... ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/27 07:37

नाथद्वारा (उदयपुर)। राजस्थान में विधानसभा चुनावों की सरगर्मियां जोरों पर है। जहां एक तरफ सभी राजनीतिक पार्टियां मतदाताओं को लुभाने के भरसक प्रयास कर रही है, वहीं दूसरी और कार्यकर्त्ता गले में पार्टी का गमछा, हाथ में पार्टी का झंडा और वहीं कुछ सियासी टोपी पहनकर सियासी मैदान में पार्टी का नारा बुलंद कर रहे हैं। लेकिन हम आपको एक ऐसे कार्यकर्त्ता के बारे में बता रहे हैं जिस पर '... ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर' पंक्तियां बिलकुल सही और सटीक चरित्रार्थ होती है। 

दरअसल राजसमंद के नाथद्वारा से एक तस्वीर, तस्वीर में खड़ा एक शख्स गोपाल यादव समाज को एक सीधा, सटीक और अच्छा सन्देश दे रहा है। सिर पर आम आदमी पार्टी की टोपी, हाथ में बीजेपी का झंडा और गले में कांग्रेस पार्टी का गमछा लिए गोपाल यादव का कहना है कि मतदाता किसी पार्टी के नहीं है। वे सिर्फ विकास के साथ है। 

इससे यह बात तो साफ है कि इस सियासी माहौल में विकास ही सबसे आगे है। 

...नाथद्वारा संवाददाता तरुण दवे की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in