचा-भतीजे की दर्दनाक मौत हो गई. पुलिस ने दोनों शवों को अनूपगढ़ के राजकीय चिकित्सालय के मोर्चरी में पोस्टमार्टम के लिए रखवाया है. मिली जानकारी के अनुसार 9 वर्षीय विकास अपने दोस्त मनीष के साथ गांव में बने वाटर वर्क्स के पास खेल रहे थे. अचानक खेलते खेलते विकास जिस टायर से खेल रहा था वो टायर वाटर वर्क्स की डिग्गी में गिर गया. जब विकास टायर को निकालने के लिये डिग्गी के पास गया तो उसका पैर फिसल गया और वो डिग्गी में जा गिरा. जब मनीष ने विकास को डिग्गी में गिरता हुआ देखा तो मनीष ने भागकर उसके घर जाकर विकास परिजनों को सूचना दी.

राजस्थान के बॉर्डर सील करने को लेकर 'कन्फ्यूजन' ! कुछ देर में ही पुलिस मुख्यालय से जारी हुआ संशोधित आदेश 

भतीजे को बचाते समय चाचा ने भी खोया संतुलन:
सूचना मिलते ही विकास के चाचा मांगीलाल दौड़कर डिग्गी के पास आए और विकास को बचाने के लिए डिग्गी में कूद गए. डिग्गी में कूदने के बाद मांगीलाल अपना संतुलन खो बैठा और विकास को बचाते बचाते वह भी डूब गया. इतने में काफी ग्रामीण भी वहां एकत्रित हो गए. ग्रामीण दोनों को डिग्गी से बाहर निकालने के लिए वाटर वर्क्स की डिग्री में कूद गए. ग्रामीणों के द्वारा मांगीलाल को डिग्गी से बाहर निकाल दिया गया और उसे अनूपगढ़ के राजकीय चिकित्सालय लिए निजी वाहन से रवाना कर दिया. मगर रास्ते में ही मांगीलाल की मौत हो गई. 9 वर्षीय विकास लगभग 1 घंटे के बाद वाटर वर्क्स की डिग्गी में मिला तब तक विकास मौत हो चुकी थी. ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस एसआई मोटाराम में मौके पर पहुंचकर दोनों शवों को अनूपगढ़ के राजकीय चिकित्सालय के मोर्चरी में पोस्टमार्टम कर दोनों शव को परिजनों को सौप दिए. एसआई मोटाराम ने बताया कि विकास के पिता मुखराम के द्वारा मर्ग दर्ज करवाई गई है. 

रिश्ते हुए शर्मसार: नहाते समय वीडियो बनाकर 6 साल तक किया चचेरी बहन से दुष्कर्म, तीन बार कराया गर्भपात, केस दर्ज  

पुलिसवाले ने ही की पुलिसवाले से ठगी, खुद का वीडियो बनाकर किया सोशल मीडिया पर वायरल

श्रीगंगानगर: जिले में ठगी का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसके बारे में सुनकर हर कोई हैरान नजर आ रहा है. जब किसी के साथ ठगी होती है तो वह उसकी रिपोर्ट करने के लिए थाने में पुलिस के पास जाता है. लेकिन जब ऐसा ही कारनामा कोई पुलिसवाला करें तो अपराधियों में डर और आमजन में विश्वास का ध्येय वाक्य सार्थक होता नजर नहीं आता है. श्रीगंगानगर में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां एक पुलिसवाले ने ही दूसरे पुलिसवाले को ठगी का शिकार बना लिया. 

VIDEO: लॉक डाउन के बाद और अनलॉक 1.0 की संभावनाओं को लेकर First India पर बोले सीएस डीबी गुप्ता  

CI रणवीर बेनीवाल से हुई 3 लाख की ठगी:
मिली जानकारी के अनुसार CI रणवीर बेनीवाल से 3 लाख की ठगी का मामला सामने आया है. सीआई ने धोखाधड़ी का आरोप तत्कालीन हनुमानगढ़ SP के PA राजेश बंसल पर लगाया है. इसके साथ ही CI ने PA पर SP का नाम लेकर लगातार कई सालों तक पैसे लेने का आरोप भी लगाया है. बेनीवाल ने PA राजेश बंसल पर SP का नाम लेकर 2 कंपनियों में बीमा करने के नाम पर रुपए लेने की बात कही है. इसके साथ ही कंपनियों के बंद हो जाने पर लगातार पैसे लेकर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है.

लॉकडाउन के दौरान के बिजली-पानी बिल माफी को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका 

हनुमानगढ़ के गोलूवाला SHO रहते हुए धोखाधड़ी के शिकार हुए: 
CI रणवीर बेनीवाल हनुमानगढ़ के गोलूवाला SHO रहते हुए धोखाधड़ी के शिकार हुए है. अभी CI रणवीर बेनीवाल श्रीगंगानगर SP कार्यालय में तैनात हैं. इस मामले को लेकर रणवीर बेनीवाल ने खुद का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया है. 

राजकीय सम्मान के साथ हुआ SHO विष्णुदत्त विश्नोई का अंतिम संस्कार, नम आंखों से हजारों लोगों ने दी अंतिम विदाई

राजकीय सम्मान के साथ हुआ SHO विष्णुदत्त विश्नोई का अंतिम संस्कार, नम आंखों से हजारों लोगों ने दी अंतिम विदाई

रायसिंहनगर: श्रीगंगानगर के रायसिंहनगर में राजकीय सम्मान के साथ एसएचओ विष्णुदत्त विश्नोई का अंतिम संस्कार किया गया. पार्थिव देह के साथ राजगढ़ से आए पुलिस जवानों की आंखें नम हो गई. अंतिम विदाई में हजारों की संख्या में क्षेत्र के लोग पहुंचे. विष्णुदत्त विश्नोई के गांव में शोक की लहर छाई हुई है. गांव में भी दो दिन से चूल्हा नहीं जला है. इससे पहले SHO विष्णुदत्त की पार्थिव देह लूणेवाला लाई गई. विष्णुदत्त की अंतिम यात्रा गांव की गलियों से रवाना हुई. करीब एक किलोमीटर तक लोग अंतिम यात्रा में शामिल हुए. जिलेभर के पुलिस अधिकारी और जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे. 

जगह-जगह लोगों ने दी श्रद्धांजलि:
सादुलपुर SHO विष्णुदत्त विश्नोई को श्रीगंगानगर में जगह-जगह लोगों ने श्रद्धांजलि दी. पार्थिव देह पर राजियासर से जैतसर,रायसिंहनगर तक की पुष्पवर्षा की गई. लोगों ने नम आंखों से श्रद्धांजलि दी. लोगों ने जब तक सूरज-चांद रहेगा विष्णुदत्त विश्नोई तेरा नाम रहेगा जैसे नारे लगाते हुए नम आंखों से भावभिनी श्रद्धांजलि अर्पित की.

Rajasthan Corona Updates: चित्तौड़गढ़ में एक मरीज की मौत, राजस्थान में 152 नए केस आये सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 6894

दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग:
सादुलपुर SHO विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या प्रकरण की CBI जांच करवाने की मांग गई. अलग-अलग संस्थाओं ने ज्ञापन सौंपकर सीबीआई जांच की मांग की. सरपंच मोहिनी देवी ने SHO को ज्ञापन सौंपा. राजस्थान ब्राह्मण महासभा ने SHO को ज्ञापन सौंपा. विश्नोई समाज के लोगों ने SDM कार्यालय में ज्ञापन सौंपकर सीबीआई जांच की मांग की. निष्पक्ष जांच करवाकर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की.

दबंग छवि और बेहद जबांज ऑफिसर थे विष्णुदत्त:
चूरू जिले के सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त बिश्नोई ने शनिवार को आत्महत्या कर ली. जानकारी के अनुसार विश्नोई ने अपने क्वार्टर में फांसी का फंदा लगाकर जीवनलीला समाप्त की है. हालांकि आत्महत्या के कारणों का अभी कोई पता नहीं चला है. वहीं पुलिस अधिकारी अभी कुछ भी बोलने से दूरी बना रहे हैं. बता दें कि बिश्नोई ईमानदार ऑफिसर के साथ पुलिस विभाग में दबंग छवि व बेहद जबांज ऑफिसर थे. 

भरतपुर की सेवर जेल तक पहुंचा कोरोना वायरस, सब्जी सप्लाई करने वाला निकला संक्रमित

श्रीगंगानगर में बोरवेल में गिरी महिला नरेगा श्रमिक, मौजूद नरेगा श्रमिकों ने निकाला बाहर  

श्रीगंगानगर में बोरवेल में गिरी महिला नरेगा श्रमिक, मौजूद नरेगा श्रमिकों ने निकाला बाहर  

श्रीगंगानगर: राजस्थान के श्रीगंगानगर के बिंझबायला में रविवार को एक महिला नरेगा श्रमिक बोरवेल में गिर गई. यह बोरवेल करीब 60 फीट नीचे था. गनीमत यही रही की मौके पर मौजूद नरेगा श्रमिकों ने महिला को बाहर निकाला और बिंझबायला के अस्पताल में पहुंचाया.

अस्पताल में इलाज जारी:
बिंझबायला के अस्पताल में प्रथम जांच रिपोर्ट करने के बाद तुरंत श्रीगंगानगर रैफर कर दिया गया, जहां महिला का इलाज चल रहा है. बता दें कि बींझबायला से 38 एलएलपी रोड पर नहर के पास मनरेगा का काम चल रहा था. 

COVID-19: देश में 24 घंटे में 6767 नए केस और 140 मरीजों की मौत, कुल मरीजों की संख्या हुई 1 लाख 31 हजार 868

पैर फिसलने से हुआ हादसा:
तभी महिला सोच करने के लिए वहां से चली गई. जैसे ही झाड़ियों के पीछे पहुंची वहां बोरवेल टाइप कुआं जो पुराना बना हुआ था, जिसमें पैर फिसलने से वह 60 फीट नीचे चली गई. तेज आवाज आने पर नरेगा श्रमिक भागे और कपड़ों से रस्सा बनाकर महिला को बाहर निकाला महिला का राजकीय जिला चिकित्सालय में इलाज चल रहा है.

एक पिता की अनूठी पहल, प्रवासी बेटे के आइसोलेशन के लिए बना दिया सर्व सुविधाओं युक्त ढाई दिन का झोपड़ा

जम्मू कश्मीर से प्रवासी मजदूर पहुंचे श्रीगंगानगर, प्रशासन ने नहीं ली सुध, सड़क पर ही रुकने को हुए मजबूर 

जम्मू कश्मीर से प्रवासी मजदूर पहुंचे श्रीगंगानगर, प्रशासन ने नहीं ली सुध, सड़क पर ही रुकने को हुए मजबूर 

श्रीगंगानगर: जम्मू-कश्मीर के साम्बा से चलकर करीब 45 प्रवासी मजदूरों का जत्था श्रीगंगानगर पहुंचा, जिनमें महिलाओं सहित बच्चे भी शामिल है. यह सभी भीलवाड़ा जिले की आसींद तहसील के मूल निवासी है, ये सभी जम्मू-कश्मीर के साम्बा जिले के जिला मजिस्ट्रेट की अनुमति लेकर RJ19 GG 1005 ट्रक से श्रीगंगानगर पहुंच गए. 

सड़क पर ही रुकने को हुए मजबूर:
इस ट्रक ने साधुवाली चैक पोस्ट पर अनुमति पत्र दिखाकर श्रीगंगानगर जिले में प्रवेश किया और कालुवाला फ्लाई ओवर के पास 45 मजदूरों के जत्थे को छोड़ दिया. अब पिछले 2 दिनों से यह सभी मजदूर श्रीगंगानगर के रीको के पास सड़क पर ही रुके हुए है, सामाजिक लोग इनको खाने पीने की व्यवस्था करवा रहे हेब, पहुंचे हुए मजदूरों ने फर्स्ट इंडिया से अपना दुख व्यक्त करते हुए कहा कि अब हमारे पास कुछ नही बचा है सरकार हमें हमारे घर तक पहुचाएं.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आये 57 नए केस, अकेले उदयपुर में 20 संक्रमित मिले, जयपुर में नवजात मिला पॉजिटिव 

इधर विधायक को दी सूचना:
इसके बाद गुरुवार शाम 4 बजे भारतीय जनता युवा मोर्चा के नगर मंडल अध्यक्ष रजत स्वामी ने आसींद के विधायक जब्बर सिंह को दूरभाष के माध्यम से सूचना दी और बताया कि आसींद विधानसभा क्षेत्र के 45 लोग श्रीगंगानगर में सड़क किनारे रूके हुए है और पिछले 40 दिनों से इनकी दुर्गती हो रही है. जिस पर विधायक जब्बर सिंह ने तत्काल कार्यवाही करते हुए अतिरिक्त जिला कलेक्टर गुंजन सोनी से सम्पर्क किया. आसींद विधायक जब्बर सिंह ने आश्वस्त किया कि इन प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए मैं हरसम्भव प्रयास करूँगा. विधायक जब्बर सिंह ने कहा कि इस मामले में वे जिला कलेक्टर भीलवाड़ा से भी बात कर रस्ता निकालने का प्रयास कर रहे है.

शराब पर वसूल की गई करोड़ों रुपए की ओवर रेट! राजस्थान में 5 दिन में बिकी 270 करोड़ रुपए की शराब

Open Covid-19