Live News »

कपिल मिश्रा के चुनाव प्रचार पर लगा 48 घंटे का प्रतिबंध, शाहीन बाग पर दिया था बयान

कपिल मिश्रा के चुनाव प्रचार पर लगा 48 घंटे का प्रतिबंध, शाहीन बाग पर दिया था बयान

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज है. राजनीतिक दलों के नेता चुनाव प्रचार में अपनी ताकत झोंक रहे हैं. इसी बीच चुनाव आयोग ने बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा के चुनाव प्रचार पर रोक लगा दिया है. कपिल मिश्रा पर 48 घंटे के लिए प्रतिबंध लगाया गया है. दिल्ली के शाहीन बाग को मिनी पाकिस्तान बताने वाले बयान पर आयोग ने यह फैसला लिया है. 

दरअसल चुनाव आयोग ने बीजेपी प्रत्याशी कपिल मिश्रा द्वारा शाहीन बाग को ‘मिनी पाकिस्तान’ शब्द का इस्तेमाल करने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया था. कपिल मिश्रा ने नोटिस का जवाब भी दिया था. इसके बाद चुनाव आयोग ने कपिल मिश्रा पर एक्शन लिया है. इसके अलावा कपिल मिश्रा ने यह भी ट्वीट कर कहा था कि आठ फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में दिल्ली की सड़कों पर 'हिंदुस्तान और पाकिस्तान' का मुकाबला होगा. 

बता दें कि इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर चुकी है. दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने दिल्ली पुलिस को कपिल मिश्रा के खिलाफ FIR दर्ज करने का निर्देश दिया था. 

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना से भी बड़ा खतरा लोगों में भय और अफरातफरी का माहौल: सुप्रीम कोर्ट

कोरोना से भी बड़ा खतरा लोगों में भय और अफरातफरी का माहौल: सुप्रीम कोर्ट

जयपुर: देश में लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों के पलायन पर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने देश में फर्जी खबरो को लेकर चिंता जतायी है. सुप्रीम कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि कोरोना से भी बड़ा खतरा लोगों में भय व अफरातफरी का माहौल है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए उठाए गए कदमों पर संतोष व्यक्त भी किया.लेकिन कोर्ट ने सोशल मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया में इसको लेकर फैलाई गई फर्जी खबरों पर चिंता जताते हुए कहा कि अलग-अलग माध्यमों से फैलाई गई फर्जी खबरों की वजह से प्रवासी मजदूरों का बड़ी संख्या में शहरों से अपने गांवों को पलायन हुआ.

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में आए तबलीगी जमात के 450 सदस्य, चिकित्सा विभाग ने पूरे प्रदेशभर में जारी किया अलर्ट

कोर्ट ने कहा कि शहरों में बड़ी संख्या में काम करने वाले प्रवासी मजदूरों में आतंक उस समय फैला जब कुछ फर्जी खबरें सामने आने लगी, जिसमें ये कहा गया कि लॉकडाउन तीन महीने से अधिक समय तक जारी रहेगा. इसके चलते देश के बड़े वर्ग को हुई पीड़ा को लेकर भी कोर्ट ने सख्त टिप्पणी कही. कोर्ट ने कहा कि इस तरह की फर्जी खबरों से मजदूरों में डर बढ़ा और इसी की वजह से इन्हें अपने गांवों को लौटने के लिए मजबूर होना पड़ा, यही नहीं इस दौरान उन्हें अनकही पीड़ा का भी सामना करना पड़ा. यही नहीं इस प्रक्रिया के दौरान कुछ को अपना जीवन भी खोना पड़ा. ऐसे में हमारे लिए फर्जी खबरों के इस खतरे को अनदेखा करना संभव नहीं है.

एक साल तक की हो सकती है जेल:
सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट, 2005 की धारा 54 का जिक्र किया, जिसमें किसी व्यक्ति के फर्जी खबरें फैलाने के जुर्म में एक साल की जेल और जुर्माने का प्रावधान है. इसमें यह भी कहा गया है कि ऐसे मामलों में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 188 के तहत सजा दी जा सकती है. पीठ ने कहा कि यह सभी लोग जानते हैं कि घबराहट और डर का माहौल मानसिक स्वास्थ्य को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है. हमें इसकी जानकारी है कि सरकार इन मजदूरों की मानसिक स्थिति महत्व के प्रति जागरूक है, जो लोग दहशत की स्थिति में हैं उन्हें शांत करने की ओर कदम उठाएगी.

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में सामने आए 386 नए मामले, तबलीगी जमात के लोगों के घूमने से बढ़े मामले- स्वास्थ्य मंत्रालय

सरकार ने उठाए है कदम:
केन्द्र सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में कोरोना को लेकर उठाए गये कदम की जानकारी दी है. केन्द्र सरकार की ओर से पेश किये गये जवाब में सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस चुनौती से निबटने के मामले में फर्जी खबरें एकमात्र सबसे बड़ी बाधक बनी हैं. साथ ही सरकार ने कहा कि देश में कोरोना जांच की क्षमता बढ़ाई है और इस महामारी को देश में फैलने से रोकने के प्रयासों के तहत किसी भी आपात स्थिति का सामना करने के लिये 40,000 वेंटिलेटर खरीदने का आदेश भी दिया है. साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव स्तर के एक अधिकारी के नेतृत्व में एक अलग इकाई गठित करेगी जिसमें एम्स जैसी मान्यता प्राप्त संस्थाओं के प्रमुख डॉक्टर होंगे, जो नागरिकों के प्रत्येक सवाल का जवाब देंगे और कोविड-19 के बारे में सही और वास्तविक तथ्य उपलब्ध कराएंगे.

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में सामने आए 386 नए मामले, तबलीगी जमात के लोगों के घूमने से बढ़े मामले- स्वास्थ्य मंत्रालय

Coronavirus  Updates: पिछले 24 घंटे में सामने आए 386 नए मामले, तबलीगी जमात के लोगों के घूमने से बढ़े मामले- स्वास्थ्य मंत्रालय

नई दिल्ली: देश-दुनिया में कोरोना वायरस तेजी से पैर पसार रहा है. देश में COVID-19 से संक्रमित लोगों की संख्या 1600 से ज्यादा हो गई है. इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि अब तक कोरोना वायरस के 1637 मरीज सामने आए हैं. पिछले 24 घंटे में 386 नए मामले सामने आए हैं. वहीं 38 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 132 मरीज ठीक हुए हैं.

Rajasthan Corona Update: रामगंज में सामने आए 13 नए पॉजिटिव केस, 106 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या 

तबलीगी जमात के लोगों के घूमने से मामले बढ़े:
उन्होंने बताया कि कल से कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ी है. साथ ही कहा कि तबलीगी जमात के लोगों के घूमने से मामले बढ़े हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने कहा कि तबलीगी जमात से जुड़े 1800 लोगों को अस्पताल और क्वारनटीन सेंटर भेजा गया है. इससे आगे उन्होंने बताया कि रेलवे 3.2 लाख आइसोलेशन और क्वारनटीन बेड बना रहा है. ये 5000 रेल कोच में बनेगा. इसका काम शुरू हो गया है.

कोरोना इफेक्ट के बीच हवाई यात्रा से जुड़ी खबर, अटक गया फ्लाइट्स का समर शेड्यूल 

जयपुर में 13 नए पॉजिटिव मामले आए सामने:
वहीं अगर राजस्थान की राजधानी जयपुर की बात करें तो आज रामगंज में 13 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं. ऐसे में अब राजधानी जयपुर में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 34 हो गई है. वहीं प्रदेशभर की बात करें तो मरीजों का ग्राफ बढ़कर 106 पहुंच गया है. राजधानी जयपुर में 13 नए मामले सामने आने पर अब यह प्रदेश में कोरोना का केंद्र बन गया है. जयपुर पॉजिटिव मरीजों की संख्या के मामले में भीलवाड़ा से आगे निकल गया है. भीलवाड़ा में फिलहाल मरीजों की संख्या 26 है. 
 

कोरोना इफेक्ट के बीच हवाई यात्रा से जुड़ी खबर, अटक गया फ्लाइट्स का समर शेड्यूल

कोरोना इफेक्ट के बीच हवाई यात्रा से जुड़ी खबर, अटक गया फ्लाइट्स का समर शेड्यूल

जयपुर: विश्वभर में कोहराम मचाने वाले कोरोना वायरस ने इस बार सब कुछ बदल दिया है. कोरोना वायरस के चलते फ्लाइट्स का संचालन पिछले एक हफ्ते से बंद है और 14 अप्रैल तक संचालन नहीं होगा. बड़ी बात यह है कि पिछले सात दशक में इस बार ऐसा पहली बार हो रहा है जब 29 मार्च से समर शेड्यूल लागू नहीं हो पा रहा है. 

Rajasthan Corona Update: रामगंज में सामने आए 13 नए पॉजिटिव केस, 106 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या 

कोरोना वायरस के चलते नया फ्लाइट शेड्यूल लागू नहीं हो सका: 
हर साल 2 बार बदलने वाले फ्लाइट्स के शेड्यूल में इस बार बदलाव नहीं हो पा रहा है. दरअसल हर वर्ष मार्च माह के अंतिम रविवार से फ्लाइट्स का समर शेड्यूल लागू होता है, जबकि अक्टूबर माह के अंतिम रविवार से फ्लाइट्स का विंटर शेड्यूल लागू होता है. ये दोनों शेड्यूल न केवल देशभर में संचालित होने वाले विमानों पर लागू होते हैं, बल्कि विश्वभर में सभी इंटरनेशनल एयरलाइंस भी इसे फॉलो करती हैं. इस बार 29 मार्च से फ्लाइट्स का समर शेड्यूल लागू होना था, लेकिन कोरोना वायरस के चलते नया फ्लाइट शेड्यूल लागू नहीं हो सका है. 

फ्लाइट्स का संचालन 14 अप्रैल तक के लिए बंद रहेगा:
देश में लॉकडाउन के चलते फ्लाइट्स का संचालन 14 अप्रैल तक के लिए बंद रहेगा. इसके बाद यदि लॉक डाउन समाप्त हो जाता है, तो फ्लाइट्स का संचालन 15 अप्रैल से शुरू हो सकता है. बड़ी बात यह है कि नए शेड्यूल में जयपुर एयरपोर्ट से मौजूदा फ्लाइट्स के साथ में 6 नई फ्लाइट शुरू होनी थी, ये फ्लाइट्स जयपुर से अलग-अलग शहरों को जोड़तीं, लेकिन हवाई सेवाएं बंद होने से अब नई फ्लाइट्स शुरू होने पर संकट छा गया है. दरअसल एयरलाइंस के खराब आर्थिक हालात के बीच नई फ्लाइट शुरू होने की संभावना काफी कम है. 

ये नई फ्लाइट शुरू होनी थी 29 मार्च से:
- कोलकाता के लिए सुबह 8:50 बजे गो एयर की फ्लाइट G8-703
- अहमदाबाद के लिए दोपहर 12:30 बजे गो एयर की फ्लाइट G8-733
- जालंधर के लिए सुबह 7:20 बजे स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-2750
- वाराणसी के लिए दोपहर 2:20 बजे स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-2752
- चंडीगढ़ के लिए इंडिगो की सुबह 10:30 बजे की फ्लाइट 6E-7261
- इंदौर के लिए इंडिगो की दोपहर 2:25 बजे की फ्लाइट 6E-7263

VIDEO: टोंक शहर कभी भी आ सकता है कोरोना की चपेट में! जयपुर के रामगंज से चोरी छिपे टोंक आ रहे लोग 

दरअसल कोरोना के प्रकोप से पहले तक जयपुर एयरपोर्ट से देश के 21 शहरों के लिए 56 फ्लाइट संचालित हो रही थीं. इसके अलावा 5 विदेशी शहरों के लिए 7 इंटरनेशनल फ्लाइट चल रही थीं. नए शेड्यूल में 6 नई फ्लाइट जुड़ने से 3 नए शहर भी जुड़ने जा रहे थे. दरअसल जयपुर से जालंधर, चंडीगढ़ और इंदौर के लिए अभी कोई फ्लाइट संचालित नहीं हो रही है. ये 3 नए शहर जुड़ने से जयपुर से एयर कनेक्टिविटी देश के 24 शहरों के लिए हो जाती. लेकिन कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते फिलहाल इन नई फ्लाइट्स के शुरू होने पर तो संकट है ही, साथ ही मौजूदा फ्लाइट्स में से भी कितनी फ्लाइट संचालित होंगी, यह भी कह पाना मुश्किल है. दरअसल एयरपोर्ट से जुड़े विशेषज्ञों का मानना है कि 15 अप्रैल से या इसके बाद जब फ्लाइट शुरू होंगी तो मौजूदा फ्लाइट्स में से भी दर्जनभर फ्लाइट्स बंद हो सकती हैं. 

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

Coronavirus: मंदी में चली जाएगी वैश्विक अर्थव्यवस्था, भारत और चीन हो सकते हैं अपवाद- यूएन

Coronavirus: मंदी में चली जाएगी वैश्विक अर्थव्यवस्था, भारत और चीन हो सकते हैं अपवाद- यूएन

संयुक्त राष्ट्र: यूएन की ताजा व्यापार रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वायरस महामारी के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था इस साल मंदी में चली जाएगी, लेकिन चीन और भारत इसके अपवाद हो सकते हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान खरबों डॉलर का नुकसान होने की संभावना है इससे विकासशील देशों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो सकता है. 

Coronavirus Updates: उत्तर प्रदेश में कोरोना से 25 साल के युवक की मौत, देशभर में मरीजों की संख्या 1700 के पार 

विकासशील देशों में करीब दो तिहाई लोग आर्थिक संकट का सामना कर रहे: 
रिपोर्ट में हालांकि इस बात की विस्तार से जानकारी नहीं दी गई है कि भारत और चीन इसका अपवाद कैसे बनेंगे. यूएन के अनुसार कोरोना वायरस संकट के चलते विकासशील देशों में रह रहे दुनिया के करीब दो तिहाई लोग आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं और इन देशों के लिए 2500 अरब डॉलर के राहत पैकेज की सिफारिश भी की गई है.

विदेशों में आने जाने वाला निवेश प्रभावित होने की संभावना: 
यूएन और विकास सम्मेलन के विश्लेषण के अनुसार दुनिया की दो-तिहाई आबादी प्रभावित होगी और अगले दो वर्षों के दौरान विकासशील देशों में करीब 2,000 अरब डॉलर से 3,000 अरब डॉलर के बीच विदेशों में आने जाने वाला निवेश प्रभावित होने की संभावना है. विकास सम्मेलन ने कहा कि कोरोना वायरस के लोकर विकसित अर्थव्यवस्थाओं और चीन ने काफी बड़े सरकारी पैकेज की घोषणा की है. जी-20 के अनुसार उनकी अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए ये पैकेज कुल 5,000 अरब डॉलर का होगा. 

 VIDEO- WHO ने की कोरोना वायरस की हवा में मौजूदगी की पुष्टि, अपने पहले के बयान को बदला 

वैश्विक निवेश को अरबों-खरबों डॉलर का नुकसान होगा:
रिपोर्ट के अनुसार इस अभूतपूर्व संकट में अभूतपूर्व फैसले करने हैं. विकास सम्मेलन ने कहा कि इन राहत उपयों के बाद भी विश्व अर्थव्यवस्था इस साल मंदी के दौर में चली जाएगी और वैश्विक निवेश को अरबों-खरबों डॉलर का नुकसान होगा, जो विकासशील देशों के लिए गंभीर मुसीबन बन जाएगा.   

LPG सिलेंडर की कीमत में कटौती, लॉकडाउन के बीच लोगों को मिली राहत

LPG सिलेंडर की कीमत में कटौती, लॉकडाउन के बीच लोगों को मिली राहत

नई दिल्‍ली: कोरोना वायरस के लॉकडाउन के बीच एलपीजी सिलेंडर के दाम कर हो गए हैं. आम आदमी के लिए यह बड़ी राहत की खबर है. 14.2 किलोग्राम वाले गैर-सब्सिडाइज्‍ड एएनपीजी सिलेंडर के दाम दिल्‍ली में 61.5 रुपये प्रति सिलेंडर सस्‍ते हुए हैं. इसी तरह, नॉन सब्सिडी सिलेंडर की कीमत दिल्‍ली में 744 रुपये रह गई है जो 805.50 रुपये थी. इसी तरह, नॉन सब्सिडी सिलेंडर की कीमत कोलकाता में 774.50 रुपये, मुंबई में 714.50 रुपये और चेन्‍नई में 761.50 रुपये हो गई है जो क्रमश: 839.50 रुपये, 776.50 रुपये और 826 रुपये हुआ करती थी.

VIDEO- WHO ने की कोरोना वायरस की हवा में मौजूदगी की पुष्टि, अपने पहले के बयान को बदला 

लगातार दूसरे महीने में एलपीजी के दाम घटे:
लगातार दूसरे महीने में एलपीजी के दाम घटे हैं. आखिरी बार फरवरी में एलपीजी के दाम बढ़े थे. तब दिल्ली में  14 किलोग्राम के गैस सिलेंडर के दाम 144.50 रुपये बढ़ गए थे. वहीं कोलकाता में 149, मुंबई में 145 और चेन्नई में 146 रुपये की बढ़ोतरी हुई थी. 

हम वायरस से लड़ रहे है जनता से नहीं: हाइकोर्ट

19 किलोग्राम कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में भी कटौती:
वहीं आज नॉन सब्सिडी के अलावा 19 किलोग्राम कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में भी कटौती की गई है जो पहली अप्रैल से प्रभावी है. दिल्‍ली में 19 किग्रा का रसोई गैस सिलेंडर 96 रुपये सस्‍ता हुआ है. दिल्ली में कमर्शियल सिलेंडर अब 1285 रुपये का पड़ेगा. वहीं चेन्नई में इस सिलेंडर का दाम 1402 रुपये है. वहीं पांच किलो वाला सिलेंडर भी 21.50 रुपये कम होने के बाद 286.50 रुपये का हो गया.
 

VIDEO- WHO ने की कोरोना वायरस की हवा में मौजूदगी की पुष्टि, अपने पहले के बयान को बदला

जयपुर: भारत समेत पूरी दुनिया में कहर बरपा रहे कोरोना वायरस की हवा में मौजूदगी को लेकर कई तरीके के दावे किए जा रहे हैं. लेकिन अब WHO ने भी इसकी हवा में मौजूदगी को लेकर पुष्टि कर दी है. WHO के अनुसार कोरोना वायरस हवा में 8 घंटे या उससे अधिक समय तक रह सकता है. इसके साथ ही WHO के अनुसार कोरोना वायरस कॉपर, स्टील पर 2 घंटे तक रह सकता है. 

हम वायरस से लड़ रहे है जनता से नहीं: हाइकोर्ट

हर किसी को हर जगह मास्क पहनना आवश्यक:
वहीं पेपर और प्लास्टिक पर यह 3 से 4 घंटे तक जीवित रह सकता है. इसलिए WHO ने लोगों को आगाह करते हुए कहा कि हर किसी को हर जगह मास्क पहनना आवश्यक है. इसके साथ ही सभी को सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचना चाहिए. आपको बता दें कि WHO ने अपने पहले के बयान को बदला है. इससे पहले WHO ने कहा था कि कोरोना वायु जनित नहीं है. 

चिकित्साकर्मियों को अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता:
WHO ने कहा कि यह बहुत महत्वपूर्ण है कि चिकित्सा कर्मी जब मरीजों की देखभाल कर रहे हैं तो उन्हें अतिरिक्त सावधानी बरतने की आश्यकता है. विश्व स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि कोरोना वायरस श्वसन रोग मानव-से-मानव संपर्क, छींक और खांसी के साथ-साथ निर्जीव वस्तुओं पर छोड़े गए कीटाणुओं के माध्यम से फैलता है. ऐसे में इन जीचों पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है. 

Corona Update: पूरे देश में कोरोना का प्रकोप, 1,590 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या, 47 लोगों की मौत

हर संदिग्ध मामले का परीक्षण करें:
इसके साथ ही WHO ने विश्व के सभी देशों को एक संदेश देते हुए कहा कि इसका अभी सिर्फ एक ही उपाय है कि हर संदिग्ध मामले का परीक्षण करें. वहीं अगर कोई संदिग्ध पॉजिटिव मिलता है तो उसे अलग रख कर यह पता लगाएं कि वे लक्षणों के विकसित होने से पहले दो दिनों से किसके संपर्क में हैं और उन लोगों का भी परीक्षण करवाएं. 
 

Corona Update: पूरे देश में कोरोना का प्रकोप, 1,590 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या, 47 लोगों की मौत

Corona Update: पूरे देश में कोरोना का प्रकोप, 1,590 हुई पॉजिटिव मरीजों की संख्या, 47 लोगों की मौत

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. लगातार पॉजिटिव मरीजों का आंकडा बढता जा रहा है. अब तक 1,590 से ज्यादा पॉजिटिव मरीज मिल चुके है. वहीं 47 लोगों की मौत इसकी चपेट में आने से हो गई है. राजधानी दिल्ली में भी कोरोना वायरस के 23 नए केस सामने आए हैं, जिसके बाद यहां पर मरीजों की संख्या 120 हो गई. अगर बात करें महाराष्ट्र की, तो यहां पर कोरोना वायरस की वजह से सबसे ज्यादा हालात खराब है. महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मरीजों को आंकडा 302 से ज्यादा हो गया है. जिसमें 10 लोगों की मौत हो चुकी है. महाराष्ट्र के अलावा केरल, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली सहित कई राज्यों में कोरोना तेजी से फैल रहा है. 

कोरोना संकट: 20 महिलाओं के साथ थाईलैंड के राजा का जर्मनी पलायन, आइसोलेशन के लिए चुना शाही होटल 

केरल में भी बढे कोरोना के मामले:
केरल में कोरोना वायरस के मंगलवार को सात नये मामले दर्ज किए गए. जिसके बाद यहां संक्रमित लोगों की संख्या 241 हो गई. तमिलनाडु में 55 नए मामले आए हैं. इनमें से 50 वो हैं जिन्होंने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज़ सम्मेलन में भाग लिया था. राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 124 हो गई है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी 23 लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 23 नए मामलों के साथ ही दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या 120 हो गई है.

कोरोना संकट को लेकर मंत्रिपरिषद में अहम निर्णय, मार्च माह के वेतन का हिस्सा स्थगित

कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़ा:
वहीं अगर राजस्थान की बात करें तो यहां भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. राजस्थान में ईरान से आए 10 और भारतीय पॉजिटिव मिले हैं. इससे पहले आज झुंझुनूं, अजमेर, डूंगरपुर और जयपुर में 4 पॉजिटिव केस मिले थे. ऐसे में अब प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 93 पहुंच गया है.  

Coronavirus: मोहम्मद साद के खिलाफ मुकदमा दर्ज, निजामुद्दीन मरकज के मौलाना है साद

Coronavirus: मोहम्मद साद के खिलाफ मुकदमा दर्ज, निजामुद्दीन मरकज के मौलाना है साद

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन है. केन्द्र और राज्य सरकारें सबको घरों में रहने के लिए कह रही है. लोगों से दूरी बनाने की अपील की जा रही है. और एक तरफ लोग इनके आदेशों की अवहेलना कर रहे है. मामला दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात का है, जो सोमवार को अचानक सुर्खियों में आ गई. यहां पर देश और दुनिया से लगभग तीन हजार लोग धार्मिक सभा में हिस्सा लेने आये थे. जिनमें से इस इलाके में 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गए. हालांकि अभी तक सटीक आंकड़ा पता नहीं लग पाया है, लेकिन मरकज में 1500 से 1700 लोग इकट्ठा हुए थे. जानकारी मिलने पर पुलिस ने तुरंत लोगों को जांच के लिए भेजा है. 

निजामुद्दीन मरकज के मौलाना पर केस दर्ज:
निजामुद्दीन मरकज के मौलाना मोहम्मद साद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. इससे पहले मुख्यमंत्री दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कहा था कि दिल्ली सरकार ने निजामुद्दीन के धार्मिक आयोजन के संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखा है.

कोरोना संकट: 20 महिलाओं के साथ थाईलैंड के राजा का जर्मनी पलायन, आइसोलेशन के लिए चुना शाही होटल 

700 लोगों को क्वारनटीन सेंटर भेजा गया:
स्वास्थ्य मंत्री सतेंदर जैन ने मुताबिक अब तक 334 लोगों को अस्पताल भेजा गया है, जबकि 700 लोगों को क्वारनटीन सेंटर भेजा गया है. मरकज सेंटर पर डॉक्टरों की टीम डेरा जमाए हुए हैं और सभी लोगों को बाहर निकाल लिया गया है. इसके अलावा आस-पास के इलाके को भी सैनिटाइज किया जा रहा है. ऐसे में तब्लीगी जमात के जिम्मेदारों के खिलाफ दिल्ली सरकार ने FIR के आदेश भी दे दिए थे. 

क्या है मामला:
यह मामला तब खुला जब दिल्ली में 64 साल के एक शख्स की मौत हुई. यह शख्स कोरोना पॉजिटिव मिला था. इसके बाद 33 लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया जिसमें से कुछ लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इस मामले के सामने आने पूरे सेंटर को खाली करवाया गया है. 

VIDEO- Rajasthan Corona Update: जयपुर का चारदीवारी इलाका रहेगा पूरी तरह सीज

क्या है तब्लीगी जमात?
मुसलमानों के बीच इस्लाम की शिक्षा देने के लिए मौलाना इलियास कांधलवी ने तबलीगी जमात की स्थापना की. उन्होंने निजामुद्दीन में स्थित मस्जिद में कुछ लोगों के साथ तबलीगी जमात का गठन किया. इसे मुसलमानों को अपने धर्म में बनाए रखना और इस्लाम धर्म का प्रचार-प्रसार और इसकी जानकारी देने के लिए शुरू किया.

Open Covid-19