VIDEO: RCA का चुनावी घमासान, टीएस कृष्णमूर्ति ही रहेंगे चुनाव अधिकारी

Naresh Sharma Published Date 2019/09/11 09:46

जयपुर: राजस्थान क्रिकेट संघ चुनाव में बड़ा मोड़ आ गया है. भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएस कृष्णामूर्ति ही राजस्थान क्रिकेट संघ के चुनाव कराएंगे. बीसीसीआई में प्रशासकों की कमेटी COA ने कृष्णामूर्ति के नाम पर मुहर लगा दी है. कृष्णामूर्ति आरसीए के 22 सितंबर के चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर चुके हैं, लेकिन अब इसमें बदलाव हो सकता है.

अब RCA दफ्तर में ही होगी चुनाव प्रक्रिया:
राजस्थान क्रिकेट संघ में दो चुनाव प्रक्रिया होने के अंदेशे का खत्म करते हुए  बीसीसीआई में प्रशासकों की कमेटी COA ने आरसीए के चुनाव के लिए  टीएस कृष्णामूर्ति की चुनाव अधिकारी के रूप में नियुक्ति कर दी है. COA ने इस बारे में टीएस कृष्णामूर्ति को पत्र भी लिख दिया है. खास बात यह है कि राजेंद्र सिंह नांदु ने जब चुनाव की घोषणा की थी, तब उन्होंने कृष्णामूर्ति को ही चुनाव अधिकारी नियुक्त किया था, अब बीसीसीआई ने भी कृष्णामूर्ति को ही चुनाव अधिकारी माना है. कृष्णामूर्ति ने 24 अगस्त को ही चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया था और  22 सितंबर को चुनाव कराने का एलान किया था. उन्होंने वोटर लिस्ट भी जारी कर दी थी और आपत्तियों पर सुनवाई भी कर ली. इस बीच आरसीए अध्यक्ष सीपी जोशी ने भी कृष्णमूर्ति से संपर्क किया. जोशी गुट की तरफ से संयुक्त सचिव महेंद्र नाहर ने भी COA को पत्र लिखा. इस पर COA ने विचार विमर्श करके तय किया कि  कृष्णमूर्ति ही चुनाव अधिकारी के पद पर बने रहेंगे और आरसीए व बीसीसीआई के नियमों के अनुसार चुनाव संपन्न कराएंगे. COA ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि  कृष्णमूर्ति आरसीए में किसी ग्रुप या पदाधिकारी द्वारा नियुक्त नहीं माने जाएंगे. इन चुनाव के लिए COA ने बीसीसीआई का स्वतंत्र पर्यवेक्षक भेजने का भी फैसला किया है.

बीसीसीआई भी स्वतंत्र पर्यवेक्षक भेजेगी जयपुर:
राजस्थान क्रिकेट संघ के चुनाव को लेकर एक बड़ा फैसला तो हो गया है, लेकिन अब पूरी नजरें चुनाव अधिकारी कृष्णमूर्ति पर टिक गई है. अब कृष्णमूर्ति को तय करना है कि वे पूर्व घाेषित तारीख 22 सितंबर को ही चुनाव कराएंगे या फिर चुनाव की नई तारीख घोषित की जाएगी. वैसे 28 सितंबर तक आरसीए के चुनाव होने जरूरी है. दरअसल  कृष्णमूर्ति ने जो चुनाव कार्यक्रम पहले घोषित किया था, उसे सीपी जोशी ने अवैध बताया था और सीपी गुट के जिला संघों ने चुनाव प्रक्रिया में हिस्सा नहीं लिया था. कृष्णमूर्ति द्वारा घोषित पूर्व कार्यक्रम के अनुसार 9 व 10 सितंबर को मतदाता सूची की आपत्तियों पर सुनवाई हो चुकी है और अब 15 सितंबर को अंतिम मतदाता सूची प्रकाशित की जाएगी, लेकिन संभावना इस बात की है कि कृष्णमूर्ति सीपी जोशी गुट के जिला संघों को सुनवाई का मौका देंगे और ऐसे में चुनाव कार्यक्रम में बदलाव किया जाएगा. अब कृष्णमूर्ति द्वारा तय की गई मतदाता सूची के अनुसार ही आरसीए का चुनाव होगा.

आरसीए के नए बॉस के लिए रणनीति:
इस बीच आरसीए के नए बॉस के लिए रणनीति बननी शुरू हो गई है. सीपी जोशी गुट की तरफ से वैभव गहलोत का उम्मीदवार बनना तय हो गया है, ऐसे में अध्यक्ष पद के कुछ दावेदारों ने अलग से जिला संघों से बातचीत शुरू कर दी है. उधर सीपी के खिलाफ वाले गुट का नेतृत्व फिलहाल रामेश्वर डूडी कर रहे हैं, लेकिन डूडी के भाग्य का फैसला भी चुनाव अधिकारी ही करेंगे. 


First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in